लाइव टीवी

चीन का कोरोना वायरस पहुंचा अमेरिका, सामने आया पहला मरीज

News18Hindi
Updated: January 22, 2020, 8:16 AM IST
चीन का कोरोना वायरस पहुंचा अमेरिका, सामने आया पहला मरीज
कोरोना वायरस से चीन में अब तक 9 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 440 लोग इससे प्रभावित हैं.

कोरोना वायरस (Corona virus) के कारण चीन (China) में अब तक 9 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 440 लोग इससे प्रभावित हैं. यह वायरस चीन के वुहान (Wuhan) शहर से फैलता हुआ अब अमेरिका तक जा पहुंचा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 22, 2020, 8:16 AM IST
  • Share this:
वाशिंगटन. चीन (china) में अभी तेजी से कोरोना वायरस (Coronavirus) फैल रहा है, जिसके चलते वहां पर लोगों को सार्स नामक बीमारी हो रही है. कोरोना वायरस के कारण चीन में अब तक 9 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 440 लोग इससे प्रभावित हैं. यह वायरस चीन के वुहान (Wuhan) शहर से फैलता हुआ अब अमेरिका तक जा पहुंचा है. अमेरिकी स्वास्थ्य अधिकारियों ने मंगलवार को चीन में फैले नए वायरस के अपने यहां पहले मामले की जानकारी दी है. संघीय एवं राज्य अधिकारियों ने बताया कि पीड़ित की उम्र 30 से 35 साल की है और वह वुहान से अमेरिका (America) आया है. हालांकि वह वुहान के सीफूड बाजार में नहीं गया था जो कि वायरस संक्रमण का केंद्र बना हुआ है. उन्होंने बताया कि व्यक्ति गंभीर स्थिति में नहीं है, उसे एहतियातन अस्पताल में भर्ती किया गया है.

भारत में भी अलर्ट
इस वायरस के मद्देनजर भारत में भी केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की एडवाइजरी के बाद नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने सभी एयरपोर्ट्स को चीन से आने वाले यात्रियों की जांच करने के निर्देश दिए हैं. कोरोना वायरस की स्क्रीनिंग के लिए सभी एयरपोर्ट्स को तुरंत लॉजिस्टिक सपोर्ट की व्यवस्था करने को कहा गया है, जिन यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है उसमें हांगकांग से भारत पहुंचने वाले यात्री भी शामिल हैं.

ये है लक्षण कोरोना वायरस के

WHO के मुताबिक, कोरोना वायरस सी-फूड से जुड़ा है. कोरोना वायरस विषाणुओं के परिवार का है और इससे लोग बीमार पड़ रहे हैं. इस वायरस के कारण मरीजों में आमतौर पर जुखाम, खांसी, गले में दर्द, सांस लेने में दिक्कत, बुखार जैसे शुरुआती लक्षण देखे जाते हैं. इसके बाद ये लक्षण न्यूमोनिया में बदल जाते हैं और किडनी को नुकसान पहुंचाते हैं. अभी तक इस वायरस से निजात पाने के लिए कोई वैक्सीन नहीं बनी है.

क्या है सार्स?
डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, सार्स सांस की एक बीमारी है, जो कोरोना वायरस से होती है. कोरोना वायरस विषाणुओं के परिवार का है. यह वायरस ऊंट, बिल्ली या चमगादड़ सहित कई पशुओं में भी प्रवेश कर रहा है.ये भी पढ़ें: चीन में बढ़ा SARS वायरस का प्रकोप, भारत के बाद अमेरिका भी सतर्क

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दुनिया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 7:58 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर