लाइव टीवी

अमेरिकी विशेषज्ञ का दावा, लश्कर के आतंकियों को ट्रेनिंग देती है ISI

भाषा
Updated: October 30, 2019, 4:54 PM IST
अमेरिकी विशेषज्ञ का दावा, लश्कर के आतंकियों को ट्रेनिंग देती है ISI
पाकिस्तान खुफिया एजेंसी ISI लश्कर के आतंकियों को ट्रेनिंग देती है: अमेरिकी विशेषज्ञ

अमेरिका (America) की एक सुरक्षा विशेषज्ञ ने दावा किया, पाकिस्तान सेना (Pakistan Army) लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) के सदस्यों को प्रशिक्षित करती है. इसी कारण वे इतने सक्षम हैं.

  • Share this:
वाशिंगटन. सुरक्षा मुद्दों पर एक प्रमुख अमेरिकी विशेषज्ञ ने कहा है कि आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा (Lashkar-e-Taiba) पाकिस्तान (Pakistan)) की जासूसी एजेंसी आईएसआई (ISI) का एक अच्छा मुखौटा है. जार्जटाउन यूनिवर्सिटी की क्रिस्टीन फेयर ने हडसन इंस्टीट्यूट थिंक-टैंक में एक गोलमेज सम्मेलन के दौरान कहा कि वास्तव में पाकिस्तान सेना लश्कर-ए-तैयबा के सदस्यों को प्रशिक्षित करती है. इसी कारण वे इतने सक्षम हैं.

क्रिस्टीन फेयर ने भारत के भीतर कुछ बड़े आतंकवादी हमलों के स्पष्ट संदर्भ में मंगलवार को यह बात कही. ‘इन देयर ऑन वडर्स: अंडरस्टैंडिंग लश्कर-ए-तैयबा’ नामक पुस्तक की लेखिका फेयर ने कहा, ‘कुछ मायनों में लश्कर को इस तरह से बनाया गया था. लश्कर एक अच्छा मुखौटा है. लश्कर उतना ही करीब है जितना आप को एक अच्छा मुखौटा चाहिए होता हैं.’

अनुच्छेद 370 का किया समर्थन
एक सवाल के जवाब में फेयर ने कहा कि उन्होंने भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 को हटाने के सरकार के फैसले का समर्थन किया है. उन्होंने कहा, ‘मैंने अनुच्छेद 370 से छुटकारा पाने का समर्थन किया, क्योंकि मैं एक संविधानवादी हूं और मुझे लगता है कि अनुच्छेद 370 एक अपमानजनक, भेदभावपूर्ण कानूनी शासन था.’

क्रिस्टीन फेयर ने कहा, ‘मैं समझती हूं कि सुरक्षा उपायों को अपनाया जाना जरूरी था. मेरा मानना है कि ऐसा करने के लिए कोई अन्य रास्ता नहीं था.’ उन्होंने कहा कि यदि भारतीय वार्ता प्रक्रिया के जरिए ऐसा करने का प्रयास करते थे तो पाकिस्तानी कभी भी ऐसा नहीं होने देते.

पाकिस्तान की चाल नहीं हुई कामयाब
पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे पर भारत के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय समर्थन जुटाने के असफल प्रयास किए थे. हालांकि भारत ने लगातार कहा है कि यह उसका आंतरिक मामला है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अमेरिका से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 30, 2019, 4:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...