होम /न्यूज /दुनिया /VIDEO: अमेरिका ने दिखाई ताकत! लॉन्च किया सबसे एडवांस मिलिट्री एयरक्राफ्ट, होश उड़ा देंगे हाईटेक फीचर्स

VIDEO: अमेरिका ने दिखाई ताकत! लॉन्च किया सबसे एडवांस मिलिट्री एयरक्राफ्ट, होश उड़ा देंगे हाईटेक फीचर्स

अमेरिका ने एक शक्तिशाली मिलिट्री एयरक्राफ्ट को लॉन्च किया है.

अमेरिका ने एक शक्तिशाली मिलिट्री एयरक्राफ्ट को लॉन्च किया है.

अमेरिका ने एक एडवांस मिलिट्री एयरक्राफ्ट को अपने आर्मी फ्लीट में शामिल किया है. अमेरिका के नए परमाणु बमवर्षक विमान ‘B-2 ...अधिक पढ़ें

  • ए पी
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

अमेरिका ने लॉन्च किया एडवांस ‘B-21 रेडर’ एयरक्राफ्ट
दुनिया के किसी भी रेडास को दे सकता है चकमा
‘B-21 रेडर’ को माना जा रहा 6वें जेनरेशन का लड़ाकू विमान

वाश‍िंगटन. चीन से बढ़ते तनाव के बीच अमेरिका ने अपने जंगी बेड़े में एक शक्तिशाली मिलिट्री एयरक्राफ्ट को शामिल किया है. माना जा रहा है कि अमेरिका सालों से बेहद गोपनीय तरीके से इस विमान को विकसित कर रहा था. अब अमेरिका के सबसे नए परमाणु बमवर्षक विमान ‘B-21 रेडर’ की पहली झलक दुनिया के सामने आ गई है. बी-21 रेडर को 6वें जेनरेशन का लड़ाकू विमान कहा जा रहा है.

कैलिफॉर्निया के पामडेल में वायु सेना केंद्र पर शुक्रवार को एयरक्राफ्ट के अनावरण से पहले इसकी कुछ तस्वीरें जारी की गई हैं. उन चुनिंदा तस्वीरों से पता चला है कि इसका रंग काला है. यह बाद में ‘बी-2 स्पिरिट’ विमान की जगह लेगा. अमेरिका का कहना है कि इस विमान का निर्माण चीन से मिलने वाली चुनौती के मद्देनजर किया गया है.

जानें B-21 रेडर की खासियत

अमेरिका का दावा है कि इस विमान की टेक्नोलॉजी काफी एडवांस है. दुनिया का कोई भी रडार इसे पकड़ नहीं सकता. इस एयरक्राफ्ट को खास तौर पर न्यूक्लियर मिशन के लिए तैयार किया गया है. एयरक्राफ्ट क्लाउड कंप्यूटिंग के जारिए कम्युनिकेट कर सकेगा. इसकी नेटवर्किंग केपेबिलिटी भी काफी एडवांस है. खराब मौसम में भी इससे आसानी से संपर्क किया जा सकेगा.

" isDesktop="true" id="4995851" >

पेंटागन ने इस सप्ताह चीन के संबंध में अपनी एक रिपोर्ट में कहा था कि चीन 2035 तक अपने परमाणु हथियारों की संख्या बढ़ाकर 1,500 करने की दिशा में आगे बढ़ रहा है. इसके अलावा हाइपरसोनिक, साइबर युद्ध और अंतरिक्ष क्षमता में उसे मिली बढ़त से अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा और स्वतंत्र के सामने बड़ा खतरा पैदा हो गया है. साल 2015 में रेडर को लेकर हुए अनुबंध के समय वायुसेना सचिव रहीं डेबोरा ली जेम्स ने कहा, ‘हमें 21वीं सदी के लिए नए बमवर्षक की जरूरत थी, जिससे हम एक दिन चीन, रूस से होने वाले अधिक जटिल खतरों का सामना कर सकें.’

ये भी पढ़ें:  क्या है जीरो कोविड पॉलिसी? जिसके खिलाफ भड़के चीनी लोग, ढील के बावजूद रहेगी बरकरार

बोरा ली जेम्स ने कहा, ‘बी-21 लंबे समय तक चलने वाला विमान है और इसके जरिए हम इन काफी मुश्किल चुनौतियों का सामना कर सकते हैं.’ रेडर का निर्माण करने वाली कंपनी नॉर्थरोप ग्रुमेन कॉरपोरेशन की मुख्य कार्यकारी अधिकारी कैथी वार्डन ने कहा कि विमान के 2023 से पहले उड़ान भरने की संभावना नहीं है. हालांकि हाईटेक कंप्यूटिंग का उपयोग करके नॉर्थरोप ग्रुमेन रेडर के प्रदर्शन का परीक्षण कर रहा है.

Tags: America, America vs china, Nuclear weapon, Viral news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें