अमेरिका ने रूस को दी चेतावनी, कहा- 60 दिन में परमाणु संधि पर करे अमल

अमेरिका और नाटो का कहना है कि रूस की 9एम 729 प्रणाली आईएमएफ संधि का उल्लंघन करती है. इस संधि के तहत ज़मीन से दागी जाने वाली 500 से 5,500 किलोमीटर रेंज की मिसाइलें प्रतिबंधित हैं.

भाषा
Updated: December 5, 2018, 1:23 PM IST
अमेरिका ने रूस को दी चेतावनी, कहा- 60 दिन में परमाणु संधि पर करे अमल
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की फाइल फोटो
भाषा
Updated: December 5, 2018, 1:23 PM IST
अमेरिका ने रूस को चेतावनी दी है कि यदि उसने अपनी मिसाइलों को 60 दिन के भीतर नष्ट नहीं किया तो वह शीत युद्ध के दौरान परमाणु हथियारों को लेकर हुई महत्वपूर्ण संधि से खुद को अलग कर लेगा. अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने मंगलवार को कहा कि यदि मॉस्को अपनी नई प्रणाली को वापस नहीं लेता है तो वह 1987 में हुई इंटरमीडिएट रेंज न्यूक्लियर फोर्सेज (आईएनएफ) संधि मानने को बाध्य नहीं होगा. अमेरिका का कहना है कि रूस की मिसाइल प्रणाली ने हथियारों की होड़ बढ़ने का खतरा फिर से पैदा कर दिया है.

नाटो का कहना है कि तमाम लोगों की नजरों में दुनिया भर में हथियारों की होड़ पर नियंत्रण रखने वाली इस संधि को बचाने की जिम्मेदारी अब रूस की है. वहीं, नाटो प्रमुख जेन्स स्टोलटेनबर्ग का कहना है कि बिना संधि की दुनिया के लिए तैयार होने का वक्त आ गया है.

ये भी पढ़ेंः 'और खराब हो सकते हैं अमेरिका-रूस के संबंध'

नाटो के सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों के साथ बैठक के बाद पोम्पिओ ने कहा, ‘‘अमेरिका आज घोषणा करता है कि रूस ने संधि का गंभीर उल्लंघन किया है और यदि रूस 60 दिन के भीतर पूरी तरह से इसका पालन नहीं करता है तो हम अपना सारा दायित्व छोड़ देंगे.’’

उन्होंने कहा कि रूस के इस कदम से अमेरिका और हमारे सहयोगियों तथा साझेदारों की राष्ट्रीय सुरक्षा को बड़ा खतरा है. ‘‘इसका कोई मतलब नहीं बनता है कि अमेरिका इस संधि में बना रहे और रूस के उल्लंघनों का जवाब देने की अपनी क्षमता को नियंत्रित करता रहे.’’

अमेरिका और नाटो का कहना है कि रूस की 9एम 729 प्रणाली आईएमएफ संधि का उल्लंघन करती है. इस संधि के तहत ज़मीन से दागी जाने वाली 500 से 5,500 किलोमीटर रेंज की मिसाइलें प्रतिबंधित हैं.

ये भी पढ़ेंः रूस की चेतावनी पर ट्रंप का पलटवार- तैयार रहो, मिसाइलें आ रही हैं
Loading...

नाटो का कहना है कि रूस की परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम ये क्रूज मिसाइलें कहीं से भी दागी जा सकती हैं और इनका पता लगाना भी मुश्किल है. यह बिना किसी चेतावनी के यूरोप के किसी भी शहर को अपना निशाना बना सकती हैं.
Loading...

और भी देखें

Updated: December 10, 2018 06:11 PM ISTभारत लाया जाएगा विजय माल्या, लंदन की कोर्ट ने प्रत्यर्पण को दी मंजूरी
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->