एंजेला मर्केल 2021 के बाद छोड़ देंगी जर्मन चांसलर का पद

एंजेला मर्केल 2021 के बाद छोड़ देंगी जर्मन चांसलर का पद
फाइल पोटो

जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल ने अपनी पार्टी क्रिश्चियन डेमोक्रेट्स से कहा है कि वह 2021 में अपने कार्यकाल के समाप्त होने पर चांसलर का पद छोड़ देंगी.

  • Share this:
जर्मनी में जारी राजनीतिक संकटों और क्षेत्रीय चुनाव में हार से गठबंधन के ढुलमुल स्थिति में आने के बाद एंजेला मर्केल ने सोमवार को कहा कि वह 2021 में अपना कार्यकाल पूरा होने के बाद जर्मन चासंलर के पद से हट जाएंगी.

मर्केल ने इससे पहले अपनी मध्य दक्षिणपंथी पार्टी क्रिश्चियन डेमोक्रेट्स से कहा था कि नए नेतृत्व के लिए रास्ता बनाने के लिए वह इस साल दिसंबर में पार्टी अध्यक्ष पद के लिए दोबारा मैदान में नहीं उतरेंगी. उन्होंने अपने पार्टी मुख्यालय में कहा, ‘आज नया अध्याय शुरू करने का वक्त है.’

देश में बढ़ते राजनीतिक और क्षेत्रीय संकट की पूरी जिम्मेदारी देते हुए उन्होंने ने अपनी पार्टी से कहा कि वह सभी सफलताओं और विफलताओं की राजनीतिक जिम्मेदारी लेती हैं.



ये भी पढ़ें: जब राफेल बनाने वाली कंपनी के मालिक को हिटलर ने बना लिया था बंदी
दरअसल हाल ही में हेसे में चुनाव का रिजल्ट आया है, जिसमें मर्केल की पार्टी का प्रदर्शन काफी खराब रहा. क्रिश्चियन डेमोक्रेट्स पार्टी का यहां 1957 से ही वर्चस्व रहा है और 1966 के बाद से राज्य में पार्टी  सबसे खराब स्थित में है. इस चुनाव में पार्टी को महज 11 प्रतिशत मत ही मिले हैं.

ये भी पढ़ें: G7 में मर्केल और ट्रंप की ये तस्वीर बयां कर रही हज़ार कहानियां

कौन हैं एंजेला मर्केल?
64 वर्षीय मर्केल पिछले 13 साल से जर्मनी की चांसलर हैं. वो सबसे पहली बार 2005 में इस पद पर काबिज हुईं. 14 मार्च, 2014 को वो चौथी बार जर्मनी की चांसलर बनीं.

मर्केल ने 1989 में क्रांति के प्रभाव स्वरूप, पूर्वी जर्मन सरकार की उप-प्रवक्ता के रूप में संक्षिप्त सेवा कर, राजनीति में प्रवेश किया था. वो साल 2000 से क्रिश्चियन डेमोक्रेटिक यूनियन (सीडीयू) का नेतृत्व कर रही हैं. वो जर्मनी की पहली महिला हैं जो इनमें से किसी भी पद का दायित्व संभाल रही हैं.

फोर्ब्स ने 2014 में विश्व के सबसे प्रभावशाली लोगों की सूची में मर्केल को महिलाओं में सबसे ताकतवर बताया था. जबकि 2013 की संयुक्त सूची में उन्हें पांचवां स्थान हासिल हुआ था. वहीं 2012 की जारी संयुक्त सूची में उन्हें दूसरा स्थान मिला था.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज