लाइव टीवी

शिकागो का सुपर स्प्रेडर जिसने फ्यूनरल और बर्थ डे पार्टी से फैलाया कोरोना

News18Hindi
Updated: April 9, 2020, 4:38 PM IST
शिकागो का सुपर स्प्रेडर जिसने फ्यूनरल और बर्थ डे पार्टी से फैलाया कोरोना
अमेरिका में कोरोना वायरस की वजह से मौत का आंकड़ा 16 हजार के पार कर गया है.

शिकागो (Chicago) का एक निवासी जिसके भीतर कम श्वसन लक्षण होते हैं वो खुद को सामान्य मानते हुए अंतिम संस्कार में शामिल हो जाता है और बाद में यही शख्स एक जन्मदिन की पार्टी में भी शामिल हो जाता है जबकि इसे ये मालूम नहीं होता है कि ये कोरोना संक्रमित है

  • Share this:
शिकागो (Chicago) में एक अंतिम संस्कार और जन्मदिन की पार्टी कोरोना के संक्रमण का कारवां बनाती चली गई. एक अकेला शख्स दो अलग-अलग मौकों पर लोगों से मिला और उसने अपना संक्रमण फैला दिया. हालांकि ये सब हुआ अनजाने में लेकिन इसने शिकागो में कोरोना (Coronavirus) से कोहराम जरूर मचा दिया.

फरवरी खत्म होने जा रही थी और अमेरिका इस गलतफहमी में था कि उसने खुद को कोरोनावायरस से सुरक्षित कर लिया है. लेकिन उसी वक्त शिकागो का एक निवासी जिसके भीतर कम श्वसन लक्षण होते हैं और वो खुद को सामान्य मानते हुए अंतिम संस्कार में शामिल हो जाता है. इस शख्स को ये मालूम नहीं होता है कि वो कोरोना से संक्रमित है और फिर वो एक जन्मदिन की पार्टी में भी शामिल हो जाता है. इन दो अलग अलग आयोजनों के जरिए उस शख्स ने 15 लोगों के संक्रमण की चेन बना दी. इनमें 3 लोगों की मौत हो गई. रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र सीडीसी ने शिकागो के सुपर स्प्रेडर की कहानी बयां की.

सीडीसी ने एक विस्तृत रिपोर्ट के जरिये बताया कि किस तरह शिकागो में एक कोरोना संक्रमित शख्स सुपर स्प्रेडर बन गया. सीडीसी के मुताबिक सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन का पालन न करने की वजह से एक शख्स से संक्रमण कितने लोगों की मौत की वजह बन गया. दरअसल, इलिनोइस राज्य के शिकागो शहर में 21 मार्च को हफ्तों बाद तक लॉकडाउन का आदेश नहीं दिया गया. ऐसे में ये मामला एक उदाहरण है कि कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन और सामाजतिक दूरी कितना कारगर उपाय है.



कोरोनावायरस का संक्रमण फैलाने वाले शख्स ने अंतिम संस्कार से पहले की रात में सबके साथ मिल कर डिनर किया था और एक अन्य परिवार के दो सदस्यों के साथ प्लेट साझा की थी. तकरीबन 3 घंटे तक ये डिनर चला था. जिसके बाद तकरीबन 2 घंटे चले अंतिम संस्कार में पॉटलुक-स्टाइल भोजन शामिल था.



इसके बाद ही तीन लोगों में कोविड19 के लक्षण 2 से 6 दिन में दिखाई देने लगे. जिसमें एक शख्स को हॉस्पिटल में भर्ती कराना पड़ा और तकरीबन एक महीने चले इलाज के बाद मौत हो गई.  वहीं बाकी दो उपचार के बाद ठीक हो गए.

अंतिम संस्कार के 3 दिन बाद सुपर स्प्रेडर एक जन्मदिन पार्टी में शामिल हुआ और परिवार के 9 सदस्यों के संपर्क में तकरीबन 3 घंटे तक रहा. उन लोगों में से 7 लोगों में कोविड19 के लक्षण 3 से 7 दिनों में दिखाई देने लगे जिसके बाद दो लोगों को अस्पताल में भर्ती करना पड़ा और उन्हें वेंटीलेटर मुहैया कराना पड़ा लेकिन बचाया नहीं जा सका.

इसी तरह मरीज़ की देखभाल करने वाले परिवार के सदस्यों से मरीज़ का हालचाल जानने वालों तक संक्रमण फैल गया. ये उन लोगों को भी संक्रमित कर गया जो कि किसी पार्टी का हिस्सा नहीं थे. बताया जाता है कि जन्मदिन में शामिल हुए लोगों में से 3 लोग जिनके भीतर लक्षण आ चुके थे वो 6 दिन बाद चर्च गए और वहां उन्होंने एक स्वास्थकर्मी को भी संक्रमित कर दिया.

सीडीसी ने शिकागो के सुपर स्प्रेडर से शुरू हुए संक्रमण की सीरीज़ को सिलसिलवार तरीके से पेश किया है. सीडीसी की रिपोर्ट के मुताबिक कोविड19 के संक्रमित मरीज़ों की उम्र 5 साल से 86 साल तक थी.

अमेरिका में कोरोनावायस की वजह से हाहाकार मचा हुआ है. हर दिन हालात गंभीर होते जा रहे हैं. लगातार दूसरे दिन तकरीबन 2000 हज़ार लोगों की मौत हुई है जबकि 4 लाख से ज्यदा लोग संक्रमित हो चुके हैं. वहीं अमेरिका में अब तक 14 हज़ार से ज्यादा मृतक संख्या हो चुकी है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 9, 2020, 2:30 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading