कोरोना को रोकने के लिए डॉक्टर फाउची ने दी भारत को ये 3 सलाह

भारत में कोविड रोकथाम के लिए डॉक्टर फॉसी ने लॉकडाउन को जरूरी बताया है. (फाइल फोटो: AP)

भारत में कोविड रोकथाम के लिए डॉक्टर फॉसी ने लॉकडाउन को जरूरी बताया है. (फाइल फोटो: AP)

Coronavirus: समाचार एजेंसी पीटीआई से बातचीत करते हुए डॉक्टर फाउची ने कहा कि भारत में हालात बेहद गंभीर हैं. उन्होंने कहा, 'जब इतने सारे लोग एक साथ संक्रमित हो रहे हैं तो इसे रोकना आसान नहीं होता.'

  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में इन दिनों हर रोज कोरोना के डराने वाले आंकड़े सामने आ रहे हैं. इस बीच कोरोना की रोकथाम के लिए अमेरिका में बाइडेन प्रशासन के चीफ मेडिकल ऑफिसर और महामारी एक्सपर्ट डॉक्टर एंथनी फाउची (Dr. Anthony Fauci) ने कुछ सुझाव दिए है. डॉ. फाउची वैश्विक रूप से कोरोना संक्रमण को रोकने पर काम कर रहे हैं. उन्होंने मुख्य तौर पर तीन सुझाव दिए हैं. ये हैं- लॉकडाउन, ज्यादा से ज्यादा वैक्सीनेशन और हॉस्पिटल में बेड की संख्या को बढ़ाना.

समाचार एजेंसी पीटीआई से बातचीत करते हुए डॉक्टर फाउची ने कहा कि भारत में हालात बेहद गंभीर हैं. उन्होंने कहा, 'जब इतने सारे लोग एक साथ संक्रमित हो रहे हैं तो इसे रोकना आसान नहीं होता. ऐसे हालात में हर किसी की सही तरीके से देखभाल नहीं हो पाती है. इसके अलावा जब हॉस्पिटल में बेड की कमी हो और ऑक्सिजन की भी कमी हो तो हालत बिगड़ जाते हैं. इस वक्त भारत को पूरी दुनिया से मदद की जरूरत है.'

डॉक्टर फाउची ने कहा, 'सबसे पहले जितने ज्यादा लोगों को वैक्सीन की जरूरत हो उन्हें वैक्सीन दी जानी चाहिए. दूसरे देशों से भी उन्हें वैक्सीन की सप्लाई लेनी चाहिए. चाहे वो संयुक्त राज्य अमेरिका हो या फिर रूस.' साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि वैक्सीन से तुरंत समस्या नहीं खत्म होगी, बल्कि इसमें कुछ हफ्ते का वक्त लग सकता है.

ये भी पढ़ें:- चारधाम यात्रा के लिए सरकार ने जारी की SOP, आम लोगों को एंट्री नहीं
भारत में कोविड रोकथाम के लिए डॉक्टर फाउची ने लॉकडाउन को जरूरी बताया है. उन्होंने कहा कि आपको 6 महीने के लिए शटडाउन करने की जरूरत नहीं है. आप ट्रांसमिशन को रोकने के लिए अस्थाई रूप से शटडाउन कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि किसी को नहीं पसंद की देश बंद किया जाए, लेकिन ऐसा तब होता है जब आप लॉकडाउन 6 महीनों के लिए करते हैं. उन्होंने बताया कि अगर आप इसे केवल कुछ हफ्तों के लिए करेंगे, तो इसका हालात पर काफी असर पड़ेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज