मालदीव की संसद में आतंकवाद पर बोले PM मोदी- अब पानी सिर से ऊपर निकल रहा

इस दौरान प्रधानमंत्री मालदीव की संसद पहुंचे. यहां अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'मालदीव दुनिया का नायाब नगीना है.

News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 6:14 AM IST
मालदीव की संसद में आतंकवाद पर बोले PM मोदी- अब पानी सिर से ऊपर निकल रहा
इस दौरान प्रधानमंत्री मालदीव की संसद पहुंचे. यहां अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, मालदीव दुनिया का नायाब नगीना है.
News18Hindi
Updated: June 9, 2019, 6:14 AM IST
नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री निर्वाचित होने के बाद अपनी पहली विदेश यात्रा पर शनिवार को मालदीव पहुंचे. मोदी का माले हवाईअड्डे पर मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने स्वागत किया. इसके बात दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय वार्ता हुई और कई समझौतों पर हस्‍ताक्षर किए गए. इन समझौतों में समुद्री रक्षा, क्रिकेट को बढ़ावा, रूपे कार्ड के चलन और जन सहयोग को बढ़ावा प्रमुख रहे.

इसके बाद प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी मालदीव की संसद पहुंचे. यहां अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'मालदीव दुनिया का नायाब नगीना है. मैं अपने और भारत की ओर से इस सदन को धन्‍यवाद देता हूं. मैं दूसरी बार यहां आया और दूसरी बार सदन की कार्रवाई का साक्षी बना. मोदी ने अपने संबोधन में आतंवाद को बढ़ावा दे रहे देशों पर भी निशाना साधा.

PM MODI HIGHLIGHTS :

- पीएम मोदी ने कहा कि हमारा दर्शन और हमारी नीति है 'सारी दुनिया एक परिवार.' भारत ने अपनी उपलब्धियों को हमेशा विश्‍व और पड़ोसियों के साथ साझा किया. यह समय चुनौतियों से भरा है. लेकिन चुनौतियां अवसर भी लाती हैं. आज भारत और मालदीव के बीच अवसर है. अपने क्षेत्र में मिलकर काम करने के लिए एक अवसर है. आतंकवाद को हराने का एक अवसर है. समुद्र की चुनौतियों पर अवसर है. पर्यावरण के लिए एक बदलाव लाने का अवसर है. हम इस अवसर का पूरा लाभ उठाएंगे. इसके लिए हम वचनबद्ध हैं.

- पीएम मोदी बोले- भारत अपनी शक्ति और क्षमताओं का उपयोग केवल अपनी समृद्धि और सुरक्षा के लिए ही नहीं करेगा. बल्कि इस क्षेत्र के अन्य देशों की क्षमता के विकास में, आपदाओं में उनकी सहायता के लिए, तथा सभी देशों की साझा सुरक्षा, संपन्नता और उज्ज्वल भविष्य के लिए करेगा.

- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हम सामुद्रिक पड़ोसी हैं. हम मित्र हैं. दोस्तों में कोई छोटा और बड़ा, कमज़ोर और ताकतवर नहीं होता. शांत और समृद्ध पड़ोसी की नींव भरोसे, सद्भावना और सहयोग पर टिकी होती है.


Loading...

- अब भारत के सहयोग से माले की सड़कें ढाई हज़ार एलईडी स्‍ट्रीट लाइट के दूधिया प्रकाश में नहा रही हैं और 2 लाख एलईडी बल्ब मालदीव वासियों के घरों और दुकानों को जगमगाने के लिए आ चुके हैं: पीएम मोदी

- पीएम मोदी ने कहा कि मालदीव अंतरराष्‍ट्रीय सौर्य ऊर्जा में शामिल हुआ है. बदलता पर्यावरण विश्‍व के लिए खतरा है. मालदीव सौर्य ऊर्जा की ओर आगे बढ़ रहा है.

- आतंकवादियों के न तो अपने बैंक होते हैं और ना ही हथियारों की फैक्‍ट्री, फिर भी उन्हें धन और हथियारों की कभी कमी नहीं होती. आतंकवाद की स्‍टेट स्पांसरशिप सबसे बड़ा खतरा बना हुआ है.

- आतंकादी कहां से सुविधा पाते हैं. उन्‍हें कौन फाइनेंस करता है? यह दुर्भाग्‍य है कि लोग अभी भी गुड टेररिस्‍ट और बैड टेररिस्‍ट में फर्क कर रहे हैं.

- पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद हमारे समय की एक बड़ी चुनौती है. ये खतरा एक देश या एक क्षेत्र के लिए नहीं, बल्कि पूरी मानवता की है. हर दिन कोई न कोई घटना जरूर होती है. हर दिन कोई न कोई निर्दोश मारा जाता है.

- भारत और मालदीव में भाषा की भी समानता है. मालदीव में लोकतंत्र और समृद्धि के लिए भारत विश्‍वसनीय सहयोगी बना रहेगा और देश का हाथ मजबूत करेगा. देश का संबंध केवल सरकारों के बीच नहीं होता. लोगों के बीच के संबंध इसके प्राण होते हैं.

- भारत और मालदीव एक गुलशन के फूल हैं. सागर की गहराई जैसे हमारे रिश्‍ते हैं. भारत हर घड़ी, हर कदम पर आपके साथ चला है.

- सागर की गहराई जैसे भारत और मालदीव के रिश्‍ते हैं. मालदीव से गुजरात का पुराना रिश्‍ता है. ढाई हजार साल पुराना रिश्‍ता है.

- पीएम मोदी ने कहा कि मालदीव दुनिया के सामने सौंदर्य का नायाब नमूना है. यह हिंदमहासागर की कुंजी है. भारत मालदीव के लोकतंत्र के साथ है. पड़ोसियों का विश्‍वास जीतना हमारा लक्ष्‍य है.

पीएम मोदी का संयुक्‍त संबोधन

मालदीव राष्ट्रपति के साथ सयुंक्त प्रेस कांफ्रेंस में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मालदीव को हर संभव साथ देने का विश्‍वास जताया.

मालदीव और भारत के बीच हाइड्रोग्राफी, स्‍वास्‍थ्‍य के क्षेत्र में, समुद्र सुरक्षा और सीमा शुल्‍क संबंधी कई समझौतों पर हस्‍ताक्षर हुए. संयुक्‍त संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'भारत और मालदीव के बीच विकास साझेदारी को और मजबूत करने के लिए हमने मालदीव के आम नागरिकों को लाभ पहुंचाने वाली परियोजनाओं पर ध्यान केंद्रित किया है.'



प्रधानमंत्री ने कहा कि मालदीव में रुपए ( RuPay) कार्ड जारी करने से भारतीय पर्यटकों की संख्या में वृद्धि होगी. इस दिशा में हम जल्‍द ही कदम उठाएंगे. रक्षा सेवाओं पर उन्‍होंने कहा कि हम एकजुट जोकर समुद्र की सुरक्षा करेंगे. हम जल्‍द ही इस दिशा में ठोस कदम उठाएंगे. भारत किसी भी प्राकृतिक आपदा या अन्य कोई भी समस्या हो, उसमें हमेशा मालदीव के साथ खड़ा रहा है.

पीएम मोदी ने कहा कि भारत हर कदम पर मालदीव के साथ खड़ा है. सुशासन के प्रति हमारी जिम्मेदारी अहम है. दोनों ही देश स्थिरता चाहते हैं. हमारी साझेदारी की भावी दिशा पर पूर्ण सहमति है. उन्‍होंने कहा कि मालदीव में विकास के रास्ते खुले हुए हैं. यहां विकास के कई प्रोजेक्ट्स जारी हैं. दोनों देशों के बीच संपर्क बढ़ाने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं.

पीएम मोदी पिछले साल भी आए भी मालदीव

इसके साथ ही भारतीय नौसेना और मालदीव सेना के बीच समुद्र सुरक्षा के लिए व्‍हाइट शिपिंग इंफार्मेशन शेयर करने की तकनीकी पर समझौता हुआ है. बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पिछली बार यहां नवंबर 2018 में राष्ट्रपति (इब्राहिम मोहम्मद) सोलेह के शपथ ग्रहण समारोह में आए थे.

हालांकि, मोदी राष्ट्रपति इब्राहिम सोलेह के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने के लिए नवंबर में मालदीव आए थे लेकिन यह यात्रा आठ वर्षों में द्विपक्षीय स्तर पर किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली यात्रा है. इस दो दिवसीय यात्रा का मकसद हिंद महासागर द्वीपसमूह के साथ संबंधों को और मजबूती प्रदान करना है.



प्रधानमंत्री के रिपब्लिक स्क्वेयर पर आगमन पर राष्ट्रपति सोलेह और मोदी ने एक-दूसरे का अभिवादन किया. वहां पहुंचने पर मोदी का आधिकारिक स्वागत किया गया. प्रधानमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर भी दिया गया. विदेश मंत्री शाहिद ने ट्वीट किया कि मोदी की पहली विदेश यात्रा पर वेलाना अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर उनका स्वागत करना बड़े सम्मान की बात रही.

उन्होंने कहा, 'इसमें कोई शक नहीं कि यह यादगार यात्रा होगी जिससे मालदीव-भारत संबंध नयी ऊंचाई हासिल करेंगे.' प्रधानमंत्री मोदी को मालदीव द्वारा अपने सर्वोच्च सम्मान 'रूल ऑफ निशान इज्जुद्दीन' से सम्मानित किया गया.

ये भी पढ़ें: मालदीव के सर्वोच्‍च सम्‍मान से नवाजे गए PM मोदी, बदले में गिफ्ट किया क्रिकेट बैट

ये भी पढ़ें: दूसरी बार पीएम बनने के बाद अपनी पहली विदेश यात्रा पर मालदीव पहुंचे नरेंद्र मोदी

 

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
First published: June 9, 2019, 5:40 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...