Home /News /world /

अफगानिस्‍तान को दोस्‍त भारत से मिले एमआई-24 हेलिकॉप्टर पर तालिबान का कब्‍जा

अफगानिस्‍तान को दोस्‍त भारत से मिले एमआई-24 हेलिकॉप्टर पर तालिबान का कब्‍जा

अफगान वायु सेना के हेलिकॉप्‍टर पर तालिबान ने कब्‍जा कर लिया है. ( प्रतीकात्‍मक चित्र )

अफगान वायु सेना के हेलिकॉप्‍टर पर तालिबान ने कब्‍जा कर लिया है. ( प्रतीकात्‍मक चित्र )

अफगानिस्‍तान (Afghanistan) में तालिबान लड़ाकों ने अफगान वायु सेना के एमआई 24 अटैक हेलिकॉप्‍टर पर कब्‍जा कर लिया है. यह हेलिकॉप्‍टर भारत ने अपनी दोस्‍ती की खातिर तोहफे में अफगानिस्‍तान को दिया था. हालांकि हेलिकॉप्‍टर की स्थिति खराब बताई जा रही है और वह उड़ान भरने में नाकाम रहेगा.

अधिक पढ़ें ...

    काबुल. अफगानिस्‍तान (Afghanistan) में तालिबान (taliban) लड़ाकों ने अफगान वायु सेना के एमआई 24 अटैक हेलिकॉप्‍टर पर कब्‍जा कर लिया है. यह हेलिकॉप्‍टर भारत ने अपने दोस्‍त  अफगानिस्‍तान को तोहफे में दिया था. हालांकि हेलिकॉप्‍टर की स्थिति खराब बताई जा रही है और बताया जा रहा है कि वह उड़ान भरने की स्थिति में नहीं है. बताया जा रहा है कि अफगान वायु सेना ने हेलिकॉप्‍टर से जरूरी उपकरण और इंजन के हिस्‍से पहले ही निकाल लिए थे.

    सूत्रों ने बताया कि भारत ने 2015 में अफगानिस्‍तान को चार एमआई 24 अटैक हेलिकॉप्‍टर दिए थे. इसके बाद 2019 में दो हेलिकॉप्‍टर और दिए थे. इसके लिए बाकायदा एक समारोह आयोजित किया गया था जिसमें भारत की ओर से राजदूत विनय कुमार और तत्‍कालीन रक्षा मंत्री असद उल्‍ला खालिद मौजूद रहे थे. ये हेलिकॉप्‍टर पहले भारतीय वायु सेना (Indian air force) उपयोग में लाती थी. लेकिन समय के साथ तकनीक और जरूरत के आधार पर भारतीय वायु सेना ने उन्‍नत हेलिकॉप्‍टर का उपयोग करना शुरू कर दिया था. तब इन हेलिकॉप्‍टर्स को अफगानिस्‍तान को तोहफे में दिया गया था. इनका निर्माण रूस में हुआ था, जबकि इसके एक्‍सपोर्ट वैरिएंट को एमआई 35 कहा जाता था.

    ये भी पढ़ें : अमेरिका ने माना तालिबान को रोकना मुश्किल, 3 महीने में कर सकता है काबुल पर कब्जा

    ये भी पढ़ें :  US की वापसी, खलीलजाद हुए फेल! फिर तालिबान को मिला मौका, जानिए कैसे संभलेगा अफगानिस्तान?

    इस खास हेलिकॉप्‍टर को रूसी वायु सेना ने इसे 1972 में इस्‍तेमाल करना शुरू किया था, जबकि यह अमेरिकी वायु सेना के साथ भी काम कर चुका है. वहीं एक समय इस हेलिकॉप्‍टर की धाक ऐसी थी कि इसे दुनिया के पचास से ज्‍यादा देश उपयोग में लाते थे. यह दमदार हेलिकॉप्‍टर भारतीय वायु सेना के काम भी आया. इसमें एक बार में आठ लोग आसानी से बैठ सकते हैं. ये 21.6 मीटर लंबा और 6.5 मीटर ऊंचा है, यह 2400 किग्रा पेलोड को लेकर आसानी से उड़ान भर सकता था.

    दुनिया भर के कई देशो ने इसका उपयोग युद्ध में भी किया था. इस हेलिकॉप्‍टर में 23 एमएम की डबल बैरल जीएसएच 23वी कैनन लगाई जा सकती थी, जिससे एक मिनट में 3500 राउंड फायर हो सकते थे. इसमें एंटी टैंक मिसाइल, रॉकेट, गन और एक्‍स्‍ट्रा फ्यूल टैंक को लगाने की सुविधा मौजूद थी.

    Tags: Afghanistan, Indian air force, Taliban, Taliban rise in Afghanistan

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर