• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • अमेरिका में मुस्लिमों की निगरानी कर रहा FBI, सुप्रीम कोर्ट में पहुंची लड़ाई, जानें क्या है मामला

अमेरिका में मुस्लिमों की निगरानी कर रहा FBI, सुप्रीम कोर्ट में पहुंची लड़ाई, जानें क्या है मामला

FBI पर मुसलमानों की निगरानी करने का आरोप है.

FBI पर मुसलमानों की निगरानी करने का आरोप है.

2011 में फजागा ने दो अन्य लोगों के साथ मिलकर और अमेरिकी इस्लामिक काउंसिल की मदद से फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (FBI) के खिलाफ केस दाखिल किया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    न्यूयॉर्क. हाल ही में अमेरिका में 9/11 हमले (US 9/11 Attack) की 20वीं वर्षगांठ गुजरी है. लोग आज भी इस मंजर को याद कर सहर जाते हैं, जब अल-कायदा (Al qaeda) के आतंकियों (Terrorists) कट्‌टरपंथ के नाम पर न्यूयॉर्क के टि्वन टॉवर (New York Twin tower) को प्लेन (Plane Crash) से उड़ा दिया था. आज 20 सालों बाद भी लोगों के सामने ये सवाल उठ रहा है कि वह सुरक्षा और स्वतंत्रता में किसे चुनें? इसका जवाब नवंबर में यूएस सुप्रीम कोर्ट दे सकती है. कैलिफोर्निया के एक मुस्लिम धर्मगुरु इमाम यासिर फजागा (Yassir Fazaga) नवंबर में सुप्रीम कोर्ट के सामने अपने प्रश्नों को लेकर खड़े होंगे.

    FBI के खिलाफ मुस्लिम धर्मगुरु ने लगाया केस
    दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक, 2011 में फजागा ने दो अन्य लोगों के साथ मिलकर और अमेरिकी इस्लामिक काउंसिल की मदद से फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (FBI) के खिलाफ केस दाखिल किया था. उनका आरोप था कि FBI मुसलमानों पर केवल मुसलमान होने के कारण ही निगरानी कर रहा है.

    क्या है FBI की दलील
    वहीं, इस आरोप पर एफबीआई ने दलील दी कि उनकी जांच ‘स्टेट सीक्रेट’ है और केस को जारी रखा गया तो राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकता है. नवंबर में FBI बनाम फजागा केस में सबसे पहला सवाल सुप्रीम कोर्ट के सामने यह होगा कि इस केस में स्टेट सीक्रेट प्रिविलेज वाजिब है या नहीं. FBI का कहना है कि कोर्ट के पास FBI की जांच और उसके दस्तावेजों की जांच करने का अधिकार ही नहीं है.

    सरकार पर केस संभव है
    दिसंबर 2020 में 4 मुस्लिमों ने FBI के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में केस दाखिल किया था. इसमें आरोप था कि FBI जबरन लोगों को मुसलमानों की मुखबीरी के लिए मजबूर कर रहा है. ‘तनवीर बनाम तंजीम’ नामक इस केस में सुप्रीम कोर्ट ने यह निर्णय सुनाया कि एक व्यक्ति या उनका समूह सरकार के एजेंसियों के खिलाफ अपने धार्मिक अधिकारों की सुरक्षा के आधार पर केस दाखिल कर सकता है. अपने केस के सिलसिले में फजागा कहते हैं कि नवंबर 2021 में सुप्रीम कोर्ट में यह तय हो जाएगा कि FBI का अधिकारी ज्यादा ताकतवर है या फिर सुप्रीम कोर्ट का जज.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज