पाकिस्तान में हर तीन पायलट में से एक के पास फर्जी लाइसेंस, नहीं हैं विमान उड़ाने लायक

पाकिस्तान में हर तीन पायलट में से एक के पास फर्जी लाइसेंस, नहीं हैं विमान उड़ाने लायक
पाकिस्तान में प्लेन क्रैश की तस्वीर (CNN)

पाकिस्तान के विमानन मंत्री गुलाम सरवर खान ने संसद को बताया कि 22 मई को दुर्घटनाग्रस्त हुए पीआईए प्लेन (PIA Plane) के पायलट्स उड़ान के दौरान फोकस्ड नहीं थे.

  • Share this:
इस्लामाबाद. पाकिस्तान के विमानन मंत्री गुलाम सरवर खान ने कहा कि पाकिस्तान में हर तीन में से एक पायलट फर्जी हैं और उनके पास नकली लाइसेंस हैं. नेशनल असेंबली को संबोधित करते हुए खान ने कहा कि पाकिस्तान में 260 से अधिक पायलटों ने अपनी बजाय किसी दूसरे को परीक्षा देने के लिए किसी और को भुगतान किया. पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) ने फर्जी लाइसेंस वाले अपने सभी पायलटों को तत्काल प्रभाव से हटा दिया है. देश में विभिन्न घरेलू एयरलाइनों के 850 से अधिक सक्रिय पायलट हैं, जिनमें देश की प्रमुख एयरलाइन पीआईए और अन्य विदेशी वाहक शामिल हैं.

सीएनन न्यूज के मुताबिक, यह जानकारी कराची में पिछले महीने एक PIA विमान दुर्घटना के मामले की जांच में सामने आई, जिसमें लगभग 100 लोग मारे गए थे. खान ने संसद को बताया कि 22 मई को दुर्घटनाग्रस्त हुए पीआईए प्लेन के पायलट्स उड़ान के दौरान फोकस्ड नहीं थे.

प्लेन हादसे में 97 लोगों की मौत
विमानन मंत्री ने बताया कि पायलेट्स अपने अति-आत्मविश्वास और एकाग्रता की कमी, उन कारणों में से एक थी, जिसकी वजह से वह त्रासदी हुई, जिसमें 97 लोग मारे गए थे. पायलट ने दूसरी ओर हवाई यातायात नियंत्रकों और एटीसी के निर्देशों की अनदेखी की. वहीं, दूसरी तरफ पायलट को इंजन के टकराने के बारे में सूचित नहीं किया. पायलट पूरे उड़ान के समय में कोरोना की चर्चा कर रहे थे. वे फोकस्ड नहीं थे. उन्होंने कोरोना के बारे में बात की... उनके परिवार प्रभावित हुए थे.
22 मई को हुआ था प्लेन क्रैश


जब नियंत्रण टॉवर ने उनसे विमान की ऊंचाई बढ़ाने के लिए कहा, तो पायलट ने कहा कि 'मैं संभाल लूंगा.' अति आत्मविश्वास था, "खान ने बुधवार को विमान दुर्घटना पर अंतरिम जांच रिपोर्ट पेश करते हुए राष्ट्रीय असेंबली को यह जानकारी दी. बता दें, लाहौर से कराची जाने वाली एयरबस ए-320 विमान 22 मई को कराची में जिन्ना अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास एक रिहायशी इलाके में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था. मालिर में मॉडल कॉलोनी में जिन्ना गार्डन क्षेत्र में दुर्घटनाग्रस्त होने से पहले इसमें सवार 91 यात्रियों और चालक दल के आठ सदस्य सवार थे.

ये भी पढ़ें: Covid-19: अमेरिका ने की हिंदुस्तान से तुलना, कहा- भारत के सामने हमारे आंकड़े शर्मनाक

ये भी पढ़ें: 2036 तक पुतिन बने रहें रूस के राष्ट्रपति, इसलिए लोगों को दिए जा रहे लुभावने उपहार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज