डॉ. फौसी ने की वुहान लैब की जांच की मांग, कहा- कोरोना वायरस के स्वाभाविक रूप से विकसित होने पर यकीन नहीं

डॉ एंथनी ने लैब लीक थ्‍योरी को मानने से किया इनकार.

डॉ एंथनी ने लैब लीक थ्‍योरी को मानने से किया इनकार.

COVID-19: अमेरिका (America) के शीर्ष संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ. एंथनी फौसी (Anthony Fauci) ने कहा कि वह इस बात से किसी भी तरह से आश्वस्त नहीं हैं कि कोरोना वायरस स्वाभाविक रूप से विकसित हुआ है. उन्‍होंने इस रहस्‍य से पर्दा उठाने के लिए खुली जांच की सिफारिश की है.

  • Share this:

वॉशिंगटन. पिछले एक साल से ज्‍यादा समय से कोरोनावायरस (Coronavirus) ने पूरी दुनिया में कोहराम मचा रखा है. चीन (China) से निकले कोरोनावायरस को लेकर अभी भी अलग अलग थ्‍योरी दी जा रही है. इस बीच अमेरिका (America) के शीर्ष संक्रामक रोग विशेषज्ञ डॉ एंथनी फौसी (Anthony Fauci) ने कहा कि वह इस बात से किसी भी तरह से आश्वस्त नहीं हैं कि COVID-19 स्वाभाविक रूप से विकसित हुआ है. उन्‍होंने इस रहस्‍य से पर्दा उठाने के लिए खुली जांच की सिफारिश की है.

एक साक्षात्कार के दौरान डॉ एंथनी फौसी से पूछा गया कि क्या उन्हें अब भी विश्वास है कि कोरोना वायरस स्वाभाविक रूप से विकसित हुआ है, तो उन्होंने कहा, 'नहीं. मैं इस बात से पूरी तरह से संतुष्‍ट नहीं हूं और हमें इस जांच को जारी रखने की जरूरत है कि आखिर चीन में क्‍या हुआ था.' उन्‍होंने कहा कि हमें तब तक इस मामले से अपने कदम पीछे नहीं हटाने चाहिए जब तक ये पता न लग जाए कि कोरोना कहां से आया है.

Youtube Video

इसे भी पढ़ें :- Travel Restrictions: कोरोना की वजह से UAE ने भारत से उड़ानों पर 14 जून तक लगाई रोक
फॉक्स न्यूज की एक रिपोर्ट में फौसी के हवाले से कहा गया है, 'निश्चित रूप से जिन लोगों ने इसकी जांच की उनका कहना है कि यह संभवत: किसी जानवर से निकला था, जिसने बाद में इंसान को संक्रमित किया. लेकिन यह कुछ और भी हो सकता है. इस बारे में हमें और भी पता लगाने की जरूरत है. यही कारण है कि मैं इस विषय पर अभी और जांच चाहता हूं, जिससे पता चल सके कि कोरोनावायरस कहां से आया है.

इसे भी पढ़ें :- चीन की वुहान लैब से ही फैला कोरोना? महामारी से ठीक पहले अचानक बीमार पड़े थे 3 स्टाफ- रिपोर्ट

चीन में जो कुछ हुआ उसकी जांच करने की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि चीन ने जो किया है उसका उनके पास कोई हिसाब नहीं है, लेकिन वह आगे की जांच के पक्ष में हैं. बता दें कि विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने पिछले हफ्ते अपनी रिपोर्ट में कहा था कि कोरोनावायरस लैब से नहीं निकला है और इस थ्‍योरी को मानने से इनकार करते हैं. वहीं स्टैनफोर्ड में माइक्रोबायोलॉजी के प्रोफेसर डेविड रेलमैन सहित वैज्ञानिकों ने साइंस जर्नल में कहा कि वायरस के किसी लैब और जेनेटिक स्पिलओवर दोनों से अचानक बाहर निकलने की थ्योरी को खारिज नहीं किया जा सकता.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज