जॉर्जिया में आज रन ऑफ इलेक्शन, जो बाइडन के लिए जीत क्यों है जरूरी?

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन. फोटो:AP

Run Of Election in Election: अमेरिका के जॉर्जिया (Georgia) में सीनेट के लिए हो रहा मतदान जो बाइडन (Joe Biden) और डेमोक्रेटिक पार्टी (Democratic Party) दोनों के लिए अतिमहत्वपूर्ण है. इस चुनाव में 40 लाख से ज्यादा मतदाताओं के वोटिंग किए जाने की संभावना है. इन चुनावों के नतीजे भारतीय समयानुसार बुधवार की शाम तक आने की उम्मीद है.

  • Share this:
    जॉर्जिया. अमेरिका के जॉर्जिया (Georgia) में सीनेट के लिए हो रहा मतदान जो बाइडन (Joe Biden) और डेमोक्रेटिक पार्टी (Democratic Party) दोनों के लिए अतिमहत्वपूर्ण है. इस चुनाव में 40 लाख से ज्यादा मतदाताओं के वोटिंग किए जाने की संभावना है. इन चुनावों के नतीजे भारतीय समयानुसार बुधवार की शाम तक आने की उम्मीद है. इन चुनावों के परिणाम सीनेट में शक्ति के संतुलन को निर्धारित करेगा, जो आगे चलकर जो बाइडन के विधायी एजेंडा को तय करने में मदद करेगा. यह चुनाव राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा जॉर्जिया राज्य के सचिव ब्रेड रेफ़ेनस्पर्जर को विवादित फोन कॉल के बाद कराया जा रहा है. आपको बता दें कि डेमोक्रेट उम्मीदवार जो बाइडन ने राष्ट्रपति चुनावों में जॉर्जिया प्रांत में जीत हासिल की थी.

    ट्रंप ने ब्रेड रेफ़ेनस्पर्जर से मांगे थे वोट

    न्यूज़ एजेंसी 'रॉयटर्स' के मुताबिक वॉशिंगटन पोस्ट ने 2 जनवरी 2021 को ये रिकॉर्डिंग जारी की थी. इस रिकॉर्डिंग में ट्रंप रिपब्लिकन सेक्रेट्री ऑफ स्टेट ब्रेड रेफ़ेनस्पर्जर से कह रहे हैं— 'मैं बस 11,780 वोट चाहता हूं. इसका इंतजाम किया जाए.' वहीं, इसके जवाब में रेफ़ेनस्पर्जर ट्रंप से कह रहे हैं कि जॉर्जिया के नतीजे सहीं हैं. अब कुछ नहीं हो सकता.

    फोन कॉल को लेकर ट्रंप की हुई निंदा

    ट्रंप के इस फोन कॉल की कड़ी आलोचना की गई. यहां तक कि डेमोक्रेट्स और राजनीतिक विशेषज्ञों ने महाभियोग चलाने की बात की थी ताकि वह भविष्य में कोई भी चुनाव ना लड़ सकें. इसी बीच राष्ट्रपति ट्रप चुनाव से दो दिन पहले रिपब्लिकन उम्मीदवारों के लिए प्रचार करने निकल पड़े. रॉयटर्स के अनुसार, राष्ट्रपति ट्रंप ने धमकी दी है कि अगर डेमोक्रेट्स उम्मीदवार इन दोनों सीटों पर जीत जाते हैं और अमेरिकी संसद में बहुमत हासिल कर लेते हैं तो उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने होंगे. उन्होंने अपने समर्थकों से कहा कि अगर वो जीत जाते हैं, देखो क्या होता है? ट्रंप लगातार दावा करते आए हैं कि जॉर्जिया में चुनावों के दौरान धांधली हुई थी. वहीं ब्रेड रेफ़ेनस्पर्जर ने उनके बयानों को झूठा बताया.

    रन ऑफ इलेक्शन क्या होता है?

    कोई भी उम्मीदवार जब 50 फीसदी वोट हासिल नहीं कर पाता है तब उस हालात में रन आफ इलेक्शन कराए जाते हैं. नवंबर 2020 में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन केली लोफ्लर और डेविड पेरड्यू बहुमत पाने में असफल रहे. लोफेलर को राफेल वार्नॉक के खिलाफ खड़ा किया गया था और परड्यू को जॉन ओस्ऑफ के खिलाफ खड़ा किया गया था.

    ये भी पढ़ें: PAK: सुप्रीम कोर्ट ने हिंदू मंदिर के पुर्ननिर्माण का दिया आदेश, मौलवी से वसूली जाएगी राशि

    मरियम नवाज ने PM इमरान खान से कहा- 31 जनवरी तक गद्दी छोड़ दें, अन्यथा जनता लेगी फैसले


    जॉर्जिया में आम वोटरों का झुकाव आमतौर पर रिपब्लिकन पार्टी की ओर रहता है. हालांकि इस बार के चुनाव में लोगों ने डेमोक्रेट्स उम्मीदवारों को जिताया. अगर डेमोक्रेटिक पार्टी रन ऑफ इलेक्शन में दोनों ही सीटों पर जीत जाती हैं तो अमेरिकी सीनेट पर जो बाइडन और कमला हैरिस का अधिक नियंत्रण होगा. डेमोक्रेट्स और रिपब्लिकन के बीच सीनेट में 50:50 का विभाजन होगा जिसमें कमला हैरिस डेमोक्रेट्स के लिए टाई ब्रैकर का काम करेंगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.