• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • जापान में शिंजो आबे के इस्तीफे के बाद सुगा प्रधानमंत्री पद के सबसे प्रमुख दावेदार

जापान में शिंजो आबे के इस्तीफे के बाद सुगा प्रधानमंत्री पद के सबसे प्रमुख दावेदार

शिंजो आबे के बाद सुगा प्रधानमंत्री पद के मजबूत दावेदार

शिंजो आबे के बाद सुगा प्रधानमंत्री पद के मजबूत दावेदार

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे (shinzo abe) के शुक्रवार को इस्तीफा (Resignation) दिए जाने के बाद सुगा का प्रधानमंत्री बनना तय माना जा रहा है.

  • Share this:
    टोक्यो. जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे (shinzo abe) के शुक्रवार को इस्तीफा (Resignation) दिए जाने के बाद यह कयास लगाया जाने लगा कि अब देश केा नेतृत्व किसके हाथ होगा. शिंजो आबे देश के सबसे लंबे समय तक प्रधानमंत्री रहे.वे इस ​समय किसी पुरानी बीमारी के बढ़ जाने से स्वास्थ्य को लेकर काफी जूझ रहे हैं. सत्ता पक्ष की पार्टी लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी (Liberal Democratic Party) में उनके उत्तराधिकारी यानी प्रधानमंत्री पद पर कौन बैठेंगे, इसे लेकर पार्टी के अंदर चुनाव कराए जाएंगे.

    आबे के उत्तराधिकारियों ने पद पर बैठने को लेकर अपना इरादा जताना शुरू कर दिया है लेकिन इस पद के लिए सबसे योग्य माने जाने वाले सुगा ने प्रधानमंत्री पद पर बैठने को लेकर अनिच्छा जताई है. हालांकि, सुगा की इस तरह की टिप्पणी हाल के दिनों में उग्र मीडिया के बार-बार प्रतिक्रिया मांगे जाने और आम जनता की निगाह में खड़ा किए जाने के फलस्वरूप आई है.

    सुगा को प्रधानमंत्री बनाना चाहती है पार्टी

    सोफिया यूनवर्सिटी में राजनीति शास्त्र के प्रोफेसर कोइची नाकानो ने कहा कि ये लोग सुगा को आबे की जगह प्रधानमंत्री पद पर बैठाना चाहते हैं और यदि ऐसा होता है तो यह आबे के ​बगैर आबे की सरकार होगी. रॉयटर्स को दिए एक साक्षात्कार में इस सप्ताह सुगा ने आर्थिक विकास में गति लाए जाने और कोरोनो वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए प्रतिबंध लगाने और पर्यटन को प्रोत्साहित करने पर जोर दिया जाए.

    'अर्थव्यवस्था को बचाने के लिए हमें उपायों पर गौर करना होगा'

    सुगा ने संसद कार्यालय में कहा कि हमें अर्थव्यवस्था को ऊंचाई से गिरने से बचाने के लिए हम क्या उपाय कर सकते हैं, उनपर गौर करना चाहिए. संसद कार्यालय में सुगा की अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के साथ बहुत बड़े फोटो में साथ खड़ा दिखाया गया है.

    सुगा प्रधानमंत्री नहीं बनने की बात लगातार करते रहे हैं

    एक साक्षात्कार में सुगा ने दोबारा से प्रधानमंत्री पद नहीं स्वीकार करने की दोहराई है. यह सुगा की चाल थी ताकि उन्हें पब्लिसिटी मिल सके. सुगा ने आबे के इस्तीफा देने से पहले यह सबकुछ सुगा ने पब्लिसिटी के बतौर किया. सुगा ने इस तरह के चार मीडिया संस्थानों को दिया. सुगा ने अपनी राह खुद के भरोसे तय ​की है. सुगा को आबे ने वर्ष 2012 में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका सौंपते हुए उन्हें चीफ कैबिनेट सेक्रेटरी बनाया था. वे सरकार के सबसे बड़े प्रवक्ता के बतौर व्यवहार करते रहे हैं. वे सरकारी नीतियां बनाने में सहयोग करते रहे हैं. वे ब्यूरोक्रेट्स समूह का नेतृत्व करते रहे.

    15 सितंबर को होगी एलडीपी के भीतर चुनाव 

    देश का अगला प्रधानमंत्री कौन बनेगा, इसके लिए 15 सितंबर को वोटिंग होनी है. एलडीपी किसको विजयी बनाती है, यह उसी दिन तय हो जाएगा. यह मौखिक तौर पर अभी से ही मान लिया गया है कि अगला प्रधानमंत्री एलडीपी का ही होगा. विजेता उम्मीदवार आबे के एलडीपी ​के प्रमुख के तौर पर बची हुई अवधि तक प्रमुख बना रहेगा. इस पद का कार्य काल सितंबर 2021 में समाप्त होगा.

    ये भी पढ़ें: कमला हैरिस राष्ट्रपति बनने के लायक नहीं, इवांका उनसे बेहतर: डोनाल्ड ट्रंप

    मुबई आतंकी हमला: टेरर फंडिंग के जुर्म में तीन नेताओं को पाक कोर्ट ने सजा सुनाई 

    63 वर्षीय पूर्व रक्षा मंत्री शिगेरू ईसीबा का लक्ष्य जापान की रीजनल इकोनॉमी को दुरुस्त करने का लक्ष्य है. मीठा बोलने वाले ईसीबा भी प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार माने जा रहे हैं. इन्हें आबे का लंबे समय से आलोचक के बतौर देखा जाता रहा है. ईसीबा संसद सदस्यों की तुलना में जनता के बीच काफी लोकप्रिय हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज