चमगादड़ से ही फैला कोरोना का संक्रमण, किसी लैब से नहीं- WHO

चमगादड़ से ही फैला कोरोना का संक्रमण, किसी लैब से नहीं- WHO
विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा है कि ऐसी संभावना है कि कोरोना का संक्रमण चमगादड़ से ही आया है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने अपने ताजा बयान में कोरोना वायरस (Coronavirus) के किसी लैब (lab) से लीक होने की संभावना से इनकार किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 21, 2020, 5:57 PM IST
  • Share this:
विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organisation) ने कहा है कि मौजूद सारे सबूतों को देखकर यही लगता है कि कोरोना वायरस (Coronavirus) का संक्रमण चमगादड़ (bats) से ही फैला है. WHO की तरफ से कहा गया है कि कोरोना का वायरस किसी लैब (lab) में नहीं बनाया गया है.

डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक विश्व स्वास्थ्य संगठन के वेस्टर्न पैसिफिक के रीजनल डायरेक्टर तकेशी केसाई ने कहा है कि ये अभी पता लगाना संभव नहीं है, जिससे कह जाए कि पक्के तौर पर इसी से कोरोना वायरस का संक्रमण फैला. लेकिन ऐसा लग रहा है कि संक्रमण चमगादड़ से ही इंसान के शरीर में आया.

विश्व स्वास्थ्य संगठन पहले भी दे चुका है ऐसे बयान
इसके पहले भी विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा था कि कोरोना वायरस की जेनेटिक जांच करने पर ये चमगादड़ों में पाए जाने वाले कोराना वायरस से मिलता जुलता दिखा है. इससे कहा जा सकता है कि वायरस पहले जानवरों में फैला, उसके बाद इंसानों के शरीर में प्रवेश किया.



विश्व स्वास्थ्य संगठन का ताजा बयान उस वक्त आया है, जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वो चीन में वुहान के लैब से कोराना का वायरस फैलने की जानकारी की जांच करवाएंगे. पिछले दिनों ट्रंप ने कहा था कि सार्स जैसी महामारी के वायरस पर रिसर्च करने वाले वुहान लैब पर लगे आरोपों की जांच करवाई जाएगी. ऐसा कहा जा रहा था कि चीन में वुहान के लैब से ही कोराना का वायरस लीक हुआ है. जिसके बाद इसका संक्रमण पूरी दुनिया में फैला.



चीन के सीफूड मार्केट में सामने आया सबसे पहला संक्रमण
जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल ने भी कहा था कि वायरस के फैलने को लेकर चीन को ज्यादा पारदर्शी तरीके से अपनी बात रखनी चाहिए. इस बीच रूस की पूर्व स्वास्थ्य मंत्री वेरोनिका स्कवोर्तसोवा ने किसी लैब से कोरोना के लीक होने की किसी संभावना से इनकार किया है. उन्होंने कहा है कि इसको लेकर गंभीर रिसर्च की जानी जाहिए कि आखिर वायरस के संक्रमण का स्रोत क्या है.

ऐसा कहा जा रहा है कि जानवरों से सबसे पहले ये वायरस हुन्नान के सीफूड मार्केट में आया. यहीं संक्रमण के सबसे पहले मामले सामने आए थे. हालांकि चीन अब तक संक्रमण के पहले मरीज को ढूंढ पाने में नाकाम रहा है. बिना पहले संक्रमित को खोजे, ये पता लगाना काफी मुश्किल है कि वायरस का स्रोत क्या है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी कहा है कि हो सकता है की सीफूड मार्केट से सबसे पहली बार वायरस का संक्रमण एक इंसान में आया और फिर उससे ये दूसरों में फैला.
इस बारे में जांच जारी है. मध्य नवंबर 2019 के मामलों को खंगाला जा रहा है. हालांकि पहले कहा जा रहा था कि दिसंबर के मध्य में चीन में पहली बार कोरोना के मामले सामने आए थे.

ये भी पढ़ें:-

सिंगापुर में लॉकडाउन 1 जून तक बढ़ाया गया, कोरोना के मामले बढ़े
यूके में सरकारी आंकड़ों से 40 फीसदी ज्यादा मौतें, घरों में मरने वालों को नहीं किया दर्ज
दुनिया में कोरोना Live: लॉकडाउन ख़त्म कर रहे देशों को WHO की चेतावनी- लौट आएगा संक्रमण
वैज्ञानिकों ने बनाया हीरे से भी कठोर लेकिन हल्का पदार्थ, जानिए कहां आएगा काम
मंगल पर बनेगी ऑक्सीजनजानिए NASA कैसे करेगा यह काम
COVID-19 से निपटने में मदद करने के लिए आगे आया NASA, यह करेगा काम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading