Home /News /world /

पत्नी-बच्चों की हत्या करने वाले भारतवंशी को US में मिली उम्र कैद, सजा के दौरान नहीं मिलेगी पैरोल

पत्नी-बच्चों की हत्या करने वाले भारतवंशी को US में मिली उम्र कैद, सजा के दौरान नहीं मिलेगी पैरोल

हांगुड को एक अदालत ने उम्र कैद की सज़ा सुनाई है और उसे सज़ा के दौरान पैरोल पर भी नहीं छोड़ा जा सकेगा. (File Photo)

हांगुड को एक अदालत ने उम्र कैद की सज़ा सुनाई है और उसे सज़ा के दौरान पैरोल पर भी नहीं छोड़ा जा सकेगा. (File Photo)

Indian origin man sentenced to life in US: भारतवंशी आईटी पेशेवेर शंकर नगाप्पा हांगुड ने अपनी पत्नी, बेटी और छोटे बेटे की रोजविले फ्लैट में सात अक्टूबर को कथित रूप से हत्या कर दी थी. उसने बाद में रोजविले और माउंट शास्ता के बीच में कहीं पर अपने बड़े बेटे की भी हत्या कर दी थी. उसने माउंट शास्ता में ही 13 अक्टूबर को आत्मसमर्पण किया था. पुलिस ने उस वक्त कहा था कि हांगुड ने एक हफ्ते के दौरान ये हत्याएं कीं. पत्नी तथा बेटी की हत्या तीन दिन के दौरान की गई हैं. चार मृतकों की पहचान हांगुड की 46 वर्षीय पत्नी ज्योति शंकर, उसके 20 साल के बेटे वरूम शंकर और 13 वर्षीय पुत्र निश्चल हांगुड और 16 साल की बेटी गौरी हांगुड के तौर पर की गई.

अधिक पढ़ें ...

    लॉस एंजिलिस (अमेरिका). अमेरिका में साल 2019 में अपनी पत्नी और तीन बच्चों की हत्या की बात कबूल करने वाले भारतवंशी आईटी पेशेवेर शंकर नगाप्पा हांगुड (Indian-origin IT professional Shankar Nagappa Hangud) को एक अदालत ने उम्र कैद की सज़ा सुनाई है और उसे सज़ा के दौरान पैरोल पर भी नहीं छोड़ा जा सकेगा. केसीआरए-टीवी की बुधवार की खबर के मुताबिक, जांचकर्ताओं ने कहा कि 55 साल के हांगुड ने कैलिफोर्निया स्थित अपने फ्लैट में कुछ दिनों के अंदर ही अपनी पत्नी और तीन बच्चों की हत्या करने का जुर्म कबूल किया है. उसका कहना था कि आर्थिक तंगी की वजह से यह कदम उठाया.

    खबर के मुताबिक, उसने प्लेसर काउंटी में सज़ा सुनाए जाने के दौरान कोई टिप्पणी नहीं की. हांगुड उस समय सुर्खियों में आया था जब उसने माउंट शास्ता पुलिस विभाग में जाकर अधिकारियों से कहा था कि उसने चार लोगों की हत्या की है. बाद में रोजविले पुलिस को उसकी पत्नी, दो बच्चों के शव जंक्शन रोड पर स्थित उसके फ्लैट में मिले. चौथा शव माउंट शास्ता थाने के बाहर खड़ी उसकी कार में से मिला. यह शव उसके बेटे का था.

    ये भी पढ़ें- मिलिए पाक सेना के उस ऑफिसर से जिसे भारत में मिल चुका है पद्मश्री सम्मान

    एक हफ्ते में की थीं चारों हत्याएं
    पुलिस ने उस वक्त कहा था कि हांगुड ने एक हफ्ते के दौरान ये हत्याएं कीं. पत्नी तथा बेटी की हत्या तीन दिन के दौरान की गई हैं. चार मृतकों की पहचान हांगुड की 46 वर्षीय पत्नी ज्योति शंकर, उसके 20 साल के बेटे वरूम शंकर और 13 वर्षीय पुत्र निश्चल हांगुड और 16 साल की बेटी गौरी हांगुड के तौर पर की गई.

    हांगुड ने अपनी पत्नी, बेटी और छोटे बेटे की रोजविले फ्लैट में सात अक्टूबर को कथित रूप से हत्या कर दी थी. उसने बाद में रोजविले और माउंट शास्ता के बीच में कहीं पर अपने बड़े बेटे की भी हत्या कर दी थी. उसने माउंट शास्ता में ही 13 अक्टूबर को आत्मसमर्पण किया था.

    ये भी पढ़ें- ISIS का ‘जहन्नुम वाला चौक’ अब प्रेमी जोड़ों के लिए बन गया है मीटिंग प्वाइंट

    प्लेसर काउंटी के मुख्य सहायक जिला अटॉर्नी डेविड टेलमेन ने एक बयान मे कहा कि इन लोगों की मौत ने इस समुदाय को बुरी तरह हिला दिया था और इंसाफ देखने के लिए परिवार का कोई सदस्य जीवित नहीं है.

    अभियोजकों ने कहा कि हांगुड ने दावा किया है कि उसकी आईटी की नौकरी चली गई थी जिस वजह से वह निराश था और परेशानियों से घिरा हुआ था.

    Tags: America, California, Indian origin, Life imprisonment, Murder case

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर