उत्तर कोरिया के साथ हम वार्ता चाहते हैं, ‘उकसावे’ वाली कार्रवाई न करे: मोर्गन

भाषा
Updated: July 26, 2019, 12:28 PM IST
उत्तर कोरिया के साथ हम वार्ता चाहते हैं, ‘उकसावे’ वाली कार्रवाई न करे: मोर्गन
अमेरिकी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मोर्गन ओर्टागस (फाइल फोटो)
भाषा
Updated: July 26, 2019, 12:28 PM IST
अमेरिका ने कहा है कि वह उत्तर कोरिया के साथ वार्ता जारी रखना चाहता है. लेकिन साथ ही उसने प्योंगयांग के फिर से मिसाइल परीक्षण करने के बाद उसे अपने ‘उकसावे’ वाले कदम रोकने को कहा है. दरअसल, एक दिन पहले उत्तर कोरिया ने समुद्र में कम दूरी की दो मिसाइलें दागीं थी.

यह अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के बीच पिछले महीने अचानक हुई बैठक के बाद पहला परीक्षण है. इस बैठक में दोनों ने परमाणु निरस्त्रीकरण वार्ता बहाल करने पर सहमति जताई थी.

अमेरिकी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मोर्गन ओर्टागस ने यहां पत्रकारों से कहा, ‘हम उत्तर कोरिया के साथ कूटनीतिक संबंध चाहते हैं और हम उत्तर कोरिया से उन सभी चीजों को हल करने का अनुरोध करना जारी रखेंगे जिसके बारे में राष्ट्रपति और किम ने कूटनीति के जरिए बात की.’

उत्तर कोरिया ने दी चेतावनी

उत्तर कोरिया ने मिसाइल परीक्षण करके चेतावनी दी है कि अगर अमेरिका और दक्षिण कोरिया ने संयुक्त सैन्य अभ्यास किया तो यह वार्ता पटरी से उतर सकती है.

अमेरिका ने की कर्तव्यों का पालन करने की अपील
ओर्टागस ने कहा, ‘हम और कोई उकसावे वाली कार्रवाई ना करने का अनुरोध करते हैं. सभी पक्षों को (संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के) प्रस्तावों के तहत अपने कर्तव्यों का पालन करना चाहिए.’
Loading...

9 मई को भी दागी थी मिसाइल
उत्तर कोरिया ने आखिरी बार 9 मई को कम दूरी की मिसाइलें दागी थीं जिसे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ‘‘काफी साधारण-सी मिसाइलें’’ बताया था. उन्होंने कहा था कि इससे उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के साथ उनके रिश्ते प्रभावित नहीं होंगे.
First published: July 26, 2019, 12:26 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...