लाइव टीवी

अमेरिका ने भारत से कहा कश्मीर मुद्दे पर रोडमैप तैयार करें, पाकिस्तान को भी दी नसीहत

News18Hindi
Updated: October 25, 2019, 12:09 PM IST
अमेरिका ने भारत से कहा कश्मीर मुद्दे पर रोडमैप तैयार करें, पाकिस्तान को भी दी नसीहत
अमेरिका ने भारत से कहा कश्मीर के लिए रोडमैप तैयार करें

आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए अमेरिका ने कहा कि भारत को रोडमैप तैयार करने की जरूरत है. अमेरिका ने एक बार फिर पाकिस्तान (Pakistan) को कश्मीर मुद्दे पर नसीहत दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2019, 12:09 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका (America) के दक्षिण-मध्य एशिया की विदेश मामलों की सहायक मंत्री एलिस वेल्स (Alice Wells) ने गुरुवार को कहा कि हमें कश्मीर के हालात में अब सुधार दिखने लगा है. धीरे-धीरे पोस्टपेड मोबाइल सेवा शुरू कर दी गई है, जिससे 40 लाख लोगों को फायदा हुआ. उन्होंने कहा कि इंटरनेट (Internet) और एसएमएस (SMS) सेवाएं अब भी प्रतिबंधित हैं. कश्मीर की राजनीतिक और आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए अमेरिका ने कहा कि भारत को रोडमैप तैयार करने की जरूरत है. अमेरिका ने एक बार फिर पाकिस्तान (Pakistan) को कश्मीर मुद्दे पर नसीहत दी है.

उन्होंने कहा कि हमने भारतीय अधिकारियों से इंटरनेट और मोबाइल सेवाएं बहाल करने की अपील की है. वेल्स ने कहा कि अमरीका कश्मीरी लोगों के शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन करने के अधिकार का समर्थन करता है लेकिन उन लोगों की कड़ी निंदा करता है जो बातचीत को कमज़ोर करने के लिए हिंसा और डर का इस्तेमाल करते हैं.

विदेश विभाग की एक बैठक के दौरान राज्य की स्थिति पर चिंता जताते हुए वेल्स ने कहा कि हम चाहते हैं कि कश्मीर जल्द से जल्द सामान्य स्थिति में लौटे. जम्मू कश्मीर (Jammu-Kashmir) के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों समेत कई नेताओं को लगातार हिरासत में रखे जाने को लेकर कहा कि उन्हें जल्द ही छोड़ा जाए. संचार व्यवस्था को भी सामान्य किया जाए.

एलिस वेल्स ने ये भी कहा कि कश्मीर से 'अनुच्छेद 370 (Article-370) हटाना भारत का एक आंतरिक मामला है लेकिन उनकी चिंता यहां हो रहे मानवाधिकारों के उल्लंघन को लेकर है. कश्मीर से अनुच्छेद 370 के प्रमुख प्रावधानों को हटाए जाने के बाद अमरीका के कई नेताओं ने कश्मीर के हालात पर चिंता ज़ाहिर की है.

पाकिस्तान को कड़ी चेतावनी देते हुए वेल्स ने कहा कि लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद और हिजबुल मुजाहिदीन जैसे आतंकी संगठन कश्मीर की शांति को भंग करने में लगे हुए हैं. पाकिस्तान को अगर भारत के साथ सुचारू रूप से बातचीत शुरू करनी है तो उसे एलओसी पार करने की कोशिश में जुटे आतंकियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी होगी.

ये भी पढ़ें : अब भारतीयों को इस अमेरिकी देश जाने के लिए नहीं लेना होगा वीजा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2019, 12:09 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...