यूरोप की सेफ्टी एजेंसी ने 32 देशों से पाकिस्तानी पायलटों पर बैन लगाने को कहा, 34 सस्पेंड हुए

यूरोप की सेफ्टी एजेंसी ने 32 देशों से पाकिस्तानी पायलटों पर बैन लगाने को कहा, 34 सस्पेंड हुए
पाकिस्तान के 34 पायलट सस्पेंड

सेफ्टी एजेंसी EASA ने अपने 32 मेंबर देशों से कहा है कि वो फौरन पाकिस्तान (Pakistan) के पायलटों को पूरी तरह प्रतिबंधित कर दे. एजेंसी ने इस देशों को लेटर लिखकर कहा है कि पाकिस्तान में पायलटों से जुड़ा एक फ्रॉड (Pakistan Pilot Fraud) सामने आया है और जांच पूरी होने तक पैसेंजर्स की जान को खतरे में नहीं डाला जा सकता.

  • Share this:
इस्लामाबाद. यूरोपीय यूनियन सेफ्टी एजेंसी (EASA) ने अपने 32 मेंबर देशों से कहा है कि वो फौरन पाकिस्तान (Pakistan) के पायलटों को पूरी तरह प्रतिबंधित कर दे. एजेंसी ने इस देशों को लेटर लिखकर कहा है कि पाकिस्तान में पायलटों से जुड़ा एक फ्रॉड (Pakistan Pilot Fraud) सामने आया है और जांच पूरी होने तक पैसेंजर्स की जान को खतरे में नहीं डाला जा सकता. दूसरी तरफ, पाकिस्तान की एविएशन मिनिस्ट्री ने पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस के 34 पायलट्स को सस्पेंड कर दिया है, इनमें दो महिला पायलट भी शामिल हैं.

सेफ्टी एजेंसी ईएएसए ने मेंबर देशों को लिखे लेटर में कहा, 'आपको इस बात की जानकारी मिल चुकी है कि पाकिस्तानी पायलटों के एक बड़े तबके के पास फर्जी लाइसेंस (करीब 40%) हैं. यह लाइसेंस पाकिस्तान की सिविल एविएशन अथॉरिटी ने ही जारी किए थे. हमारे लिए यह फिक्र की वजह है. लिहाजा, उन पायलटों पर फौरन रोक लगाएं जिनके पास पाकिस्तान से जारी लाइसेंस हैं. अगर आपके यहां पाकिस्तानी पायलट हैं तो इसकी जानकारी हमें दें. हम किसी तरह का रिस्क नहीं ले सकते. लिहाजा, इन पायलटों के एयरक्राफ्ट ऑपरेशन पर फौरन रोक लगाई जाए.' बता दें कि कुवैत, ईरान, जॉर्डन, यूएई जैसे देश पहले ही पीआईए और पाकिस्तानी पायलटों को बैन कर चुके हैं. इसके बाद वियतनाम और ब्रिटेन ने भी यही फैसला किया. अब इस लिस्ट में मलेशिया भी शामिल हो गया है.

ये भी पढें:-



क्या है चीन की 'सलामी स्लाइसिंग' रणनीति, जिससे सभी कर रहे हैं होशियार
क्या है सदगुरु का 'भैरव', जो कोरोना के खिलाफ जंग में 5 करोड़ में बिका

34 पायलट्स की नौकरी गई
पाकिस्तान ने 34 पायलटों के लाइसेंस की जांच पूरी करने के बाद इन्हें बर्खास्त कर दिया है. पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, प्राधिकरण ने यह कदम फर्जी डिग्री रखने के संदेह में उठाया है. पिछले हफ्ते पीआईए ने फर्जी डिग्री समेत विभिन्न आरोपों पर 52 कर्मचारियों की सेवा को समाप्त कर दिया था. कौमी (राष्ट्रीय) असेम्बली में इस बात का खुलासा हुआ था कि कुछ पायलटों के पास 'संदिग्ध और फर्जी लाइसेंस' हैं, जिसके बाद पीआईए ने 140 से ज्यादा पायलटों के विमान उड़ानें पर रोक लगा दी थी. जियो न्यूज़ ने खबर दी है नागर विमानन प्राधिकरण की एक अधिसूचना के मुताबिक, 34 और पायलटों के लाइसेंस निलंबित कर दिए गए हैं और यह उनके खिलाफ चल रही जांच के पूरा होने तक निलंबित रहेंगे.

 

दिवालिया होने की कगार पर PIA
22 मई को कराची में पीआईए का प्लेन क्रैश हुआ था जिसके बाद 25 जून को इसकी जांच रिपोर्ट में पाया गया कि इसमें पायलट की गलती थी. एविएशन मिनिस्टर ने कहा- हादसा पायलट्स की गलती से हुआ क्योंकि वो कोरोना पर चर्चा में मशगूल थे. पीआईए में 860 पायलट हैं और 262 के लाइसेंस फर्जी होने का शक है. डॉन अखबार ने खबर दी है कि इस्लामाबाद से पीआईए के विमान में यात्रियों के साथ कनाडा के टोरंटो गया उड़ान कर्मी यासिर अपने होटल से लापता है. खबर के अनुसार जब एयरलाइन के वरिष्ठ कर्मियों ने सोमवार को उससे संपर्क किया तो उसने कथित रूप से जवाब दिया कि वह दूसरे शहर जा रहा है तब से उसका फोन बंद आ रहा है. खबर में कहा गया है कि पीआईए प्रबंधन ने मामले की जांच शुरू कर दी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज