Home /News /world /

एक मई को अफगानिस्तान से सैनिकों की वापसी की समयसीमा को आगे बढ़ा सकता है अमेरिका

एक मई को अफगानिस्तान से सैनिकों की वापसी की समयसीमा को आगे बढ़ा सकता है अमेरिका

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (फाइल फोटो)

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (फाइल फोटो)

अमेरिका अफगानिस्तान से अपने सैनिकों को वापस बुलाने की समयसीमा फिर से बढ़ सकती है. बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने अफगानिस्तान से 1 मई को सैनिकों को वापस बुलाने का फैसला किया था.

  • Agency
  • Last Updated :
    वाशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों को वापस बुलाने की एक मई की समयसीमा को बढ़ाने का फैसला किया है जो डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन ने तालिबान के साथ बातचीत करके तय की थी. अमेरिका के एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी कि बाइडन प्रशासन ने अब सैनिकों को अफगानिस्तान में रहने देने के लिए नयी समयसीमा के रूप में 11 सितंबर के हमलों की 20वीं बरसी को तय किया है.

    अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं होने की शर्त पर बाइडन के इस फैसले की जानकारी दी. हालांकि इसकी आधिकारिक घोषणा अभी नहीं हुई है. दरअसल, डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन में सैनिकों की वापसी की समयसीमा मई में तय की गई थी. लेकिन अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की वापसी की अंतिम तारीख एक मई का पालन नहीं कर पाएंगे, वापसी के लिए 9/11 के तौर पर नया लक्ष्य रखा है.

    बाइडन ने व्हाइट हाउस के ‘ईस्ट रूम’ में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि एक मई की समय सीमा में काम समाप्त करना मुश्किल होगा, उन सैनिकों को वहां से बाहर निकालना मुश्किल होगा. इसलिए जो हम कर रहे हैं, जो मैं कर रहा हूं और जो विदेश मंत्री टोनी ब्लिंकन कर रहे हैं. वह यह है कि हम अपने सहयोगियों से मिल रहे हैं, उन अन्य देशों से जो नोटो सहयोगी हैं, जिनके सैनिक भी अफगानिस्तान में है. अगर हम वहां से अपने सैनिकों को वापस लाएंगे तो, इसे सुरक्षित तथा व्यवस्थित तरीके से करेंगे.’

    Tags: Afganistan, Donald Trump, Joe Biden

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर