अफगानिस्तान में अमेरिकी दूतावास के पास फिदायीन विस्फोट, 12 की मौत

अफगानिस्तान (Afghanistan) में काबुल (Kabul) के राजनयिक क्षेत्र में तालिबान (Taliban) के एक फिदायीन ने गुरुवार को कार बम से विस्फोट कर दिया.

भाषा
Updated: September 5, 2019, 9:50 PM IST
अफगानिस्तान में अमेरिकी दूतावास के पास फिदायीन विस्फोट, 12 की मौत
अफगानिस्तान में काबुल के राजनयिक क्षेत्र में तालिबान के एक फिदायीन ने गुरुवार को कार बम से विस्फोट कर दिया.
भाषा
Updated: September 5, 2019, 9:50 PM IST
काबुल. अफगानिस्तान (Afghanistan) में काबुल (Kabul) के राजनयिक क्षेत्र में तालिबान (Taliban) के एक फिदायीन ने गुरुवार को कार बम से विस्फोट कर दिया. इस हमले में अमेरिका (America) और रोमानिया (Romania) के एक-एक सैनिक की मौत हो गई और अफगानिस्तान के कम से कम 10 आम लोगों की जान चली गई. इस राजनयिक क्षेत्र में अमेरिकी दूतावास (American Embassy) भी है. इस हफ्ते यह दूसरा हमला है.

अमेरिका और तालिबान के बीच शांति समझौते को अंतिम रूप दिये जाने के दौरान यह विस्फोट हुआ है. अफगान सरकार ने कहा कि यह समझौता जल्दबाजी में हो रहा है. राष्ट्रपति अशरफ गनी (President Ashraf Ghani) ने एक बयान में कहा, ‘‘ बेगुनाह लोगों की हत्या करने वाले समूह से शांति समझौता करना निरर्थक है.’’ नाटो रेजुलेट सपोर्ट मिशन ने बयान में कहा कि विस्फोट में दो सैनिकों की मौत हुई है. उन्होंने सैनिकों की पहचान के बारे में जानकारी नहीं दी है. अफगानिस्तान में बीते दो हफ्तों में जान गंवाने वाला अमेरिका का यह चौथा सैनिक है.

हमले में 42 घायल, 12 गाड़ियां नेस्तनाबूद
गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नसरत रहिमी ने कहा कि हमले में 42 लोग जख्मी हुए हैं और 12 वाहन नष्ट हो गए हैं. इसके कुछ घंटों के बाद, तालिबान ने पड़ोसी प्रांत के अफगान सैन्य अड्डे के बाहर एक कार से विस्फोट किया जिसमें चार आम लोगों की मौत हो गई. तालिबान ने कहा कि उसने ‘विदेशियों’ की गाड़ियों को निशाना बनाया है. उन्होंने भारी सुरक्षा व्यवस्था वाले शश दरक इलाके में घुसने की कोशिश की जहां अफगान राष्ट्रीय सुरक्षा विभाग का दफ्तर है. राष्ट्रपति के प्रवक्ता सिद्दीकी सिद्दीकी ने ट्वीट किया, ‘‘ हम सबने सुरक्षा कैमरों में देखा है कि किसे निशाना बनाया गया है.’’

बहरहाल, नाटो रेजुलेट सपोर्ट मिशन का दफ्तर भी घटनास्थल के पास है और ब्रिटिश सैनिक नाटो के नष्ट हो चुके वाहन को हटा रहे थे. सोशल मीडिया में साझा की जा रही वीडियो में दिख रहा है कि मानव बम की गाड़ी नाके पर मुड़ रही है और इसमें विस्फोट हो जाता है. एक बार फिर से पीड़ितों में आम लोगों की संख्या ज्यादा है. स्थानीय अस्पताल में घायल निज़ामुद्दीन खान ने बताया कि उन्हें यह याद नहीं है कि उन्हें अस्पताल कौन लेकर आया.

तालिबान ने ली जिम्मेदारी
विस्फोट के कुछ घंटों बाद लोगार प्रांत की राजधानी पुल-ए-आलम में अफगान विशेष बलों के सैन्य अड्डे के बाहर कार से किए गए बम विस्फोट की जिम्मेदारी तालिबान ने ली. प्रांतीय परिषद के प्रमुख हसीबुल्ला स्तानकजई ने बताया कि कम संख्या में अंतरराष्ट्रीय बल भी इलाके में है. गवर्नर अनवर खान एस-हकज़ई ने कहा कि चार असैन्य लोगों की मौत हो गई है और चार अन्य जख्मी हुए हैं. तालिबान ने सोमवार देर शाम को एक विदेशी परिसर को निशाना बनाया था जिसमें कम से कम 16 लोगों की मौत हुई थी और 100 से ज्यादा जख्मी हुए थे. इनमें तकरीबन सभी स्थानीय असैन्य लोग थे.
Loading...

अमेरिकी दूत ने नहीं दिया बयान
अमेरिकी दूत ज़लमी खलीलज़ाद इस हफ्ते काबुल में हैं. वह अफगानिस्तान के राष्ट्रपति और अन्य अधिकारियों को अमेरिका-तालिबान के बीच समझौते के बाबत जानकारी देने के लिए आए हुए हैं. यह समझौता करीब 18 साल की जंग को खत्म करेगा. उन्होंने कहा कि समझौते को असलियत बनने के लिए सिर्फ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की मंजूरी मिलने की जरूरत है. खलीलज़ाद ने इस हफ्ते हुए हमलों पर कोई सार्वजनिक टिप्पणी नहीं की है.

अफगान सरकार ने इस समझौते को लेकर गंभीर चिंताएं प्रकट की हैं. गुरुवार को हुए विस्फोट के बाद फिर से चिंता जताई गई है. राष्ट्रपति के सलाहकार वहीद उमर ने पत्रकारों से कहा कि यह समझौता जल्दबाजी में हो रहा है. उन्होंने कहा कि मुश्किल दिन आने वाले हैं. उन्होंने यह भी कहा कि इस सांप ने पहले भी अफगान लोगों को डसा है. उमर ने यह टिप्पणी पुराने समझौते के संदर्भ में की. पहले की ही तरह अब भी अफगान सरकार को अलग रखा गया है.

ये भी पढ़ें-
पाकिस्तान ने फिर दी धमकी, कहा- आखिरी सांस तक कश्मीर के लिए लड़ते रहेंगे

UAE से पाकिस्तान को झटका, कहा- कश्मीर मामले पर मुस्लिमों को न घसीटें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 5, 2019, 9:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...