अमेरिका: पहली बार एक महिला और अश्वेत शख्स को चांद पर भेजेगा NASA

कॉन्सेप्ट इमेज.

कॉन्सेप्ट इमेज.

नासा (NASA) ने आर्टेमिस नामक एक अंतरराष्ट्रीय स्पेसफ्लाइट कार्यक्रम के तहत जल्द ही अश्वेत व्यक्ति को पहली बार चांद (Moon) पर उतारने का फैसला किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2021, 4:17 PM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) ने आर्टेमिस नामक एक अंतरराष्ट्रीय स्पेसफ्लाइट कार्यक्रम के तहत जल्द ही अश्वेत व्यक्ति को पहली बार चांद पर उतारने का फैसला किया है. इसके तहत बड़ा कदम उठाते हुए, बाइडन-हैरिस प्रशासन पहले महिला और फिर पुरुष को चांद की सतह पर उतारेगा.

शुक्रवार को प्रशासन ने कांग्रेस के लिए 2022 के विवेकाधीन खर्च के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन की प्राथमिकताओं को प्रस्तुत किया. इस दौरान नासा के प्रशासक स्टीव जुर्स्की ने कहा, ‘यह लक्ष्य सभी के लिए इक्विटी के विचार को आगे बढ़ाने के लिए राष्ट्रपति बिडेन की प्रतिबद्धता को रेखांकित करता है.’ दिसंबर में आर्टेमिस कार्यक्रम के लिए अंतरिक्ष यात्रियों के पहले कैडर की घोषणा की गई थी, 2024 में आर्टेमिस III के लिए पहले दो चालक दल के सदस्यों की घोषणा की जानी बाकी है.

ये भी पढ़ें: अमेरिका: क्या अगला राष्ट्रपति चुनाव लड़ेंगे 'द रॉक', 46% लोगों ने किया उम्मीदवारी का समर्थन

NASA के कार्यकारी ऐडमिनिस्ट्रेटर स्टीव जर्कजीक ने बताया कि प्रशासन ने 24.7 अरब डॉलर की फंडिंग का प्रस्ताव कांग्रेस के सामने रखा है जो NASA के लिए प्रतिबद्ध दिखाता है. बयान में बताया गया है कि चांद पर पहली महिला और पहले अश्वेत शख्स को भेजने के मिशन के लिए इससे मदद मिलेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज