• Home
  • »
  • News
  • »
  • world
  • »
  • दुनिया के सबसे होनहार छात्रों में शामिल भारतीय मूल की 11 वर्षीय नताशा

दुनिया के सबसे होनहार छात्रों में शामिल भारतीय मूल की 11 वर्षीय नताशा

पीटीआई के मुताबिक इस टैलेंट सर्च प्रतियोगिता में दुनिया भर के 84 देशों के 19,000 छात्रों ने हिस्सा लिया था. फाइल फोटो

पीटीआई के मुताबिक इस टैलेंट सर्च प्रतियोगिता में दुनिया भर के 84 देशों के 19,000 छात्रों ने हिस्सा लिया था. फाइल फोटो

John Hopkins Center for talented youth: टैलेंट सर्च प्रतियोगिता में दुनिया भर के 84 देशों के 19,000 छात्रों ने हिस्सा लिया था. नताशा पेरी इस प्रतियोगिता में तब शामिल हुईं जब वो ग्रेड पांच की स्टूडेंट थीं.

  • Share this:

    वॉशिंगटन. अमेरिका (America) में स्कूल जाने वाले बच्चों के बीच चलाए जाने वाले गिफ्टेड एजुकेशन प्रोग्राम (Gifted Education Programme) ने एक भारतीय मूल की 11 वर्षीय बच्ची को दुनिया की सबसे मेधावी स्टूडेंट्स में से एक घोषित किया है. न्यूजर्सी स्थित थेल्मा एल सैंडमाइर एलिमेंट्री स्कूल की छात्रा नताशा पेरी (Natasha Peri) को SAT, ACT और अन्य परीक्षाओं में बेहतरीन प्रदर्शन के लिए सम्मानित किया गया है. इन परीक्षाओं का आयोजन जॉन हॉपकिन्स सेंटर फॉर टैलेंटेड यूथ (CTY) की ओर से टैलेंट सर्च अभियान के तौर पर किया गया था.

    डूडलिंग और जेआरआर टॉल्किन के उपन्यास पढ़ना पसंद करने वाली पेरी ने जॉन हॉपकिन्स द्वारा आयोजित हाई ऑनर अवॉर्ड में अपनी जगह बनाई और उन 20 फीसदी बच्चों में शामिल हुई जिन्होंने टैलेंट सर्च अभियान में हिस्सा लेकर अवॉर्ड के लिए क्वालिफाई किया. पीटीआई से बातचीत में पेरी ने कहा, “इससे मुझे और ज्यादा बेहतर करने की प्रेरणा मिलती है.”

    पीटीआई के मुताबिक इस टैलेंट सर्च प्रतियोगिता में दुनिया भर के 84 देशों के 19,000 छात्रों ने हिस्सा लिया था. पेरी इस प्रतियोगिता में तब शामिल हुईं जब वो ग्रेड पांच की स्टूडेंट थीं. परीक्षा का आयोजन 2021 की गर्मियों में किया गया था. रिपोर्ट के मुताबिक पेरी का मौखिक और क्वान्टिटेटिव सेक्शन की परीक्षा में रिजल्ट एडवांस ग्रेड-8 के 90 फीसदी के बराबर माना गया.

    बाल्टीमोर स्थित जॉन्स हॉपकिन्स सेंटर फॉर टैलेंटेड यूथ दुनिया भर के प्रतिभाशाली छात्रों की पहचान करने के लिए ग्रेड लेवल टेस्टिंग प्रक्रिया का उपयोग करता है. परीक्षा के जरिए छात्रों की वास्तविक शैक्षणिक क्षमताओं की स्पष्ट तस्वीर भी उभरकर सामने आती है.

    जॉन्स हॉपकिन्स सेंटर फॉर टैलेंटेड यूथ की एक्जीक्यूटिव डायरेक्टर वर्जिनिया रोच ने एक बयान में कहा, “हम इन छात्रों के साथ सेलेब्रेट करने के लिए रोमांचित हैं,. एक साल में जो कुछ भी सामान्य था, वह सीखने के प्रति उनकी ललक के चलते बदल गया है. हम हाई स्कूल, कॉलेज और उससे आगे की पढ़ाई में विद्वानों और नागरिकों के रूप में उनकी मदद करने के लिए उत्साहित हैं.”

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज