अपना शहर चुनें

States

US Violence: अमेरिकी कांग्रेस ने बाइडन के राष्ट्रपति बनने पर लगाई मुहर

अमेरिकी कांग्रेस ने बाइडन की जीत पर लगाई संवैधानिक मुहर  (फोटो- AP)
अमेरिकी कांग्रेस ने बाइडन की जीत पर लगाई संवैधानिक मुहर (फोटो- AP)

US Capitol Hill Violence: ट्रंप (Donald Trump) समर्थक कैपिटल हिल बिल्डिंग (US Capitol Hill) में घुस गए और हंगामा करने लगे. गोलीबारी में एक महिला की मौत की खबर है. वॉशिंगटन डीसी के मेयर ने स्थानीय समयानुसार शाम 6 बजे तक कर्फ्यू का ऐलान किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 7, 2021, 11:37 PM IST
  • Share this:
वॉशिंगटन. अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव (US President Election 2020) के नतीजों को लेकर सियासी खींचतान जारी है. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने चुनावों में धांधली का आरोप लगाया है और दबाव बनाने में जुटे हैं. इस बीच ट्रंप समर्थकों की भीड़ ने यूएस कैपिटल हिल बिल्डिंग के बाहर हंगामा किया. अमेरिका के प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडन (Joe Biden) ने यूएस कैपिटोल हिल में ट्रंप समर्थकों के हंगामे को राजद्रोह करार दिया है.

रायटर की रिपोर्ट के मुताबिक, यूएस कैपिटल हिल में हुई हिंसा में एक महिला की गोली लगने से मौत की खबर जबकि संसद के बाहर हुई हिंसा में 3 अन्य लोगों की मौत हो गयी है. प्रदर्शनकारियों की पुलिस के बीच हिंसक झड़प के बाद परिसर को बंद कर दिया गया. कैपिटल के भीतर यह घोषणा की गई कि बाहरी सुरक्षा खतरे के कारण कोई व्यक्ति कैपिटोल हिल परिसर से बाहर या उसके भीतर नहीं जा सकता.

पढ़ें LIVE UPDATES:-



स्पीकर नैंसी पेलोसी के ऑफिस में भी की गई तोड़फोड़
राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) समर्थक दंगाइयों द्वारा बुधवार को कैपिटल बिल्डिंग (अमेरिकी संसद) पर किए गए हमले में कांग्रेस (संसद) के निम्न सदन प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी (Nancy Pelosi) के कार्यालय में भी तोड़फोड़ की गई. पेलोसी के सहायक ने बताया कि भीड़ ने 80 वर्षीय शीर्ष डेमोक्रेट नेता के अति सुरक्षित इमारत स्थित कार्यालय में लगे बड़े आइने को तोड़ दिया और दरवाजे पर लगी नाम की पट्टी उखाड़ दी. एक तस्वीर में दिखाई दे रहा है कि ट्रंप की घोर आलोचक रहीं पेलोसी के कार्यालय में रखी मेज पर एक ट्रंप समर्थक पैर रखकर बैठा हुआ है.

US ने ट्रंप को बताया खतरा
अमेरिकी मीडिया (American Media) ने कैपिटल पर निर्वतमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के समर्थकों के हमले के बाद ट्रंप को एक 'खतरा' करार दिया है, और कहा है कि वह कार्यालय में रहने के योग्य नहीं हैं, इसलिए उन्हें पद से हटाया जाए. अमेरिकी मीडिया ने ट्रंप को महाभियोग प्रक्रिया या आपराधिक मुकदमे के तहत जिम्मेदार ठहराने की मांग की है. ट्रंप के हजारों समर्थक बुधवार को कैपिटल में घुस आए और इस दौरान पुलिस के साथ उनकी हिंसक झड़प हुई. इस घटना में कम से कम चार लोगों की मौत हो गई और नए राष्ट्रपति के रूप में जो बाइडन के नाम पर मोहर लगाने की संवैधानिक प्रक्रिया बाधित हुई.



ओबामा ने साधा ट्रंप पर निशाना
अमेरिका (America) के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा (Barack Obama) ने कैपिटल बिल्डिंग में हिंसा भड़काने के लिए निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर तीखा प्रहार करते हुए कहा कि यह देश के लिए 'बेहद अपमान और शर्मिंदगी' का पल है. यूएस कैपिटल में बुधवार को हजारों ट्रंप समर्थक दंगाइयों के घुसने और संसद के संयुक्त सत्र को बाधित करने के बाद पूर्व राष्ट्रपति ओबामा का यह बयान आया है. घटना के वक्त संसद का संयुक्त सत्र चल रहा था जिसमें नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन की जीत की पुष्टि होनी थी. ओबामा ने एक बयान में कहा, 'इतिहास कैपिटल में हुई आज की हिंसा की घटना को याद रखेगा, जिसे वैध चुनावी नतीजे के बारे में लगातार निराधार झूठ बोलने वाले एक निवर्तमान राष्ट्रपति ने भड़काया. यह अमेरिका के लिए बेहद अपमान और शर्म की बात है.

ट्रंप ने मानी हार
डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने एक बयान जारी कर अपनी हार स्वीकार कर ली है. ट्रंप ने बयान जारी कर कहा कि ये उनके एतिहासिक और पहले राष्ट्रपति कार्यकाल का अंत है. मैं चुनाव के इन नतीजों से पूरी तरह असहमत हूं लेकिन 20 जनवरी को सत्ता का हस्तांतरण सही तरीके से हो जाएगा.

कांग्रेस ने बाइडन की जीत पर लगाई संवैधानिक मुहर
अमेरिकी कांग्रेस ने डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडन की जीत पर संवैधानिक मुहर लगा दी है. कांग्रेस ने Electoral College काउंटिंग में बाइडन को विजेता घोषित किया है. बाइडन के अलावा कमला हैरिस को भी उपराष्ट्रपति पद के लिए विजेता घोषित किया गया है. इससे पहले सीनेट और कांग्रेस ने जॉर्जिया, पेन्सिल्वेनिया, नेवाडा और एरिजोना से जुड़े रिपब्लिकन नेताओं के काउंटिंग रोकने से सम्बंधित प्रस्तावों को बारी-बारी से खारिज कर दिया. इससे पहले ट्रंप समर्थकों ने कैपिटल हिल बिल्डिंग में घुसकर वोटिंग की प्रक्रिया को रोकने के लिए हिंसा की थी जिसमें अब तक 4 लोग मारे जा चुके हैं. बाइडन को विजेता घोषित कर उपराष्ट्रपति पेंस ने कहा कि अब सभी को अपने काम पर वापस लग जाना चाहिए.


पेंसिलवेनिया और एरिजोना से ट्रंप को झटकापेंसिलवेनिया में बाइडन की जीत पर हुए एतराज़ को अमेरिका की संसद के ऊपरी सदन सीनेट ने 92-7 के बहुमत से ख़ारिज कर दिया. सांसद हॉले का बोलने का वक़्त ख़त्म होने के बाद सीनेट के नेता मिच मैक्कॉनल ने इस मुद्दे पर बहस बंद कर दी. मैक्कॉनल ने कहा कि आज रात चुनाव पर कोई और चुनौती आने की उम्मीद नहीं है. हालांकि सांसद एतराज़ों पर अब भी बहस कर रहे हैं. इससे पहले एरिजोना पर भी जताया गया विरोध संसद ने ख़ारिज कर दिया था. हिंसा में मारी गयी महिला पहले एयरफ़ोर्स में थीयूएस कैपिटल में हुई हिंसा के दौरान मारी गईं महिला की स्थानीय पुलिस ने पहचान कर ली है. बताया गया है कि मृतका का नाम एशली बैबिट था जो सैन डिएगो की रहने वाली थीं. अमेरिकी मीडिया के अनुसार, एशली यूएस एयर फ़ोर्स में भी रह चुकी थीं. रिपोर्ट्स के मुताबिक़, कैपिटल बिल्डिंग में घुसते समय एशली को गोली लगी. वे अन्य दंगाइयों के साथ थीं. अमेरिकी प्रसारक फ़ॉक्स न्यूज़ ने एशली की सास से बात करने का दावा किया है. उनके अनुसार, वे पक्की ट्रंप समर्थक थीं. गोली लगने के बाद एशली को अस्पताल ले जाने की कोशिश की गई थी, लेकिन रास्ते में ही उनकी मौत हो गई. वाशिंगटन डीसी में 15 दिन की इमरजेंसी घोषितअमेरिका की राजधानी वाशिंगटन डीसी में मेयर ने 15 दिन के लिए पब्लिक इमर्जेंसी लगा दी है. मेयर म्यूरियल बॉउसर ने कहा, “कई लोग शहर में हथियारों के साथ हिंसा और तोड़फोड़ के मक़सद से आए और उन्होंने हिंसा व तोड़फोड़ की. उन्होंने केमिकल छोड़े, ईंटें, बोतलें मारी, बंदूकें भी चलाईं.” उन्होंने कहा, “उनकी हरकतें अब भी जारी है.” इस फ़ैसले के बाद शहर में लोगों की सुरक्षा के लिए ज़्यादा संसाधन इस्तेमाल किए जा सकेंगे जैसे कर्फ़्यू, इमर्जेंसी सर्विस बढ़ाना और ज़रूरत की चीज़ें बाँटना. सीनेट ने एरिजोना के चुनाव नतीजों पर ट्रंप की चुनौती को खारिज कियाअमेरिका में सीनेट ने नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन की एरिजोना में जीत पर डोनाल्ड ट्रंप की चुनौती को खारिज कर दिया है और कहा है कि एरिजोना के नतीजे मान्य हैं. एरिजोना में चुनाव के नतीजों पर रिपब्लिकन सांसद पॉल गोसर और सीनेटर टेड क्रूज ने आपत्ति की थी जिसे बुधवार को तीन के मुकाबले 93 मतों से खारिज कर दिया गया. इसके पक्ष में सभी रिपब्लिकन सांसदों के वोट मिलने की संभावना थी लेकिन कैपिटोल परिसर में हंगामे की घटना के बाद सांसदों ने इस आपत्ति का समर्थन नहीं करने का फैसला किया. रिपब्लिकन सांसदों ने राष्ट्रपति ट्रंप के गलत दावों के आधार पर चुनाव नतीजों पर आपत्ति जतायी थी. हालांकि ट्रंप के इन दावों को एरिजोना की अदालत और राज्य के चुनाव अधिकारी कई बार खारिज कर चुके हैं. कैपिटल हिल के बाहर हिंसा में 3 की मौत, 25 अरेस्टट्रंप समर्थकों द्वारा की गयी हिंसा में कैपिटल हिल के भीतर गोली लगने से एक महिला की मौत हो गयी थी. अब खबर आ रही है कि संसद के बाहर हुई हिंसा में भी 3 अन्य लोगों की मौत हो गयी है. वाशिंगटन डीसी पुलिस चीफ रॉबर्ट कॉन्टी ने बताया कि इन तीनों की मौत कैपिटल हिल के बाहर हुई हिंसा के दौरान मेडिकल इमरजेंसी के चलते हुई है.पीएम मोदी ने जताया दुख पीएम मोदी ने ट्वीट किया- 'वाशिंगटन डीसी में दंगा और हिंसा की ख़बरें देखकर मैं व्यथित हूं. शांतिपूर्ण तरीके से सत्ता का क्रमबद्ध हस्तांतरण जारी रहना चाहिए. लोकतांत्रिक प्रक्रिया को गैरकानूनी विरोध के माध्यम से से दबाव में आने नहीं दिया जा सकता.' उपराष्ट्रपति पेंस भी ट्रंप से खफाप्रेसिडेंट इलेक्ट की जीत पर मुहर लगाने के लिए कांग्रेस यानी अमेरिकी संसद का संयुक्त सत्र बुलाया जाता है. इसकी अध्यक्षता उप राष्ट्रपति करते हैं और कुर्सी पर माइक पेंस थे. ट्रंप समर्थकों की हरकत से बेहद खफा दिखे. उन्होंने कहा- यह अमेरिकी इतिहास का सबसे काला दिन है. हिंसा से लोकतंत्र को दबाया या हराया नहीं जा सकता. यह अमेरिकी जनता के भरोसे का केंद्र था, है और हमेशा रहेगा. सिर्फ पेंस ही नहीं कही रिपब्लिकन सीनेटर भी इस हिंसा से नाराज़ नज़र आए और कहा कि ये देखकर अमेरिका की आने वाली नस्लें हमारे बारे में क्या सोचेंगी. इलेक्टोरल वोटों की गिनती फिर शुरूकैपिटल में ट्रंप समर्थकों द्वारा की गयी हिंसा के बाद इलेक्टोरल वोटों की गिनती एक बार फिर शुरू हो गयी है. अमेरिका में आज इलेक्टोरल कॉलेज के वोटों की गिनती हो रही है और ट्रंप समर्थक इसे ही रोकने की कोशिश कर रहे थे. इसके बाद डेमोक्रेट पार्टी के जो बाइडन (प्रेसिडेंट इलेक्ट) की जीत पर संवैधानिक मुहर लग जाएगी. बाइडन 20 जनवरी को राष्ट्रपति पद की शपथ लेंगे. शपथ वाले दिन को इनॉगरेशन डे कहा जाता है. अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव 3 नवंबर को हुआ था. इलेक्टोरल कॉलेज वोटिंग 14 दिसंबर को हुई थी. अब इलेक्टोरल कॉलेज वोटों की औपचारिक काउंटिंग अमेरिकी संसद के दोनों सदन संयुक्त रूप से कर रहे हैं. ये सीनेट और हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स (HOR) की संयुक्त सभा है. आर्मी के स्पेशल गार्ड्स तैनातघटना के बाद डीसी में मौजूद यूएस आर्मी की स्पेशल यूनिट को बुलाया गया. महज 20 मिनट में इसने मोर्चा संभाला. कुल मिलाकर 1100 स्पेशल गार्ड्स अब भी कैपिटल हिल के बाहर और अंदर तैनात हैं. राजधानी में कर्फ्यू है. न्यूयॉर्क टाइम्स ने एक फोटो के जरिए बताया है कि जब ट्रंप समर्थक संसद में हिंसा कर रहे थे, तभी कुछ पुलिस अफसरों ने दंगाइयों पर रिवॉल्वर तान दी. एक महिला की मौत हुई. हालांकि, यह बहुत साफ नहीं है कि महिला की मौत पुलिस की गोली से हुई या फायरिंग कहीं और से हुई. कांग्रेस को स्थगित करनी पड़ी कार्यवाहीन्यूज एजेंसी AP के मुताबिक, ट्रंप समर्थक कैपिटल हिल बिल्डिंग में घुस गए और हंगामा करने लगे. ऐसे में कांग्रेस को मजबूरन अपनी कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी. ट्रंप समर्थकों और पुलिस बल के बीच हिंसक झड़प में कई घायल हुए. भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस को आंसू गैसे के गोले दागने पड़े हैं. शाम 6 बजे तक कर्फ्यू का ऐलानवॉशिंगटन डीसी के पुलिस प्रमुख ने कहा कि ट्रंप समर्थकों ने कैपिटल बिल्डिंग में घुसने के लिए पुलिस बल पर रासायनिक पदार्थ फेंके. वॉशिंगटन डीसी के मेयर ने स्थानीय समयानुसार शाम 6 बजे तक कर्फ्यू का ऐलान किया है. जो बाइडन बोले- ये राजद्रोह हैराष्ट्रपति पद के लिए चुने गए जो बाइडन ने भी घटना को लेकर प्रतिक्रिया दी है. बाइडन ने ट्वीट किया, 'मैं राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का आह्वान करता हूं कि वह अपनी शपथ पूरी करें और संविधान की रक्षा करें और इस घेराबंदी को समाप्त करने की मांग करें.' एक और ट्वीट में बाइड कहते हैं, 'मैं साफ कर दूं कि कैपिटोल बिल्डिंग पर जो हंगामा हमने देखा हम वैसे नहीं हैं. ये कानून न मानने वाले अतिवादियों की छोटी संख्या है. ये राजद्रोह है.' फेसबुक ने हटाया ट्रंप का वीडियोट्विटर के बाद फेसबुक ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के एक वीडियो को हटा दिया है. यूएस कैपिटल हिल में हिंसा के दौरान ट्रंप ने अपने समर्थकों को संबोधित किया था. फेसबुक के वाइस प्रेसिडेंट ऑफ इंटीग्रिटी, गाय रोसेन ने कहा, 'हमने ट्रंप के वीडियो को हटा दिया है, क्योंकि हमारा मानना है कि ये वीडियो जारी हिंसा के जोखिम को कम करने के बजाय योगदान दे रहा था.'


ट्रंप ने की शांति की अपील
इस बीच राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने समर्थकों से शांति की अपील की है. वहीं हंगामा को देखते हुए नेशनल गार्ड का रवाना किया गया है. व्हाइट हाउस की प्रेस सेक्रेटरी ने ट्वीट करके कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप के निर्देश पर नेशनल गार्ड और दूसरी केंद्रीय सुरक्षा बल के जवान रवाना कर दिए गए हैं. हम हिंसा के खिलाफ और शांति बनाये रखने के लिए राष्ट्रपति की अपील को दोहरा रहे हैं.

कांग्रेस के ज्वाइंट सेशन में एलेक्टोरल वोट्स की गिनती
कांग्रेस के ज्वाइंट सेशन में एलेक्टोरल वोट्स की गिनती शुरू हो रही है, जिसकी अध्यक्षता उप राष्ट्रपति माइक पेंस (Mike Pence) कर रहे हैं. उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने संविधान का हवाला देते हुए वोट काउंटिंग में दखल देने से मना किया है. राष्ट्रपति ट्रंप ने उप राष्ट्रपति पेंस पर इसके लिए बहुत दबाव बनाया था. वोटों की गिनती के बाद जो जीतेगा उसके नाम की आधिकारिक घोषणा की जाएगी.

बाइडन चुनाव जीत चुके हैं, लेकिन ट्रंप लगातार अड़ंगा लगाने की कोशिश में हैं. ट्रंप ‘लिबरल' डेमोक्रेट्स सांसदों से भी चुनाव नतीजा पलटने में साथ देने की अपील कर रहे हैं, जबकि कई वरिष्ठ रिपब्लिकन सीनेटर भी ट्रंप की कोशिशों को ग़लत और हठधर्मिता बता चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज