अफगानिस्तान: आईएस ने जेल तोड़कर 75 कैदियों को छुड़ाया, 21 की हत्या और 43 घायल

अफगानिस्तान: आईएस ने जेल तोड़कर 75 कैदियों को छुड़ाया, 21 की हत्या और 43 घायल
आईएस ने जेल तोड़कर 75 कैदियों को छुड़ाया (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इस्लामिक स्टेट ग्रुप (Islamic State Terrorist) के उग्रवादियों ने सोमवार की सुबह अफगानिस्तानी सुरक्षा बलों (Afghani Security Forces) के साथ जलालाबाद के पूर्वी भाग में संघर्ष को अंजाम दिया. इस घटना में अबतक 21 लोगों की हत्या हो चुकी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 3, 2020, 5:28 PM IST
  • Share this:
जलालाबाद. इस्लामिक स्टेट ग्रुप (Islamic State Terrorist) के उग्रवादियों ने सोमवार की सुबह अफगानिस्तानी सुरक्षा बलों (Afghani Security Forces) के साथ जलालाबाद के पूर्वी भाग में संघर्ष को अंजाम दिया. अधिकारियों ने बताया कि इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों ने जेल तोड़कर (Jail Break) कैदियों को निकाल बाहर करने के लिए पूरी रात सुरक्षा बलों के साथ संघर्ष किया. यह संघर्ष अभी जारी है.

रविवार की शाम से शुरू हो गई थी जेल तोड़ने की घटना

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि इस लड़ाई की शुरूआत रविवार की शाम को हुई जब कारागार के गेट पर कार में बम धमाका हुआ. उन्होंने कहा कि हमने इसके बाद एक के बाद एक कई धमाकों की जोरदार आवाजें सुनीं और आईएस बंदूकधारियों ने सुरक्षा गार्ड पर भी गोलियां चलाई.



पांच नागरिक की हत्या और 43 लोग हुए घायल
नान्गरहर प्रांत के अधिकारियों ने बताया कि रात भर चली गोलीबारी में 21 नागरिकों की जान चली गई और करीब 43 लोग घायल हो गए. इस घटना से मची अफरातफरी में करीब 75 कैदी जेल से भाग निकले. पुलिस उन्हें दोबारा पकड़ कर जेल में डालने के लिए अभियान चला रही है.

ये भी पढ़ें: PAK एयरलाइंस क्रेबिन क्रू का ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट अनिवार्य, कॉकपिट में स्मोकिंग की मिली थी शिकायत

कैलिफोर्निया में 12,000 एकड़ में लगी एप्पल फायर, 8,000 को घरों से बाहर निकाला

भारत में बैन हो चुके टिकटॉक के अमेरिकी ऑपरेशन्स खरीदना चाहती है माइक्रोसॉफ्ट

राम मंदिर निर्माण: अयोध्या में भूमि पूजन के अवसर पर अमेरिका में होगी ऑनलाइन राष्ट्रीय प्रार्थना

इस हमले की जिम्मेदारी आईएस ने ली है. अफगानिस्तान की खुफिया एजेंसी ने बताया कि स्पेशल फोर्सेस ने जलालाबाद के नजदीक आईएस समूह के सीनियर कमांडर को मार गिराया. इस घटना के बाद जेल तोड़कर कैदियों को छुड़ाने की घटना घटी. इस हमले की जिम्मेदारी आईएस ने ले ली.

कार में बम धमाकों के बाद दो धमाके हुए फिर रातभर चलती रही गोलियां

सोहराब कादरी प्रांत के काउंसिल मेंबर ने कहा कि कारागार के बाहर कार में बम का धमाका बहुत जोरदार हुआ. इसके बाद दो थोड़े कम शक्तिशाली बम धमाके हुए. इसके बाद हमलावरों और पुलिस के बीच संघर्ष शुरू हो गया और यह रविवार की शाम को शुरू हुआ और सोमवार की सुबह तक चलता रहा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज