डेनियल पर्ल के हत्यारे को रिहा करने के पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अमेरिका लाल!

डेनियल पर्ल द वॉल स्ट्रीट जर्नल के साउथ एशिया क्षेत्र के ब्यूरो चीफ थे

डेनियल पर्ल (Daniel Pearl) द वॉल स्ट्रीट जर्नल के साउथ एशिया क्षेत्र के ब्यूरो चीफ थे. वो साल 2002 में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई और आतंकी संगठन अलकायदा के बीच कथित सांठगांठ पर स्टोरी करने के लिए सुराग ढूंढ रहे थे जब उनकी अगवा कर हत्या कर दी गई थी.

  • Share this:
    वाशिंगटन. पाकिस्तान (Pakistan) के सुप्रीम कोर्ट ने 2002 में डेनियल पर्ल (Daniel Pearl) के अपहरण और हत्या के मामले में दोषियों को रिहा करने का फैसला सुनाया है. पाकिस्तानी अदालत के इस फैसले के बाद अमेरिका ने इस निर्णय पर नराजगी जाहिर की है. व्हाइट हाउस ने फैसले पर आक्रोश जताते हुए कहा है कि ये फैसला दुनिया में आतंकवाद से पीड़ित लोगों का अपमान है.

    डेनियल पर्ल द वॉल स्ट्रीट जर्नल के साउथ एशिया क्षेत्र के ब्यूरो चीफ थे. वो साल 2002 में पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई और आतंकी संगठन अलकायदा के बीच कथित सांठगांठ पर स्टोरी करने के लिए सुराग ढूंढ रहे थे जब उनकी अगवा कर हत्या कर दी गई थी.



    गुरुवार को पाकिस्तान की कोर्ट ने अल कायदा के आतंकवादी अहमद ओमर सइद शेख को बरी करने के खिलाफ की गई अपील को खारिज कर उसे रिहा करने     का ऑर्डर दिया. कोर्ट के इस निर्णय को पत्रकार के परिवार ने न्याय का उपहास बताया है. व्हाइट हाउस के प्रेस सेक्रेटरी ने कहा कि पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट द्वारा डेनियल पर्ल के हत्यारे को रिहा करने कि निर्णय की अमेरिका निंदा करता है.

    फहाद नसीम, शेख आदिल और सलमान साकिब को डेनियल पर्ल को अगवा करने और उनकी हत्या करने के जुर्म में सजा मिली थी. अमेरिका के विदेश मंत्री एंथनी ब्लिंकेन ने कहा है कि पाकिस्तान को हर कानूनी रास्ते की तलाश करनी चाहिए जिससे दोषी बचने ना पाएं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.