सीरिया के बाद अब अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाया गया

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

फिलहाल, अफगानिस्तान में तकरीबन 14,000 अमेरिकी सैनिक हैं. वे या तो अफगान बलों के समर्थन में नाटो मिशन के साथ काम कर रहे हैं या अलग आतंकवाद निरोधक अभियान में काम कर रहे हैं.

  • भाषा
  • Last Updated: December 21, 2018, 11:59 AM IST
  • Share this:
राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अफगानिस्तान से बड़ी संख्या में अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाने का फैसला किया है. एक अमेरिकी अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी. सीरिया से अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाने का फैसला किए जाने के एक दिन बाद यह घोषणा की गई.

अधिकारी ने नाम न जाहिर किए जाने की शर्त पर कहा, 'बड़ी संख्या में सैनिकों को वापस बुलाया जाएगा.' फिलहाल, अफगानिस्तान में तकरीबन 14,000 अमेरिकी सैनिक हैं. वे या तो अफगान बलों के समर्थन में नाटो मिशन के साथ काम कर रहे हैं या अलग आतंकवाद निरोधक अभियान में काम कर रहे हैं.

ट्रंप ने मंगलवार को यह फैसला किया था. उसी समय उन्होंने पेंटागन से कहा था कि वह सीरिया से अमेरिकी बलों को वापस बुलाना चाहते हैं. इससे पहले अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने गुरुवार को अपने पद से यह कहते हुए इस्तीफा दे दिया कि उनके विचार ट्रंप के साथ मेल नहीं खा रहे हैं.



ये भी पढ़ें: अमेरिका ने पश्चिम एशिया की ‘रखवाली का ठेका नहीं लिया’ : डोनाल्ड ट्रंप
सीरिया और अफगानिस्तान के बारे में ट्रंप के फैसले से पश्चिम एशिया और अफगानिस्तान में अप्रत्याशित घटनाएं हो सकती हैं. मैटिस और अन्य शीर्ष सैन्य सलाहकारों ने पिछले साल ट्रंप को अफगानिस्तान में हजारों नए सैनिक भेजने के लिए राजी किया था. वहां तालिबान बड़ी संख्या में स्थानीय बलों को मार रहा है और उसका प्रभाव बढ़ रहा है. ट्रंप ने उस वक्त कहा था कि उनकी सूझ-बूझ अफगानिस्तान से बाहर निकलने के लिए कह रही है.

ये भी पढ़ें: सैंटा बनकर हॉस्पिटल पहुंचे ओबामा, बच्चों को दिया सरप्राइज गिफ्ट

वाल स्ट्रीट जर्नल की खबर के अनुसार, अफगानिस्तान से 7000 से अधिक सैनिक वापस लौटेंगे. सैनिकों को वापस बुलाने का फैसला तालिबान के साथ शांति समझौते को लेकर अमेरिका के दबाव बनाने के बीच आया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज