पुलिस के बाद अब पाकिस्तानी फ़ौज भी कोरोना संक्रमण की चपेट में, एक की मौत

पुलिस के बाद अब पाकिस्तानी फ़ौज भी कोरोना संक्रमण की चपेट में, एक की मौत
पाक सेना में मेजर मुहम्मद असगर की कोरोना से हुई मौत. फोटो साभार/ट्विटर

पाकिस्तान में कोरोनो वायरस के 30,000 से अधिक मामले सामने आए हैं. हालांकि पाकिस्तानी सशस्त्र बलों में कितने लोग इस महामारी से प्रभावित हुए हैं, इस बारे में अभी तक पाकिस्तान सेना के जनसंपर्क विभाग द्वारा कोई जानकारी नहीं दी गई है.

  • Share this:
इस्‍लामाबाद. पाकिस्तान (Pakistan) में कोरोना वायरस (Corona virus) की वजह से देश की फौज मेें एक अधिकारी की पहली मौत का मामला सामने आया है. तोरखम बॉर्डर (Torkham Border) पर तैनात पाक फौज में सेना के मेजर मुहम्मद असगर (MO. Asghar) की मृत्यु हो गई है. इससे पहले देश में पुलिस कर्मियों में भी कोरोना का संक्रमण तेजी से फैलने की खबर सामने आई थी.

'उर्दू वोआ डॉट कॉम' की खबर के हवाले से बताया गया है कि पाकिस्तान में कोरोनो वायरस के 30,000 से अधिक मामले सामने आए हैं. हालांकि पाकिस्तानी सशस्त्र बलों में कितने लोग इस महामारी से प्रभावित हुए हैं, इस बारे में अभी तक पाकिस्तान सेना के जनसंपर्क विभाग द्वारा कोई जानकारी नहीं दी गई है. रविवार रात डायरेक्‍टर जनरल आईएसपीआर ISPR मेजर जनरल बाबर इफ्तिखार ने सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर एक संदेश में कहा कि ऐसे समय में जब हर कोई कोरोना वायरस के कारण अपने घरों में फंसा हुआ है, पाकिस्तानी सैन्य अधिकारी फ्रंट लाइन पर निकले हुए हैं.

बॉर्डर टर्मिनल पर स्क्रीनिंग की जिम्मेदारी दी गई थी
उन्होंने कहा कि मारे गए मेजर मुहम्मद असगर तोरखम बॉर्डर टर्मिनल पर अपने कर्तव्यों का पालन कर रहे थे. जब अफगानिस्तान में फंसे लोगों की वापसी शुरू हुई, तो उन्हें बॉर्डर टर्मिनल पर स्क्रीनिंग की जिम्मेदारी दी गई. प्रवक्ता के अनुसार मेजर मुहम्मद असगर को अचानक सीने में दर्द और सांस लेने में कठिनाई होने लगी, जिसके कारण उन्हें सीएमएच पेशावर में स्थानांतरित कर दिया गया, लेकिन वह ठीक नहीं हो सके. मेजर जनरल बाबर इफ्तिखार ने कहा कि सेना प्रमुख ने उन्हें लोगों तक पहुंचने और उनकी समस्याओं को कम करने का निर्देश दिया था और मेजर मुहम्मद असगर ने कोरोना वायरस से अपने हमवतन की रक्षा करते हुए अपनी जान दे दी.



'राष्ट्र अपने नायक को सलाम करता है'


उन्होंने कहा कि मेजर असगर ने अपने कर्तव्य को पूरा करने में कई लोगों को इस महामारी से बचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. उन्होंने अपना जीवन दिया लेकिन अंतिम क्षण तक अपने पवित्र कर्तव्य को पूरा करना जारी रखा. राष्ट्र अपने नायक को सलाम करता है. पाकिस्तान में कोरोना रोगियों की संख्या लगातार बढ़ रही है और साथ ही प्रधानमंत्री इमरान खान ने लॉकडाउन में छूट की घोषणा की है, जिस पर प्रांतों में मतभेद हैं. हालांकि प्रांतीय सरकारों ने सोमवार से शहरों में अधिकांश व्यवसाय खोलने के साथ अब लॉकडाउन में ढील देने का निर्णय लिया है.

पाकिस्तान में लॉकडाउन के मद्देनजर प्रांतों द्वारा सेना को बुलाया गया था और लॉकडाउन को बनाए रखने के लिए देश भर में हजारों सैनिक ड्यूटी पर थे. पाकिस्तान में कोरोना का प्रसार तेज हो रहा है. रविवार शाम तक देश में वायरस-पॉजिटिव मामलों की संख्या 30,000 से अधिक हो गई थी और मरने वालों की संख्या 659 तक पहुंच गई थी.

ये भी पढ़ें - फ़ेसबुक ने PAK पीएम इमरान खान से वापस लिया ब्लू टिक, जानिए क्या है मामला

                  कोरोना: इस देश में एक आदमी ने 533 लोगों को कर दिया संक्रमित, ये है पूरी कहानी

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading