लाइव टीवी

कोरोना वायरस : अमेरिका में लाखों लोग अपने घर का किराया तक नहीं दे पा रहे

भाषा
Updated: April 1, 2020, 7:13 PM IST
कोरोना वायरस : अमेरिका में लाखों लोग अपने घर का किराया तक नहीं दे पा रहे
एक आंकड़े के मुताबिक मार्च महीने में अमेरिकी कंपनियों ने 7 लाख नौकरियों में कटौती की है.

अमेरिका (America) में कोरोना वायरस (Coronavirus) की वजह से कई लोग अपनी नौकरी गंवा चुके हैं, ऐसे लोग अपने घर का किराया तक नहीं दे पा रहे हैं.

  • Share this:
न्यूयॉर्क. दुनिया के दूसरे देशों के साथ आर्थिक महाशक्ति अमेरिका पर भी कोरोना वायरस का जबरदस्त असर पड़ा है. कोरोना वायरस की वजह से काफी लोग अपनी नौकरी गंवा चुके हैं और पहली बार वे मकान का किराया, क्रेडिट कॉर्ड जैसी देनदारी देने में खुद को असमर्थ पा रहे हैं.

ऐसे ही लोगों में एक ब्रिटनी ब्रुक्स भी हैं. वह पेशे से कलाकार हैं और हाल तक छोटे बच्चों के स्कूल में संगीत सिखाती थीं. उनके पति मैथ्यू व्हाइटफिल्ड अभिनेता और वेटर हैं. लेकिन अब दोनों बेरोजगार हैं. उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि वे कैसे किराया और अन्य देनदारियों का भुगतान करें. यह ब्रुक्स और व्हाइटफिल्ड की परेशानी नहीं है बल्कि लाखों अमेरिकी इसी तरह के संकट का सामना कर रहे हैं.

इस बात को समझा जा सकता है कि कोरोना वायरस की वजह से अमेरिका को कितना आर्थिक नुकसान पहुंचा है. अमेरिका में सभी चीजों के लिए पेंशन योजना नहीं है. कई लोगों की इतनी बचत नहीं है कि वो इस संकट की घड़ी में किसी तरह से गुजारा चला लें.



ब्याज माफ करने की मांग कर रहे हैं अमेरिकी



31 साल की ब्रुक्स ने बताया, ‘ शादीशुदा जीवन में पहली बार हमने क्रेडिट कार्ड का बिल देने से मना किया और केवल न्यूनतम राशि ही जमा की. ब्याज माफ करने की मांग की है.’ इस अमेरिकी कपल ने स्टूडेंट लोन को चुकाने के लिए वक्त मांगा है.

न्यूयॉर्क में एक बेडरूम वाले अर्पाटमेंट में रह रहे 33 वर्षीय मैथ्यू ने कहा, ‘जरूरी देनदारी को ही हम भर रहे हैं लेकिन घर का किराया नहीं दे सकते क्योंकि इससे मुश्किल के समय के लिए बचाए गए पैसे महज कुछ महीनों में खत्म हो जाएंगे.’ उन्होंने बताया कि उनके घर का किराया 1,690 डॉलर प्रति माह है.

26 फीसदी किरायेदारों को आर्थिक मदद की जरूरत
रियल एस्टेट एक्सपर्ट और निवेश कंपनी अमहर्सट ने बताया कि अमेरिका में करीब 26 फीसदी किरायेदारों को अपनी देनदारी देने के लिए मदद की जरूरत है. मदद की राशि करीब 12 अरब डॉलर होगी.

यहां बता दें कि फेडरल गवर्नमेंट ने कोरोना वायरस से अर्थव्यवस्था पर पड़े विपरीत असर को कम करने के लिए 2,200 अरब डॉलर के पैकेज का ऐलान किया है. लेकिन प्रत्येक अमेरिकी एडल्ट तक 1200 डॉलर और बच्चों तक 500 डॉलर की मदद 15 अप्रैल के बाद ही पहुंचने की उम्मीद है.

इस बीच 21 मार्च तक 33 लाख अमेरिकियों ने बेरोजगारी भत्ता के लिए आवेदन किया है और हजारों छोटे-बड़े कारोबार बंद हुए हैं.

ये भी पढ़ें:-

कोरोना: अफगानिस्तान के सामने भुखमरी या संक्रमण में से किसी एक को चुनने की मजबूरी

कोरोना वायरस पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के दौरान स्क्रीन पर चलने लगी पॉर्न फिल्म

कोरोना: हॉस्पिटल के कॉरीडोर करना पड़ रहा इलाज, वेंटिलेटर्स की भीख मांग रहे हैं डॉक्टर्स

अमेरिका को कोरोना संकट से उबारने को बिल गेट्स ने दिया मंत्र, इन तीन खास चीजों पर जोर देने की मांग

कोरोना संकट से दोराहे पर दुनिया, आखिर पहले किसे बचाएं!

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 1, 2020, 6:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading