कोरोना वायरस: नागरिकों को भारत से निकालने के लिए फ्लाइट्स का इंतजाम करेगा अमेरिका

कोरोना वायरस: नागरिकों को भारत से निकालने के लिए फ्लाइट्स का इंतजाम करेगा अमेरिका
अमेरिका ने फ्लाइट्स का इंतजाम कर भारत से अपने नागरिकों को निकालने की बात कही है (सांकेतिक तस्वीर)

अमेरिका, भारत में उड़ानें निलंबित होने और लॉकडाउन (Lockdown) लागू किए जाने के चलते यहां फंस गए 2000 से अधिक नागरिकों को वापस लाने के लिए उड़ानों का इंतजाम कर रहा है. यह जानकारी अमेरिका (America) के विदेश विभाग (Department of States) ने दी.

  • Share this:
वॉशिंगटन. अमेरिका सरकार (American Government) कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) को फैलने से रोकने के लिए भारत में उड़ानें (Flights) निलंबित होने और लॉकडाउन लागू किए जाने के चलते वहां फंस गए 2000 से अधिक नागरिकों को वापस लाने के लिए उड़ानों का इंतजाम कर रही है.

यह जानकारी अमेरिका (America) के विदेश विभाग (Department of States) ने दी.

अकेले दिल्ली में ही हैं 1500 अमेरिकी, मुंबई में 600-700
प्रधान उप सहायक विदेश मंत्री (कोविड-19 पर वाणिज्यिक दूतावास विषयक ब्यूरो) इयान ब्राउनली ने कहा कि अकेले दिल्ली (Delhi) में करीब 1500 अमेरिकी हैं, मुम्बई में 600 से 700 अमेरिकी हैं और अन्य स्थानों पर 300 से 400 अमेरिकी हैं जिन्होंने अपनी पहचान बतायी है.



उन्होंने शुक्रवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ हम यहां विभिन्न विकल्पों पर काम कर रहे हैं. एक चर्च समूह भी है जिसने एक बड़ा विमान किराए पर लिया है. हम उस विमान के लिए जरूरी परमिट (Permit) देने के काम में लगे हैं. वे लगभग 150 अमेरिकियों को निकालने के लिए तैयार हैं. हम भारत से सीधे अमेरिका के लिए विमानों का प्रबंध करने के लिए अमेरिका और विदेशी विमान सेवाओं के साथ काम कर रहे हैं.’’



पहले गलती के चलते आंकड़ा दिखा दिया गया था 50,000
ब्राउनली ने कहा ‘‘ अनुमति संबंधी बातों से फिलहाल चीजें थोड़ी जटिल हो गयी हैं. हम इस दिशा में कार्रवाई के लिए तैयार हैं लेकिन भारत (India) और अमेरिका दोनों देशों में अनुमति संबंधी मुद्दों के चलते वक्त लग रहा है. लेकिन हम आशावान हैं और हमारे आशावान होने की वजह भी है. हमें उम्मीद है कि करीब तीन दिन में इसके लिए उड़ानें शुरू हो जाएंगी. ’’

उन्होंने कहा कि विदेश विभाग विदेशों में लॉकडाउन (Lockdown) और/या उड़ानें रद्द होने की वजह से फंसे लेकिन स्वदेश लौटने के लिए मदद पाने को इच्छुक 33,000 नागरिकों पर नजर बनाए हुए है.

पहले विदेश विभाग ने कहा था कि 50,000 लोग विदेशों में फंसे हैं लेकिन ब्राउनली ने कहा कि क्लर्क की भूल (Clerical Error) के चलते आंकड़ा ज्यादा दिखाया गया था.

यह भी पढ़ें: कोरोना फैलने के बाद पहले से भी ज्यादा अमीर हो गए जेफ बेजोस, खेला ये गेम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading