अमेरिका में 'फ्लोरेंस' तूफान का विकराल रूप, 5 की मौत

नेशनल हर्रिकेन सेंटर (एनएचसी) ने शनिवार सुबह कहा कि फ्लोरेंस तूफान के धीरे-धीरे कमजोर होने का पूर्वानुमान लगाया गया है लेकिन यह अगले कुछ दिन में और आगे बढ़ेगा.

भाषा
Updated: September 15, 2018, 11:05 PM IST
अमेरिका में 'फ्लोरेंस' तूफान का विकराल रूप, 5 की मौत
'फ्लोरेंस' के विकराल रूप लेने के कारण कैरोलिना में भयानक बाढ़. (Photo:AP)
भाषा
Updated: September 15, 2018, 11:05 PM IST
ऊष्ण कटिबंधीय तूफान 'फ्लोरेंस' के विकराल रूप लेने के कारण शनिवार को कैरोलिना में भयानक बाढ़ आ गयी है. अधिकारियों ने चार लोगों की मौत की पुष्टि की है, वहीं अमेरिकी मीडिया ने पांच लोगों के मारे जाने की बात कह रही है. अमेरिका के पूर्वी राज्यों में इस तूफान के चलते मूसलाधार बारिश हो रही है और नदियां उफान पर हैं.

नेशनल हर्रिकेन सेंटर (एनएचसी) ने शनिवार सुबह कहा कि फ्लोरेंस तूफान के धीरे-धीरे कमजोर होने का पूर्वानुमान लगाया गया है लेकिन यह अगले कुछ दिन में और आगे बढ़ेगा. ट्रेंट और नियूज नदियों के संगम पर स्थित उत्तरी कैरोलिना के न्यू बर्न कस्बे में तीन मीटर की दूरी तक तूफान के बढ़ने से सैकड़ों लोग अपने घरों में फंस गए हैं. इस कस्बे की कुल आबादी लगभग 30,000 है.

उत्तरी कैरोलिना के गवर्नर रॉय कूपर ने कहा, 'अभी कई और दिन बारिश होने की आशंका है. साथ ही उन्होंने तूफान से होने वाली बारिश को हजार सालों में होनी वाली घटना करार दिया.' कूपर ने कहा कि अगले हफ्ते तक हमारी नदियों का उफान पर रहना जारी रहेगा और इससे भी ज्यादा बाढ़ आएगी.

कूपर ने बताया कि न्यू हेनोवर काउंटी में मारे गए मां और बच्चे की मौत उनके घर पर पेड़ गिरने से हुई और एक व्यक्ति की मौत लेनॉइर काउंटी में जेनरेटर चलाते वक्त हुई. स्थानीय अधिकारियों ने पेंडर काउंटी में एक अन्य मौत की भी खबर दी है. जहां पेड़े गिरने की वजह से एक महिला तक आपात सेवाएं नहीं पहुंच पाई. स्थानीय मीडिया ने कहा है कि महिला को दिल का दौरा पड़ा था.

व्हाइट हाउस ने कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अगले हफ्ते तूफान प्रभावित इलाकों का दौरा कर सकते हैं. उससे पहले सुनिश्चित कर लिया जाएगा कि उनके दौरे की वजह से राहत या बचाव कार्य प्रभावित तो नहीं होंगे.
Loading...

और भी देखें

Updated: November 18, 2018 04:55 AM ISTअब 1000 ग्राम का नहीं रहा एक किलो! जानिए क्या होगा आप पर असर?
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर