अपना शहर चुनें

States

बिल गेट्स ने मास्क न पहनने वालों को बताया न्यूडिस्ट, बोले- कौन हैं ये लोग?

माइक्रोसॉफ्ट के सह संस्थापक बिल गेट्स (File Photo)
माइक्रोसॉफ्ट के सह संस्थापक बिल गेट्स (File Photo)

गेट्स और एक्ट्रेस और कॉमेडियन जोन्स अमेरिका में मास्क को लेकर हो रही राजनीति और इसकी अजीब बातों पर चर्चा कर रहे थे. इस बातचीत में गेट्स ने कहा- मेरा मतलब है कि ये क्या हैं, जैसे, न्यूडिस्ट (नग्नवादी). बिल गेट्स ने इस स्थिति की पैंट पहनने से भी तुलना की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 18, 2020, 11:32 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. मास्क के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों और मास्क नहीं पहनने और कोरोना वायरस (Coronavirus) के मानदंडों का पालन नहीं करने वाले लोगों पर माइक्रोसॉफ्ट के सह संस्थापक और समाजसेवी बिल गेट्स (Microsoft co-founder and Amercian philanthropist Bill Gates) ने निशाना साधा है. गेट्स ने ऐसे लोगों को न्यूडिस्ट करार दिया है. एक पॉडकास्ट इंटरव्यू में बिल गेट्स और राशिदा जोन्स से कई बड़े सवाल पूछे गए. गेट्स और एक्ट्रेस और कॉमेडियन जोन्स अमेरिका में मास्क को लेकर हो रही राजनीति और इसकी अजीब बातों पर चर्चा कर रहे थे. इस बातचीत में गेट्स ने कहा- मेरा मतलब है कि ये क्या हैं, जैसे, न्यूडिट्स (नग्नवादी). बिल गेट्स ने इस स्थिति की पैंट पहनने से भी तुलना की.

कोविड वैक्सीन (Covid-19) के लिए लाखों डॉलर दान करने वाले अरबपति बिल गेट्स ने कहा- हम आपसे पैंट्स पहनने के लिए कहते हैं, और क्या आप जानते हैं कि कोई अमेरिकी ये नहीं कहता, या सिर्फ कुछ ही अमेरिकी कहते हैं कि ये बहुत खराब बात है. इंटरव्यू के दौरान गेट्स ने यह भी बताया कि कैसे मास्क जरूरत की चीज न होने के बाद अब बेहद जरूरी बन गया है. उन्होंने बताया कि पहले के स्वास्थ्य विशेषज्ञ कोविड की तुलना अन्य सामान्य सर्दी के साथ करते थे, जिसमें फ्लू, बुखार आदि शामिल थे, लेकिन जैसे अन्य वायरस फैलते हैं कोविड उनसे कहीं अलग निकला.

गेट्स ने बताया क्यों मास्क है जरूरी
गेट्स ने कहा, "ये अविश्वसनीय वायरल लोड हैं जो आप कोरोनावायरस के साथ देखते हैं, अन्य श्वसन वायरस के साथ नहीं होते हैं."
जबकि आम सर्दी वाले व्यक्ति अन्य स्वस्थ लोगों के साथ एक कमरे में बिना मास्क के रह सकते हैं, कोविड रोगी नहीं कर सकते.



गेट्स ने यूनिवर्सिटी ऑफ वॉशिंगटन इंस्टीट्यूट फॉर हेल्थ मेट्रिक्स एंड इवैलुएशन के एक हालिया शोध का भी हवाला दिया, जिसमें दिखाया गया था कि 'अगर हर कोई मास्क पहनता है तो 100,000 से अधिक मौतों को टाला जा सकता है.'

जोन्स और गेट्स ने नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिसीज़ के निदेशक डॉ. एंथोनी फाऊची और कोरोनोवायरस के खिलाफ लड़ाई के एक सूत्रधार से भी बात की, जिन्होंने कहा कि "मास्क पहनना, दूरी बनाए रखना, भीड़ से बचना, जितना हो सके उतना भीतर रहना. संभवतः कर सकते हैं - मौसम की अनुमति - और अपने हाथ धोना " कोविड के बाद की दुनिया में रहने के लिए एकमात्र तरीका है.

पूरे समय जोन्स ने इस पर सहमति व्यक्त की और दोहराया कि आप या तो मास्क पहनते हैं या आप नहीं पहनते हैं और घर पर रहते हैं - "आपको केवल इस बात से निपटना है कि यह क्या हो सकता है."
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज