अमेरिका में भारतीय मूल के पूरे परिवार की हत्या, घर में घुसकर बाप-मां-बेटों को मारी गोली

अमेरिकी पुलिस का कहना है कि सबको गोली मारी गई है. लेकिन इलाके की सुरक्षा अब पूरी तरह से पुलिस ने अपने हाथ में ले ली है.

News18Hindi
Updated: June 17, 2019, 1:58 PM IST
अमेरिका में भारतीय मूल के पूरे परिवार की हत्या, घर में घुसकर बाप-मां-बेटों को मारी गोली
इस घर में घटी घटना.
News18Hindi
Updated: June 17, 2019, 1:58 PM IST
अमेरिका के पश्चिमी डेस मोइनेस शहर में भारतीय मूल के चार लोगों की हत्या कर दी गई है. अमेरिकी पुलिस की ओर से ‌मिली जानकारी के अनुसार सभी चार लोगों के शव उनके घर से बरामद कर लिए गए हैं. सभी की गोली मारकर हत्या की गई है. लेकिन अभी हमलावरों के बारे में पुलिस को कोई सुराग हाथ नहीं लगा है. जबकि दशहतगर्दों ने उनके घर में घुसकर कई राउंड फायरिंग की है.

सीएनएन की खबर के अनुसार मृतकों में चंद्रशेखर शंकरा (44) उनकी पत्नी लावन्या शंकरा (41) और उनके दो बेटे हैं. इनमें पहले की उम्र 15 और दूसरे की उम्र 10 साल है. जानकारी के अनुसार इस घटना को शनिवार आधी रात के बाद अंजाम दिया गया. जानकारी के अनुसार घर में इस परिवार के अलावा चार अन्य लोग भी घर में रहते थे घटना के बाद जब उनकी नींद खुली तो वे सहायता के लिए इधर उधर भागे और अमेरिकी पुलिस आपाकालीन नंबर 911 पर फोन किया.

पुलिस का कहना है कि सबको गोली मारी गई है. लेकिन इलाके की सुरक्षा अब पूरी तरह से पुलिस ने अपने हाथ में ले ली है. अब इस समुदाय के दूसरे लोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं है.

हालांकि पुलिस ने यह भी माना कि चंद्रशेखर के घर में इस तरह की घटना के बाद उनके साथ काम करने वाले सहकर्मी, उनके रिश्तेदार व उनके दोस्त भी डरे हुए हैं. लेकिन पुलिस उन्हें भरोसा दिला रही है कि उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी अमेरिकी पुलिस की है.

अमेरिका के लोवा ‌डिपार्टमेंट ऑफ पब्लिक सेफ्टी (DPS) ने यह बताया है कि चंद्रशेखर पिछले 11 साल से अमेरिका में बतौर आईटी प्रोफेशनल काम कर रहे थे. वे अमेरिका के सूचना प्रौद्यौगिकी विभाग में बतौर प्रौद्यौगिकी सेवा ब्यूरो कार्यरत थे. अभी उनकी हत्या के पीछे के मंसूबों के बारे में भी कोई ठोस जानकारी पुलिस के हाथ नहीं लगी है.

पुलिस को अब तक मामले में बस इतनी जानकारी मिल पाई कि यह परिवार हाल ही में इस घर में शिफ्ट हुआ था. रीयल स्टेट से मिली जानकारी के अनुसार इसी साल मार्च महीने में ही यह परिवार इस नये घर में रहने के लिए आया था.
First published: June 17, 2019, 1:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...