अमेरिका: भारत के पुराने दोस्त हैं एंटनी ब्लिंकन, बाइडन ने बनाया विदेश मंत्री

बाइडन ने पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा (Barak Obama) के समय के राजनयिक एंटनी ब्लिंकेन (Antony Blinken) को विदेश मंत्री नियुक्त किया है. (AP)

जो बाइडन ने बराक ओबामा (Barak Obama) के समय के राजनयिक एंटनी ब्लिंकन (Antony Blinken) को विदेश मंत्री नियुक्त किया है. 58 वर्षीय ब्लिंकन ने ओबामा प्रशासन के दौरान उप विदेश मंत्री के तौर पर कार्य किया है.

  • Share this:
    (ज़का जैकब)

    वॉशिंगटन. अमेरिका के भावी राष्ट्रपति जो बाइडन (US President elect Joe Biden) ने अपने कैबिनेट में शामिल होने वाले चेहरों का ऐलान कर दिया है. बाइडन ने पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा (Barak Obama) के समय के राजनयिक एंटनी ब्लिंकन (Antony Blinken) को विदेश मंत्री नियुक्त किया है. 58 वर्षीय ब्लिंकन ने ओबामा प्रशासन के दौरान उप विदेश मंत्री और उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) के तौर पर कार्य किया है.

    1990 के मध्य में राष्ट्रपति बिल क्लिंटन के विदेशों में दिए जाने वाले भाषण के लेखक के रूप में ब्लिंकन ने अपने करियर की शुरुआत की. उनके पिता तकरीबन उसी समय हंगरी में राजदूत थे. इस अमेरिकी इलेक्शन में वह बाइडन के 2020 के राष्ट्रपति अभियान के लिए विदेश नीति सलाहकार भी रहे. ब्लिंकन ने मध्य पूर्व, चीन, यूरोप, ईरान और भारत पर बाइडन के अपने विचारों को आकार देने में मदद की है.

    प्रेजिडेंट इलेक्ट बाइडन ने अपनी कैबिनेट का ऐलान किया, ये चेहरे हैं शामिल

    जब भारत-अमेरिका परमाणु समझौते की पुष्टि हुई, तब ये ब्लिंकन ही थे; जिन्होंने सीनेट भारत का पक्ष रखा था. ये इसलिए भी अहम है, क्योंकि तब सौदे के लिए दोनों दलों का समर्थन था. ओबामा इस सौदे को लेकर शुरुआती दौर में कुछ असमंजस में थे. ऐसे में ब्लिंकन को भारत का पुराना और अच्छा दोस्त कहा जा सकता है.


    ब्लिंकन से हाल ही में हडसन इंस्टीट्यूट में हुए एक इवेंट में पूछा गया था कि वे भारत के अमेरिका के संबंध को कैसे देखते हैं? इसपर ब्लिंकन ने कहा था, 'मुझे लगता है कि उपराष्ट्रपति रहते हुए जो बाइडन के दृष्टिकोण से भारत के साथ संबंध को मजबूत करना और गहरा करना एक बहुत ही उच्च प्राथमिकता है. यह आम तौर पर इंडो-पैसिफिक के भविष्य के लिए महत्वपूर्ण है. जिस तरह का क्रम हम सभी चाहते हैं; चीजें वैसी ही हो रही हैं. भारत और अमेरिका लोकतांत्रिक देश हैं. दोनों बड़ी वैश्विक चुनौतियों से निपटने में सक्षम हैं.'

    ब्लिंकन ने उस भाषण में यह भी उल्लेख किया था कि कैसे जो बाइडन ने भारत को पेरिस जलवायु समझौते पर लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी, क्योंकि भारत और चीन के बिना ये समझौता स्वयं ही अर्थहीन होता.

    ब्लिंकन कहते हैं, 'हमने भारत को यह समझाने के लिए कड़ी मेहनत की थी कि अगर वह पेरिस जलवायु समझौते पर हस्ताक्षर करता है, तो यह अधिक समृद्ध और अधिक सुरक्षित होगा. हम ऐसा करने में सफल हुए. यह आसान नहीं था. यह एक चुनौतीपूर्ण प्रयास था, लेकिन बाइडन भारत में हमारे सहयोगियों को समझाने के प्रयास के नेताओं में से एक थे. मुझे लगता है कि हम इस सौदे के हिस्से के रूप में भारत के बिना आम वैश्विक चुनौतियों को हल नहीं कर सकते थे.'


    अमेरिका में बाइडन प्रशासन के लिए शीर्ष प्राथमिकताओं में से एक अंतरराष्ट्रीय समझौतों और प्रतिबद्धताओं को लागू करना होगा, जिन्हें ट्रंप प्रशासन ने रोक दिया था. विशेष रूप से इस लिस्ट में पेरिस जलवायु समझौते, विश्व स्वास्थ्य संगठन और ईरान के साथ JCPOA सौदा सबसे अहम है.

    ब्लिंकन ने इस बात की भी जानकारी दी कि भारत के साथ संबंध को मजबूत करने में कुछ चुनौतियां भी हैं. उदाहरण के लिए, भारत सरकार ने कश्मीर में आंदोलन और बोलने की स्वतंत्रता पर कुछ कार्रवाई करने के लिए, विशेष रूप से नागरिकता पर कुछ कानूनों के बारे में बदलाव किए हैं. बाइडन कहते हैं, 'जब आप स्पष्ट रूप से और सीधे उन क्षेत्रों के बारे में बात कर करते हैं, जहां मतभेद हैं तो जाहिर तौर पर चुनौतियां आती ही हैं.'

    बता दें कि चुनाव के बाद, बाइडन ने वादा किया है कि उनका मंत्रिमंडल अमेरिका की तरह दिखेगा और देश के आधुनिक राजनीतिक इतिहास में सबसे विविध होगा.

    जिद पर अड़े ट्रंप! पेंसिलवेनिया चुनावों के परिणाम रद्द करने की अपील को लेकर डाला नोटिस

    एक दूसरी अहम नियुक्ति में बाइडेन ने जेक सुलिवन को अपना राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नियुक्त किया है. जेक सुलिवन ने अपनी नियुक्ति के बाद पहली प्रतिक्रिया में कहा कि जो बाइडेन ने उन्हें सिखाया है कि सरकार के सर्वोच्च स्तर पर देश की सुरक्षा कैसे की जाती है, उन्होंने कहा कि बतौर NSA वो हर वो काम करेंगे जिससे उनका देश सुरक्षित रहे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.