अपना शहर चुनें

States

ट्रंप ने अपना कार्यकाल खत्म होने से पहले पूर्व सलाहकार स्टीव बैनन सहित 73 लोगों को दिया क्षमादान

डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) शपथ ग्रहण समारोह (Oath Ceremony) में भाग नहीं लेंगे.
डोनाल्ड ट्रम्प (Donald Trump) शपथ ग्रहण समारोह (Oath Ceremony) में भाग नहीं लेंगे.

स्टीव बैनन (Steve Bannon) 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप (Donald Trump) के प्रमुख सलाहकारों में से एक थे. उन पर आर्थिक गबन का आरोप था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2021, 1:36 PM IST
  • Share this:
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने पूर्व रणनीतिकार स्टीव बैनन (Steve Bannon) को क्षमादान दे दिया है (Trump Granted Clemency To Bannon). ट्रंप ने व्हाइट हाउस में अपना कार्यकाल खत्म होने से कुछ घंटे पहले ही कई लोगों को क्षमादान दिया है जिसमें स्टीव बैनन भी शामिल हैं. ट्रंप ने खुद को, अपने परिवार को और लॉयर रूडी को क्षमादान नहीं दिया है.

जो बाइडेन (Joe Biden) आज अमेरिका के नए राष्ट्रपति के रूप में पदभार संभालेंगे. व्हाइट हाउस के अधिकारियों ने ट्रंप को ये सलाह दी थी कि वो खुद को और अपने परिवार को क्षमादान ना दें क्योंकि इससे ऐसा लगेगा कि वो भी अपराधी हैं.

steve bannon
स्टीव बैनन




ट्रंप ने अपने कार्यकाल के आखिरी समय में 140 से अधिक लोगों को क्षमादान दिया है. स्टीव बैनन 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप के प्रमुख सलाहकारों में से एक थे. उन पर आर्थिक गबन का आरोप था. अमेरिका-मेक्सिको बॉर्डर पर दीवार बनाने के लिए लोगों ने जो पैसे दिए थे, उस फंड का बैनन ने कथित तौर पर गलत तरह से इस्तेमाल किया था. उन पैसों को उन्होंने निजी फायदे के लिए इस्तेमाल किया था. मगर उन्होंने खुद को बेकसूर बताया था.
ट्रंप ने बैनन के अलावा एलियट ब्रोइडी को भी क्षमादान दिया. एलियट ट्रंप के पूर्व शीर्ष के फंडरेजर थे जिन्हें पिछले साल विदेशी लॉबिंग कानूनों का उल्लंघन करने के लिए दोषी ठहराया गया था. इसके अलावा करप्शन के चलते 28 साल की जेल की सजा काट रहे डेट्रॉयट के पूर्व मेयर क्वामे किलपैट्रिक को भी ट्रंप ने माफ कर दिया है. रैपर लिल वेन और कोडक ब्लैक, जिन पर हथियारों के अपराध में केस चल रहा था, को भी क्षमादान दिया गया है.

हाल ही में ट्रंप पर आरोप लगा था कि उन्होंने 6 जनवरी को अमेरिकी संसद में हुए हमले के लिए अपने समर्थकों को उकसाया था. जिसके कारण उन पर महाभियोग पारित किया गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज