• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • AMERICA DONALD TRUMP TELLS JOE BIDEN NOT TO FALL ASLEEP DURING MEETING WITH PUTIN NODTG

US-Russia: जेनेवा में होने वाली पुतिन-बाइडन मीटिंग पर बोले डोनाल्ड ट्रंप- जो कहीं सो मत जाना

डोनाल्ड ट्रंप, व्लादिमीर पुतिन और जो बाइडन (फाइल फोटो)

अमेरिका के राष्‍ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) सत्‍ता में आने के बाद रूस के राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) से पहली बार मुलाकात करने जा रहे हैं. इस बीच पूर्व अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने बाइडन पर तंज कसा है.

  • Share this:
    वॉशिंगटन. कोरोना वायरस संकट के बीच अमेरिकी राष्‍ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) स्विट्जरलैंड के जिनेवा शहर में रूसी राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) के साथ एक बेहद अहम बैठक करने जा रहे हैं. बाइडन के राष्‍ट्रपति बनने के बाद यह उनका पहला विदेश दौरा है. अमेरिकी चुनाव प्रचार के दौरान पुतिन पर जोरदार हमला करने वाले बाइडन के रुख पर दुनियाभर की नजरें हैं. इस बीच पूर्व अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने बाइडन को शुभकामनाएं दी हैं और साथ ही चेताया है कि वार्ता के दौरान सो मत जाना.

    डोनाल्‍ड ट्रंप ने एक ईमेल संदेश में कहा, 'जो बाइडन राष्‍ट्रपति पुतिन के साथ मुलाकात के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं. बैठक के दौरान सो मत जाना और हां कृपया उन्‍हें मेरी गर्मजोशीभरी शुभकामनाएं देना.' डोनाल्‍ड ट्रंप पिछले साल चुनाव प्रचार के दौरान बाइडन को 'स्लिपी जो' बुलाते रहे हैं. उन्‍होंने कई बार दावा किया था कि बाइडन का मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य लगातार गिरता जा रहा है.

    अमेरिका के साथ संबंधों में सुधार करने के लिए रूस चीन से दूरी नहीं बनाएगा. बाइडन और पुतिन के बीच महत्वपूर्ण शिखर सम्मेलन से पहले बृहस्पतिवार को यह बात रूस के एक शीर्ष राजनयिक ने कही. बाइडन 16 जून को जिनेवा में पुतिन के साथ बैठक करेंगे जिसमें कई मुद्दों पर चर्चा होने की संभावना है. अमेरिका-रूस के बीच तनावों के बीच दोनों नेता पहली बार आमने-सामने मिलेंगे.

    ये भी पढ़ें: अमेरिकी राष्ट्रपति का सुरक्षा घेरा तोड़कर कीड़े ने किया 'हमला' , देखें वीडियो

    चीन में रूस के राजदूत आंद्रे डेनिसोव ने चीन के सरकारी ‘ग्लोबल टाइम्स’ से बृहस्पतिवार को कहा, ‘रूस, अमेरिका को लेकर चीन से दूरी नहीं बनाएगा.’ पुतिन ने तीन जून को विदेशी मीडिया के साथ डिजिटल वार्ता में शिन्हुआ संवाद समिति से कहा था कि रूस-चीन के संबंध ‘अभूतपूर्व रूप से उच्च स्तर’ पर हैं और दोनों पक्षों के बीच व्यापक साझा हित हैं. बाइडन-पुतिन शिखर सम्मेलन को लेकर बीजिंग में चिंतााएं हैं क्योंकि वॉशिंगटन अमेरिका और यूरोपीय संघ के खिलाफ चीन के साथ गठबंधन करने के रूसी नेता को प्रयास को नरम करने का प्रयास करेगा.