अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में एक के बाद एक 4 बम धमाके

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में एक के बाद एक 4 बम धमाके
अफगानिस्तान में चार बम धमाके

अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में सोमवार को एक के बाद एक चार धमाके हुए हैं. मिली जानकारी के मुताबिक ये धमाके पीडी-4 एरिया के ताहिया मसकन इलाके में हुए हैं. इन धमाकों से हुए जान-माल की अभी कोई सूचना नहीं है.

  • Share this:
काबुल. अफगानिस्तान (Afghanistan)  की राजधानी काबुल (Kabul) में सोमवार को एक के बाद एक चार धमाके (Bomb Blast) हुए हैं. मिली जानकारी के मुताबिक ये धमाके पीडी-4 एरिया के ताहिया मसकन इलाके में हुए हैं. इन धमाकों में फिलहाल चार लोगों के घायल होने की सूचना मिल रही  है. AFP के मुताबिक काबुल पुलिस ने इन धमाकों की जानकारी दी है. शुरूआती शक तालिबानी लड़कों पर जताया जा रहा है.

अफगान अधिकारियों के अनुसार एक बम कूड़ेदान के नीचे और तीन अन्य सड़क किनारे रखे गए थे. काबुल पुलिस के प्रवक्ता फरदौस फरमर्ज ने बताया कि सड़क किनारे 10-20 मीटर की दूरी पर बमों को रखा गया था. उन्होंने कहा कि विस्फोट में 12 साल की बच्ची घायल हुई है और पुलिस घटना स्थल की जांच कर रही है. अभी तक किसी ने बम विस्फोट की जिम्मेदारी नहीं ली है और विस्फोट के निशाने पर कौन था यह पता नहीं चल पाया है. काबुल और उसके आसपास तालिबान और इस्लामिक स्टेट दोनों गुट सक्रिय हैं जो लगातार नागरिकों और फौजियों को अपना निशाना बनाते रहे हैं.

इससे पहले 29 अप्रैल को अफगानिस्तान की राजधानी के बाहरी इलाके में स्थित अफगान विशेष बलों के अड्डे को एक फिदाई हमलावर ने निशाना बनाया था. इसमें तीन आम नागरिकों की मौत हो गई और 15 अन्य जख्मी हुए थे. सरकार ने हमले के लिए तालिबान को जिम्मेदार ठहराया था. एक सैन्य अधिकारी ने बताया था कि विस्फोट सैन्य कमांडो के अड्डे के बाहर हुआ. उस वक्त वहां अनुबंध के आधार पर काम करने वाले असैन्य अंदर आने का इंतजार कर रहे थे.



 



बीती 11 फरवरी, 2020 को भी काबुल के पीडी-5 स्थित मार्शल फहीम मिलिट्री एकेडमी पर फिदायनी हमला हुआ था. यह हमला उस वक्त हुआ था, जब कर्मचारी और कैडेट एकेडमी में जा रहे थे. इस हमले में 5 मिलिट्री जवानों और दो स्थानीय लोगों की मौत हुई थी और कई घायल हो गए थे. इससे पहले पिछले साल सितंबर में भी काबुल में फिदायीन हमला हुआ था. पीडी-9 स्थित मिनिस्टरी ऑफ डिफेंस बिल्डिंग के पास एक सुसाइड अटैक किया गया था, जिसमें 22 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि 38 लोग घायल हुए थे. इस हमले की जिम्मेदारी तालीबान ने ली थी.

 

ये भी पढ़ें:

बापू के प्रिय और कांग्रेस अध्यक्ष रहे अंसारी कैसे रहे आज़ादी के 'अनसंग हीरो'

'वो बदसूरत है, उसका रेप क्यों करता!' कौन हैं विवादों में रहे 'कोरोना विलेन' बोलसोनारो?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज