लाइव टीवी

भारत के नए नागरिकता कानून से पड़ने वाले असर को लेकर अमेरिका ने जताई चिंता

भाषा
Updated: December 14, 2019, 1:02 PM IST
भारत के नए नागरिकता कानून से पड़ने वाले असर को लेकर अमेरिका ने जताई चिंता
CAB पर बोले अमेरिका के विशेष राजदूत सैम ब्राउनबैक

अमेरिका के विशेष राजदूत सैम ब्राउनबैक ने कहा, एक साथी लोकतंत्र के तौर पर, हम भारत के संविधान का सम्मान करते हैं, लेकिन कैब से पड़ने वाले असर को लेकर चिंतित हैं.

  • Share this:
वाशिंगटन. अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता पर नजर रखने वाले अमेरिका के एक राजनयिक ने कहा कि भारत में नागरिकता (संशोधन) कानून (CAA) से पड़ने वाले असर को लेकर अमेरिका चिंतित है.

अंतरराष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता के लिए अमेरिका के विशेष राजदूत सैम ब्राउनबैक (Sam Brownback) ने ट्वीट किया, 'भारत का संविधान उसकी महान ताकतों में से एक है. एक साथी लोकतंत्र के तौर पर, हम भारत के संविधान का सम्मान करते हैं, लेकिन कैब से पड़ने वाले असर को लेकर चिंतित हैं.' उन्होंने कहा, हम उम्मीद करते हैं कि सरकार धार्मिक स्वतंत्रता सहित संविधान की अपनी प्रतिबद्धताओं का पालन करेगी.



भारत और अमेरिका के बीच अगले सप्ताह होने वाली ‘2+2’ वार्ता से पहले उनका यह बयान आया है. विदेश मंत्री एस. जयशंकर और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ और अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर के साथ 18 दिसंबर को दूसरे दौर की ‘2+2’ वार्ता करने के लिए अगले हफ्ते वाशिंगटन आएंगे.इस बीच, भारतीय अमेरिकी मुस्लिम काउंसिल द्वारा आयोजित एक संसदीय बैठक में एमगेज एक्शन और हिंदूज फॉर ह्यूमन राइट्स, ग्रेगरी स्टैनटन ऑफ जेनोसाइड वॉच ने गुरुवार को कश्मीर और असम में मानवाधिकारों की स्थिति को लेकर चिंता जाहिर की.

विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मोर्गन ऑर्टागस ने एक ट्वीट में कहा था, भारत-अमेरिका 2+2 मंत्री स्तर की वार्ता हमारे बीच बढ़ रही रणनीतिक साझेदारी का संकेत है और महत्वपूर्ण कूटनीतिक और रक्षा मुद्दों पर चर्चा करने के लिए एक मंच प्रदान करती है. इस साल की वार्ता पिछले साल की सफल वार्ता को आगे बढ़ाने तथा साझेदारी को और मजबूत करने का अवसर देगी.

ऑर्टागस ने कहा था कि भारत और अमेरिका में काफी समानता है, दोनों ही लोकतंत्र हैं जिनके लोगों के बीच आपसी संबंध मजबूत होते जा रहे हैं. हम लोग समुद्र में, हवा में और यहां तक अंतरिक्ष में भी साझेदार हैं.

ये भी पढ़ें : सबसे बड़े 2 लोकतंत्र के बीच साझेदारी गहरा करने का अवसर है 2+2 वार्ता: अधिकारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 14, 2019, 12:22 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर