अमेरिका: किंग्स नदी में डूब रहे थे बच्चे, भारतीय सिख युवक ने बचाई तीनों की जान

अमेरिका: किंग्स नदी में डूब रहे थे बच्चे, भारतीय सिख युवक ने बचाई तीनों की जान
भारतीय युवा सिख मनजोत सिंह ने किंग्स नदी में छलांग लगाकर तीन बच्चों की जान बचाई

अमेरिका में कुछ बच्चे नदी (Kings river) में डूब रहे थे. एक आदमी नदी के तट पर खड़ा था, जो यह सब देख रहा था. उसने अपनी जान की परवाह किए बगैर नदी में छलांग लगा दी और तीन बच्चों की जान (Saved Three Lifes) बचा ली.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 8, 2020, 10:25 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिका में कुछ बच्चे नदी (Kings river) में डूब रहे थे. एक आदमी नदी के तट पर खड़ा था, जो यह सब देख रहा था. उसने अपनी जान की परवाह किए बगैर नदी में छलांग लगा दी और तीन बच्चों की जान (Saved Three Lifes) बचा ली. यह इंसान अमेरिका के फ्रेंसो में रहने वाला भारतीय (Indian Sikh Youth) है.

मनजीत खुद नदी के बहाव में फंस गए थे

मनजीत ने जब दो 8 वर्षीय बच्चियों और एक 10 वर्षीय लड़के को किंग्स नदी में डूबते देखा तो वे फौरन नदी में कूद गए. दरअसल, मनजीत वहीं खड़े थे. मनजीत अपने बहनोई के साथ यहां नदी पर जेट स्कीस ड्राइव करने गए थे. वो खुद नदी के तेज बहाव और गहराई में समा गए.
मनजीत के नदी में छलांग लगाने के बाद आस पास खडे़ लोग फिर मदद के लिए आगे आए. एक लड़के और एक लड़की को पानी में से निकाल लिया गया. लेकिन एक लड़की 15 मिनट तक पानी में डूबी रही. उस लड़की को फिलहाल लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है.
ट्रक ड्राइविंग के लिए आया है अमेरिका



यह घटना 5 अगस्त के शाम की है. अमेरिका के रेंडले समुद्री तट से तीन बच्चे किंग्स नदी में बह गए. युवा सिख मनजीत सिंह ने जब उन बच्चों को डूबते देखा तो उन्होंने किसी बात की परवाह किए बगैर नदी फौरन में कूद लगा दी.

मनजीत दो साल पहले ही आया है अमेरिका

मनजीत 29 वर्ष का है और फ्रेंसो का रहने वाला है. दो वर्ष पहले ही वो भारत से अमेरिका आए थे. 5 अगस्त को मनजीत की ट्रेनिंग का पहला दिन था. वह ट्रक डाइविंग के बिजनेस के लिए अमेरिका आए हैं.

ये भी पढ़ें: लेबनान के राष्ट्रपति ने कहा-बेरूत विस्फोट में बाहरी हाथ, यूएन ने स्वतंत्र जांच की मांग की

स्पेन के पूर्व किंग ने दुबई में बनाया ठिकाना, वित्तीय धांधली का चल रहा है मामला

पुलिस कमांडर मार्क एडिगर कहते हैं कि सिंह बिना सोचे समझे बच्चों की मदद के लिए नदी में कूद गए थे. पर दुर्भाग्य से वो खुद इसमें डूब गए और कभी वापस नहीं आए. मार्क ने बताया कि सिंह इन बच्चों को नहीं जानते थे, उन्होंने जैसे ही देखा कि बच्चे डूब रहे हैं उन्होंने जान हथेली पर रखकर नदी में छलांग लगा ​दी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading