अमेरिकी ने इमरान खान को दिया झटका, जॉन कैरी भारत आएंगे पर पाकिस्‍तान को कहा ना

अमेरिकी ने दिया इमरान खान को बड़ा झटका. (फाइल फोटो)

अमेरिकी ने दिया इमरान खान को बड़ा झटका. (फाइल फोटो)

जलवायु परिवर्तन (Climate Change) पर शिखर सम्‍मेलन में इमरान खान को न्‍योता नहीं देने को लेकर एक बार फिर दुनिया के सामने पाकिस्‍तान (Pakistan) को शर्मिंदा होना पड़ा है. पाकिस्‍तानी अखबार डॉन ने इसे पाकिस्‍तान के लिए बड़ा झटका बताया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 2, 2021, 10:06 AM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. चीन (China) से दोस्‍ती पाकिस्‍तान (Pakistan) को एक बार फिर भारी पड़ने लगी है. चीन नजदीकियों ने पाकिस्‍तान को अमेरिका (America) से दूर कर दिया है. यही कारण है कि अब अमेरिका के नए राष्‍ट्रपति जो बाइडेन ने पाकिस्‍तान को करारा झटा दिया है. जलवायु परिवर्तन (Climate Change) पर अमेरिकी राष्‍ट्रपति के विशेष दूत जॉन कैरी (John Kerry) भारत, बांग्‍लादेश की यात्रा करेंगे लेकिन इस महासंकट से सर्वाधिक जूझ रहे देशों में शामिल पाकिस्‍तान नहीं जाएंगे. जॉन कैरी जलवायु संकट पर चर्चा करने के लिए एक से नौ अप्रैल के बीच भारत, बांग्लादेश और यूएई की यात्रा पर जाएंगे.

जलवायु परिवर्तन पर शिखर सम्‍मेलन में इमरान खान को न्‍योता नहीं देने को लेकर एक बार फिर दुनिया के सामने पाकिस्‍तान को शर्मिंदा होना पड़ा है. पाकिस्‍तानी अखबार डॉन ने इसे पाकिस्‍तान के लिए बड़ा झटका बताया है. दक्षिण एशियाई मामलों के अमेरिकी विशेषज्ञ माइक कुगेलमैन ने कहा, पाकिस्‍तान को वाइट हाउस के वैश्विक जलवायु परिवर्तन शिखर सम्‍मेलन में न्‍यौता नहीं दिया गया है. अमेरिका के जलवायु दूत जॉन कैरी चर्चा के लिए भारत और बांग्‍लादेश जा रहे हैं. विदेश मंत्रालय ने बताया कि 22-23 अप्रैल के बीच जलवायु परिवर्तन पर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन बाइडन द्वारा आयोजित ‘नेताओं के शिखर सम्मेलन’ और इस वर्ष के अंत में संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन (सीओपी26) से पहले कैरी इस मुद्दे पर विचार विमर्श के लिए इन देशों की यात्रा करेंगे.

कैरी ने ट्वीट किया, जलवायु संकट से निपटने के लिए अमीरात, भारत और बांग्लादेश में दोस्तों के साथ सार्थक चर्चा को लेकर उत्साहित हूं.
इसे भी पढ़े :- इमरान खान ने अब्दुल शेख को हटाकर हम्माद अजहर को नया वित्त मंत्री बनाया



जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए ठोस कदम उठाने की है जरूरत
अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी समेत विश्व के 40 नेताओं को जलवायु परिवर्तन से निपटने को लेकर वार्ता के मकसद से आयोजित होने वाले 'नेताओं के शिखर सम्मेलन' के लिए आमंत्रित किया है. इस शिखर सम्मेलन का मकसद जलवायु परिवर्तन से निपटने के लिए ठोस कदम उठाने के आर्थिक लाभ एवं महत्व को रेखांकित करना है. व्हाइट हाउस ने पिछले सप्ताह कहा था, यह ग्लासगो में इस साल नवंबर में होने वाले संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन (सीओपी26) के मार्ग में एक मील का पत्थर साबित होगा.

इसे भी पढ़े :- इमरान सरकार का यूटर्न, अब भारत से चीनी-कपास का आयात नहीं करेगा पाक, यह है वजह

पीएम मोदी के अलावा इन नेताओं को किया गया आमंत्रित
व्हाइट हाउस के अनुसार, प्रधानमंत्री मोदी के अलावा चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा, ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो, कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो, इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू, सऊदी अरब के शाह सलमान बिन अब्दुलअजीज अल सऊद और ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन समेत 40 नेताओं को शिखर सम्मेलन के लिए आमंत्रित किया गया है, जिसका सीधा प्रसारण किया जाएगा. इन नेताओं के अलावा दक्षिण एशिया से बंग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना और भूटान के प्रधानमंत्री लोते शेरिंग को भी सम्मेलन में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज