अपना शहर चुनें

States

डेनियल पर्ल की हत्या के आरोपी की रिहाई पर पत्नी का छलका दर्द, बोलीं- अन्याय के बाद भी पाकिस्तान से नफरत नहीं

मैरिएन पर्ल अनुसार डेनियल को एक कट्टरपंथी मुस्लिम धर्मगुरू की तलाश थी.
(फोटो: Reuters)
मैरिएन पर्ल अनुसार डेनियल को एक कट्टरपंथी मुस्लिम धर्मगुरू की तलाश थी. (फोटो: Reuters)

अमेरिकी पत्रकार डेनियल पर्ल की हत्या (Daniel Pearl Murder) के आरोप में गिरफ्तार उमर सईद शेख (Omar Saeed Sheikh) को पाकिस्तान कोर्ट ने रिहा कर दिया है. शेख की रिहाई के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर यह मामला एक बार फिर गरमा गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 4, 2021, 10:55 AM IST
  • Share this:
इस्लामाबाद. पत्रकार डेनियल पर्ल की हत्या (Daniel Pearl Murder) के आरोप में गिरफ्तार उमर सईद शेख (Omar Saeed Sheikh) को पाकिस्तान कोर्ट ने रिहा कर दिया है. शेख की रिहाई के बाद अंतरराष्ट्रीय स्तर पर यह मामला एक बार फिर गरमा गया है. इसी बीच पत्रकार की पत्नी मैरिएन पर्ल का कहना है कि मैंने यह सीख लिया है कि तथाकथित न्याय व्यवस्था का न्याय से कोई लेना देना नहीं होता है. डेनियल की 1 फरवरी साल 2002 में हत्या कर दी गई थी.

आखिरी इंटरव्यू के लिए गए फिल लौटकर नहीं आए
डेनियल और मैरिएन की मुलाकात पत्रकारिता के जरिये ही हुई थी. दोनों पाकिस्तान (Pakistan) में काम कर रहे थे. उनकी पत्नी के अनुसार डेनियल को एक कट्टरपंथी मुस्लिम धर्मगुरू की तलाश थी. मैरिएन बताती हैं कि वे छुट्टी मनाने के लिए दुबई जाने वाले थे. इससे पहले डेनियल एक आखिरी इंटरव्यू का काम खत्म करने वाले थे. उन्होंने कहा, 'वे काम के लिए गए और मुझे पता लगा कि डेनी का अपहरण हो गया है. जल्द ही पता लगा कि अहमद उमर सईद शेख नाम के आदमी का नाम सामने आया, जिसने उसे हत्या के मकसद से किडनैप किया.' मैरिएन कहती हैं कि उन्होंने डैनी के फिर कभी नहीं देखा.

यह भी पढ़ें: अमेरिका के विरोध के बावजूद भी रिहा हुआ पत्रकार डेनियल पर्ल का हत्यारा, पाकिस्तान में सुरक्षित घर भेजा गया
पाकिस्तान से नहीं है नफरत


इस पूरे घटनाक्रम के दौरान मैरिएन एक अधिकारी का जिक्र करती हैं, जिसने उनकी काफी मदद की. वे उसे अपने बेटे एडम का गॉडफादर बताती हैं. डेनियल अपने बेटे का नाम एडम रखना चाहते थे. उन्होंने कहा कि एंटी टैरेरिज्म यूनिट के प्रमुख को यह कभी नहीं बताना पड़ा कि डैनी निर्दोष था. उन्होंने कहा था कि वे डैनी को वापस ले आएंगे.

मैरिएन ने कहा कि 5 हफ्तों बाद हमें पता लगा कि डैनी मर चुका है. उन्होंने कहा 'मैं रो नहीं सकती थी. मैं इस बात पर भरोसा नहीं कर रही थी.' उन्होंने कहा कि मैं डैनी की हत्या और अन्याय के बाद भी पाकिस्तान और इसके लोगों से नफरत नहीं करती हूं. मैरिएन ने कहा कि मैं यह मान चुकी हूं कि न्याय कभी ऊपर से नहीं आएगा. मैं जहां भी जाती हूं कैप्टन और उनके परिवार को खोजती हूं.

पाकिस्तान की अदालत ने हत्या के आरोपी शेख को बरी कर दिया है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अदालत ने यह फैसला सबूतों के अभाव में दिया है. इस फैसले के बाद से ही अमेरिका में काफी गुस्सा है. शेख जेल में 18 साल की सजा काट चुका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज