नोवावैक्स: स्‍टडी में दावा लगभग 90% प्रभावी है COVID-19 वैक्‍सीन

वैक्सीन निर्माता नोवावैक्स ने कहा कि उसका वैक्‍सीन COVID-19 के खिलाफ अत्यधिक प्रभावी है. (प्रतीकात्‍मक चित्र )

वैक्सीन निर्माता नोवावैक्स (Novavax) ने कहा है कि उसकी वैक्‍सीन (Novavax Vaccine), COVID-19 के खिलाफ अत्यधिक प्रभावी और वेरिएंट्स के विरूद्ध भी यह कई प्रकार से सुरक्षित है. यह तथ्‍य अमेरिका और मेक्सिको में हुए एक नए और बड़े अध्‍ययन से सामने आया है. अमेरिका और मेक्सिको में हुई एक लेट-स्‍टेज स्‍टडी (study) में कई बातों की जानकारी मिली है. वैक्सीन निर्माता नोवावैक्स ने कहा कि वैक्‍सीन, कुल मिलाकर लगभग 90% प्रभावी रहा.

  • Share this:

    नई दिल्ली. वैक्सीन निर्माता नोवावैक्स (Novavax) ने सोमवार को कहा कि उसकी वैक्‍सीन (Novavax Vaccine),  COVID-19 के खिलाफ अत्यधिक प्रभावी और वेरिएंट्स के विरूद्ध भी यह कई प्रकार से सुरक्षित है. यह तथ्‍य अमेरिका (America) और मेक्सिको (Mexico) में हुए एक नए और बड़े अध्‍ययन से सामने आया है. अमेरिका और मेक्सिको में हुई एक लेट-स्‍टेज स्‍टडी (study) में कई बातों की जानकारी मिली है. वैक्सीन निर्माता नोवावैक्स ने कहा कि वैक्‍सीन, कुल मिलाकर लगभग 90% प्रभावी रहा और प्रारंभिक आंकड़ों से पता चलता है कि यह सुरक्षित था. अमेरिका में COVID-19 वैक्सीन की मांग में गिरावट आई है, इसके अलावा दुनिया भर में और अधिक टीकों की आवश्यकता महत्वपूर्ण बनी हुई है.


    नोवावैक्‍स का कहना है यह वैक्‍सीन संग्रह करने और परिवहन करने में आसान है. नोवावैक्‍सीन से उम्‍मीद है कि वह विकासशील देशों में वैक्‍सीन को भेजने में अहम भूमिका निभाएगा. हालांकि, वह मदद अभी भी महीनों दूर है. कंपनी का कहना है कि वह सितंबर के अंत तक यू.एस., यूरोप और अन्य जगहों पर शॉट्स के लिए अनुमति लेने की योजना बना रही है और तब एक महीने में दस करोड़ (100 मिलियन) खुराक का उत्पादन करने में सक्षम भी हो जाएगी. नोवावैक्स के मुख्य कार्यकारी स्टेनली एर्क ने बताया कि हमारी कई पहली खुराकें निम्न और मध्यम आय वाले देशों में जाएंगी, और यही लक्ष्य रखा था.


    ये भी पढ़ें  COVID-19: 6 से 12 साल के बच्चों में कोवैक्सीन की टेस्टिंग के लिए AIIMS में नामांकन शुरू


    अवर वर्ल्ड इन डेटा के अनुसार, जब अमेरिका की आधी से अधिक आबादी को कम से कम एक COVID-19 वैक्सीन की खुराक मिल गई थी, तब विकासशील देशों में 1 प्रतिशत से भी कम लोगों को एक वैक्‍सीन मिल सकता था. नोवावैक्स के अध्ययन में अमेरिका और मेक्सिको में 18 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लगभग 30,000 लोग शामिल थे. इनमें से करीब दो-तिहाई को तीन सप्ताह के अंतराल में टीके की दोनों खुराकें मिलीं और बाकी को डमी शॉट मिले.


    ये भी पढ़ें डिकोडिंग लॉन्ग कोविडः एक्सपर्ट से समझें महिला स्वास्थ्य और पुरुषों की प्रजनन शक्ति पर कोविड का असर


    COVID-19 के 77 मामले थे, जबकि वैक्सीन पाने वाले समूह में 14 लोगों को ही वैक्‍सीन लगी थी और बाकी डमी शॉट्स प्राप्त करने वाले स्वयंसेवकों में थे. प्लेसीबो ग्रुप में 14 की तुलना में वैक्सीन समूह में किसी को भी मध्यम या गंभीर बीमारी नहीं थी. वैक्सीन, ब्रिटेन में मिले वैरिएंट और अमेरिका के प्रभावी वैरिएंट सहित कोविड-19 के कई वैरिएंट्स के खिलाफ समान रूप से प्रभावी थी. वैक्‍सीन बुजुर्गों और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं वाले लोगों सहित उच्च जोखिम वाली आबादी में भी प्रभावी रही. वैक्‍सीन लगवाने वालों में से ज्‍यादातर ने कहा कि इंजेक्शन स्थल पर हल्का सा दर्द रहा. एर्क ने कहा कि असामान्य रक्त के थक्के या दिल की समस्याओं की कोई रिपोर्ट नहीं थी. नोवावैक्स ने एक प्रेस विज्ञप्ति में परिणामों की सूचना दी और एक मेडिकल जर्नल में प्रकाशित करने की योजना बनाई, जहां स्वतंत्र विशेषज्ञों द्वारा इसकी जांच की जाएगी. मैरीलैंड स्थित कंपनी ने पहले ब्रिटेन और दक्षिण अफ्रीका में छोटे अध्ययनों से निष्कर्ष जारी किए.




    COVID-19 टीके शरीर को कोरोना वायरस को पहचानने के लिए प्रशिक्षित करते हैं, विशेष रूप से उस स्पाइक प्रोटीन को जो इसे कोट करता है, जब पहचान हो जाती है तो वैक्‍सीन, वायरस से लड़ने के लिए तैयार हो जाता है. नोवावैक्स वैक्सीन उस प्रोटीन की प्रयोगशाला में विकसित प्रतियों से बनाई गई है. यह अब व्यापक रूप से उपयोग किए जाने वाले कुछ अन्य टीकों से अलग है, जिनमें शरीर को अपना स्पाइक प्रोटीन बनाने के लिए आनुवांशिक निर्देश शामिल हैं. नोवावैक्स वैक्सीन को मानक रेफ्रिजरेटर में संग्रहित किया जा सकता है, जिससे इसे वितरित करना आसान हो जाता है. नोवावैक्स ने पहले आपूर्ति की कमी के कारण विनिर्माण में देरी की घोषणा की थी. कंपनी को अब सितंबर के अंत तक एक महीने में 100 मिलियन खुराक और दिसंबर तक 150 मिलियन खुराक एक महीने में उत्पादन तक पहुंचने की उम्मीद है. कंपनी ने अगले वर्ष अमेरिका को 110 मिलियन खुराक और विकासशील देशों को कुल 1.1 बिलियन खुराक की आपूर्ति करने के लिए प्रतिबद्ध किया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.