परमाणु समझौते पर ट्रंप की ईरान को चेतावनी- आग से खेलना बंद करो, वरना...

इससे पहले सोमवार को अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एंजेसी (IAEA) के महानिदेशक युकिया अमानो ने ईरान के 300 किलो की संवर्धित यूरेनियम की सीमा पार करने की पुष्टि की थी.

News18Hindi
Updated: July 2, 2019, 11:17 AM IST
परमाणु समझौते पर ट्रंप की ईरान को चेतावनी- आग से खेलना बंद करो, वरना...
ट्रंप ने ईरान को संवर्धित यूरेनियम की सीमा को पार नहीं करने की चेतावनी दी.
News18Hindi
Updated: July 2, 2019, 11:17 AM IST
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को ईरान को संवर्धित यूरेनियम की सीमा को पार नहीं करने की चेतावनी दी. ट्रंप ने कहा कि ईरान अपने परमाणु कार्यक्रम के तहत संवर्धित (एनरिच्ड) यूरेनियम की सीमा को पार करता है तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने होंगे. उन्होंने कहा कि परमाणु समझौते का उल्लंघन कर ईरान आग से खेल रहा है.

इससे पहले सोमवार को अंतरराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एंजेसी (IAEA) के महानिदेशक युकिया अमानो ने ईरान के 300 किलो की संवर्धित यूरेनियम की सीमा पार करने की पुष्टि की थी. इस मुद्दे पर अमेरिका इससे पहले भी ईरान पर दवाब बनाता रहा है. व्हाइट हाउस का कहना है कि जब तक ईरान परमाणु समझौते का उल्लंघन करेगा, हम दवाब बनाते रहेंगे.

इन देशों ने किया ट्रंप का समर्थन

वहीं, ब्रिटेन ने भी इस मुद्दे पर अमेरिका का समर्थन करते हुए कहा कि ईरान को किसी भी ऐसे कदम से बचना चाहिए. यूनाइटेड नेशन (यूएन) ने कहा कि ईरान को समझौते के तहत अपने वादे पर कायम रहना चाहिए. डोनाल्ड ट्रंप ने संवर्धित यूरेनियम की सीमा को बढ़ाने के ईरान के फैसले पर फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों से चर्चा की. इजरायल ने भी अमेरिका से ईरान पर प्रतिबंध लगाने को कहा है.

ईरान ने 8 मई को की थी घोषणा

बता दें कि कुछ समय पहले ओमान की खाड़ी में होरमुज जलडमरुमध्य के नजदीक दो तेल टैंकरों अल्टेयर और कोकुका करेजियस में विस्फोट की घटना और अमेरिका के जासूसी ड्रोन के मार गिराए जाने के बाद से अमेरिका और ईरान के बीच तनाव बढ़ गया है. ईरान ने इसी साल 8 मई को अंतरराष्ट्रीय परमाणु समझौते के कुछ प्रावधानों से अलग की घोषणा की थी, जिसके बाद से ही समझौते को लेकर संशय बना हुआ है.

2015 में इन देशों की बीच हुआ था समझौता
Loading...

उल्लेखनीय है कि 2015 में ईरान ने अमेरिका, रूस, चीन, जर्मनी, फ्रांस और ब्रिटेन के साथ समझौते पर हस्ताक्षर किए थे. इस समझौते के तहत ईरान ने उस पर लगे आर्थिक प्रतिबंधों को हटाने के बदले अपने परमाणु क्रायक्रम को सीमित करनी की सहमति जताई थी.

ये भी पढ़ें-

चीन से मुकाबला करने के लिए भारत ने बिछाया 63 देशों का जाल

पाकिस्तान से वायरल हुई कांग्रेस नेता सिद्धू की यह फेक तस्वीर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 2, 2019, 11:15 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...