अमेरिका, दक्षिण कोरिया मिल के करेंगे उत्तर कोरिया के खिलाफ शक्ति प्रदर्शन

उत्तर कोरिया को शक्ति दिखाने के लिए किया जा रहा ये अभ्यास

भाषा
Updated: October 13, 2017, 9:35 PM IST
अमेरिका, दक्षिण कोरिया मिल के करेंगे उत्तर कोरिया के खिलाफ शक्ति प्रदर्शन
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (file photo/getty images)
भाषा
Updated: October 13, 2017, 9:35 PM IST
अमेरिकी नौसेना ने आज बताया कि अमेरिका और दक्षिण कोरिया अगले हफ्ते से एक बड़े नौसेना अभ्यास की शुरुआत करेंगे. यह अभ्यास उत्तर कोरिया के परमाणु और मिसाइल परीक्षणों के खिलाफ अपनी शक्ति का प्रदर्शन करने के लिए किया जाएगा. उत्तर कोरिया के हथियार कार्यक्रमों के कारण पिछले कुछ महीनों में तनाव काफी बढ़ गया है.

अमेरिका के प्रतिबंधों की अवहेलना करते हुए प्योंगयांग ने कई मिसाइलों का प्रक्षेपण किया और अपने छठे और सबसे शक्तिशाली परमाणु परीक्षण को अंजाम दिया. अमेरिका ने तब से क्षेत्र में अपने दो करीबी देशों - दक्षिण कोरिया और जापान के साथ सैन्य अभ्यास को बढ़ा दिया है. एक बयान में अमेरिका के सातवें फ्लीट ने कहा कि इस अभ्यास में दक्षिण कोरिया के नौसैन्य जहाजों के साथ यूएसएस रोनाल्ड रेगन लड़ाकू विमान वाहक और दो अमेरिकी विध्वंसक शामिल किए जाएंगे.

बयान में कहा गया कि 16 अक्तूबर से 26 अक्तूबर तक जापान के सागर और पीला सागर में होने वाला यह अभ्यास, “संचार, पारस्परिकता और साझेदारी” को बढ़ावा देंगे. यह कदम प्योंगयांग को क्रोधित कर सकता है जिसने कुछ समय पहले किसी आगामी संयुक्त सैन्य अभ्यास के खिलाफ चेतावनी दी थी. सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए की खबर के मुताबिक, “ अगर अमेरिकी साम्राज्यवादी और उनकी कठपुतली जापान, हमें परमाणु युद्ध के लिए भड़काते हैं तो इसका परिणाम केवल उनका खात्मा होगा.” मंगलवार को ट्रंप ने उत्तर कोरिया के परमाणु और मिसाइल परीक्षण का जवाब देने के लिए अपनी राष्ट्रीय सुरक्षा टीम के साथ ‘कई विकल्पों’ पर चर्चा की थी.

ये भी पढ़ेंः

अमेरिका ने दिखाई अपनी ताकत, कोरियाई प्रायद्वीप के ऊपर उड़ाए फाइटर जेट
दक्षिण कोरिया-अमेरिका और अधिक मिसाइल-रोधी प्रणालियों की तैनाती करेंगे: सियोल


 
News18 Hindi पर Jharkhand Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. World News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर