ट्रंप को दी जा रही है ये 'स्पेशल दवा', अभी किसी और कोरोना मरीज के लिए उपलब्ध नहीं

ट्रंप को कोरोना इलाज के लिए दी जा रही दवा को अभी नहीं मिली है अनुमति
ट्रंप को कोरोना इलाज के लिए दी जा रही दवा को अभी नहीं मिली है अनुमति

Donald Trump Covid-19: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की सेहत में अब सुधार है और उनकी मेडिकल टीम के मुताबिक सोमवार को उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर व्हाइट हाउस में शिफ्ट किया जा सकता है. उधर रिपोर्ट्स में सामने आया है कि ट्रंप का इलाज एक ऐसी दवा से किया गया है जो कि ट्रायल में है और उसे अभी मंजूरी नहीं मिली है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 5, 2020, 4:18 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. कोरोना संक्रमण (Coronavirus) की चपेट में आए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) की सेहत में अब सुधार है. ट्रंप की हालत स्थिर बताई जा रही है और कहा जा रहा है कि सोमवार को उन्हें अस्पताल से व्हाइट हाउस शिफ्ट किया जा सकता है. मिली जानकारी के मुताबिक डॉक्टर्स ट्रंप का इलाज एक ऐसी एंटीबॉडी ड्रग से कर रहे हैं जो फिलहाल दूसरे कोरोना मरीजों के लिए उपलब्ध नहीं है.

CNBC की एक रिपोर्ट के मुताबिक यह एंटीबॉडी कॉकटेल ड्रग है और इसका नाम REGN-COV2 है. ट्रंप को इस दवा के 8 ग्राम का एक डोज दिया गया है जिसके बाद से उनकी हालत में अब सुधार है. ट्रंप की मेडिकल टीम ने बताया कि बीमारी के दौरान उनका ब्लड ऑक्सीजन लेवल दो बार गिरा था. हालांकि उनकी हालत अब ठीक है और उन्हें शुक्रवार शाम से फिर बुखार नहीं आया है. रिपोर्ट के मुताबिक उन्हें रेमडेसिविर की दूसरी डोज दी जा चुकी है और उनके लीवर और किडनी सामान्य तरीके से काम कर रहे हैं.

पहले ज्यादा खराब थी तबियत
व्हाइट हाउस के चीफ ऑफ स्टाफ मार्क मीडोज ने माना कि अधिकारियों ने जो पहले बताया था, ट्रंप की तबीयत उससे ज्यादा खराब थी. ट्रंप को न सिर्फ बुखार था बल्कि उनका ब्लड ऑक्सीजन लेवल भी तेजी से गिर रहा था. कोरोना पॉजिटिव होने के बाद अमेरिकी ट्रंप को मेरीलैंड के वॉल्टर रीड हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है. ट्रंप को दी जा रही दवा REGN-COV2 को अमेरिकी कम्पनी रीजेनेरन ने तैयार किया है. इस दवा में चूहे और कोरोना से रिकवर हुए मरीज की एंटीबॉडी का इस्तेमाल किया गया है. अभी तक ये ट्रायल में ही है.





डेलीमेल की रिपोर्ट के मुताबिक, जिन दो मरीजों का ट्रीटमेंट इस एंटीबॉडी ड्रग से हुआ है, उनमें साइडइफेक्ट दिखे हैं. उधर ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर पीटर हॉर्बी का कहना है, यह ड्रग सुरक्षित है. इसकी एक डोज से मरीज को 6 हफ्तों तक की सुरक्षा मिल जाती है. बता दें इस एंटीबॉडी के अलावा ट्रंप को कोरोना के ट्रीटमेंट में रेमडेसेविर, जिंक, विटामिन-डी, फेमोटिडिन, मेलाटोनिन और एस्प्रिन दी जा रही है. रेमडेसेविर एंटी-वायरल ड्रग है, जिसे इबोला का ट्रीटमेंट करने के लिए तैयार किया गया था. महामारी की शुरुआत से ही इसे कोरोना के मरीजों को दिया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज