अमेरिका ने कहा- भारत ने नहीं दी थी कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने की जानकारी

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाए जाने के बाद से सुरक्षा के मद्देनजर इंटरनेट और मोबाइल सेवाओं को पूरी तरह से रोक दिया गया है.

News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 9:01 AM IST
अमेरिका ने कहा- भारत ने नहीं दी थी कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने की जानकारी
अमेरिका को नहीं पता था भारत कश्मीर से हटाने जा रहा है अनुच्छेद 370
News18Hindi
Updated: August 8, 2019, 9:01 AM IST
जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से अनुच्छेद 370 (Article 370) हटाए जाने को लेकर अमेरिका का कहना है कि उससे इस मामले पर कोई चर्चा नहीं की गई थी. अमेरिका ने विरोध दर्ज कराते हुए कहा है कि जम्मू-कश्मीर से विशेष संवैधानिक दर्जा हटाने से पहले भारत सरकार ने अमेरिका से किसी भी तरह का परामर्श नहीं किया और न ही उसे इस संबंध में कोई जानकारी दी गई. पहले इस बारे में खबर आ रही थी कि भारत ने अनुच्छेद 370 हटाए जाने से पहले अमेरिका को इससे जुड़ी जानकारी दी थी.

अमेरिका की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि उसे जम्मू-कश्मीर के संवैधानिक दर्जे को बदलने के भारत के कदम की जानकारी मिली है. इसे नई दिल्ली ने अपना आंतरिक मामला बताया है. विदेश विभाग के प्रवक्ता मोर्गन ओर्टागस ने कहा कि हम कश्मीर पर लगातार हो रही गतिविधियों पर नजर बनाए हुए हैं. उन्होंने कहा कि कुछ कश्मीरी नेताओं को हिरासत में लिए जाने की खबरें चिंता का विषय हैं. उन्होंने व्यक्तिगत अधिकारों का सम्मान करते हुए प्रभावित लोगों से वार्ता करने का आग्रह किया है.



अमेरिका ने भारत और पाकिस्तान से (LoC) पर शांति और स्थिरता बनाए रखने का आग्रह किया है. बयान में कहा गया है कि, हम जम्मू-कश्मीर के घटनाक्रम पर लगातार नजर बनाकर रखे हुए हैं. हमें भारत की ओर से जम्मू कश्मीर के संवैधानिक दर्जे में संशोधन करने की घोषणा और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने की योजना की जानकारी मिली है. भारत सरकार ने इन संशोधन को आंतरिक मामला बताया है.
Loading...

इसे भी पढ़ें :- कश्मीर में 'शांति के लिए खतरा' बने 100 से अधिक नेता गिरफ्तार

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से सुरक्षा के मद्देनजर इंटरनेट और मोबाइल सेवाओं को पूरी तरह से रोक दिया गया है. जम्मू-कश्मीर में शांति बनाए रखने के लिए 100 से अधिक नेताओं को नजरबंद कर दिया गया है. जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला को भी नजरबंद किया गया है.

इसे भी पढ़ें :- कश्मीर के बाद अब जम्मू के नेताओं पर पुलिस की नजर, पूर्व मंत्री लाल सिंह नज़रबंद
First published: August 8, 2019, 8:44 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...