तुर्की से रिहा हुए अमेरिकी पादरी व्हाइट हाउस में डोनाल्ड ट्रंप से करेंगे मुलाकात

ब्रूनसन को हिरासत में लिए जाने से अमेरिका और तुर्की के संबंध काफी बिगड़ गए थे. ट्रंप ने पादरी को रिहा करने के लिए अमेरिका पर काफी दबाव डाला था.

भाषा
Updated: October 13, 2018, 10:54 AM IST
तुर्की से रिहा हुए अमेरिकी पादरी व्हाइट हाउस में डोनाल्ड ट्रंप से करेंगे मुलाकात
प्रतीकात्मक तस्वीर
भाषा
Updated: October 13, 2018, 10:54 AM IST
तुर्की में दो साल तक हिरासत में रखे जाने के बाद एक कोर्ट द्वारा रिहा किए गए अमेरिकी पादरी एंड्रयू ब्रूनसन यहां से रवाना हो गए हैं और व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ट ट्रंप उनकी अगवानी करेंगे. ब्रूनसन इजमिर के एजियन शहर में अदनान मेंडेरेस एयरपोर्ट से शुक्रवार को अमेरिकी सैन्य विमान से जर्मनी में अमेरिकी रामस्टाइन एयरपोर्ट के लिए रवाना हुए. वहां से वह अमेरिका के लिए अपनी यात्रा जारी रखेंगे.

ब्रूनसन को हिरासत में लिए जाने से अमेरिका और तुर्की के संबंध काफी बिगड़ गए थे. ट्रंप ने पादरी को रिहा करने के लिए काफी दबाव डाला था. उन्होंने कहा कि ब्रूनसन के अमेरिका पहुंचने के बाद वह उनकी अगवानी करेंगे. सिनसिनाटी में चुनाव प्रचार करने पहुंचे ट्रंप ने संवाददाताओं से कहा, 'शुभ समाचार, पादरी ब्रूनसन रवाना हो गए हैं.' उन्होंने कहा, 'ज्यादा संभावना है कि वह शनिवार को ओवल ऑफिस में आ रहे हैं.'

ये भी पढ़ें: लापता पत्रकार खशोगी के मुद्दे पर बातचीत के लिए तुर्की पहुंचा सऊदी प्रतिनिधिमंडल

ट्रंप प्रशासन ने ब्रूनसन को रिहा कराने के लिए तुर्की पर प्रशुल्क लगाया और दो मंत्रियों पर प्रतिबंध लगाए. ब्रूनसन का मामला राष्ट्रपति के कंजरवेटिव ईसाई आधार के लिए एक मुद्दा बन गया था. ट्रंप ने एनबीसी न्यूज की उन खबरों का खंडन किया कि उन्होंने ब्रूनसन को रिहा करने के बदले में तुर्की पर दबाव में ढील देने पर सहमति जता दी है.

ये भी पढ़ें: रूस से रक्षा प्रणाली, ईरान से तेल आयात का भारत का फैसला फायदेमंद नहीं: अमेरिका

ट्रंप ने कहा, 'हमने तुर्की से बातचीत की और एक व्यवस्था से चले. कोई सौदा नहीं हुआ है. एयरपोर्ट के वेटिंग रूम में ब्रूनसन के साथ मीडिया को जाने की इजाजत नहीं दी गई. हालांकि, उन्हें एयरपोर्ट पर अपनी पत्नी नोरिन के साथ आते देखा गया. सरकारी अनाडोलू संवाद समिति ने ब्रूनसन के तुर्की से रवाना होने की पुष्टि की. एजेंसी ने कहा कि उम्मीद है कि वह जर्मनी में रुकेंगे और उसके बाद स्वदेश के लिए रवाना होंगे.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर