अमेरिका ने कहा, तालिबानी कैदियों को जेल से रिहा कर हाउस अरेस्ट में रखा जाए

अमेरिका ने कहा, तालिबानी कैदियों को जेल से रिहा कर हाउस अरेस्ट में रखा जाए
तालिबानी कैदियों को रिहाकर हाउस अरेस्ट में रखा जाने का प्रस्ताव अमेरिका ने दिया (प्रतीकात्मक तस्वीर)

अमेरिका ने अफगानिस्तान सरकार (Afganistan Government) को यह प्रस्ताव दिया है कि जेल में बंद खूनी हमलों (Bloody Attack) के आरोपियों को तालिबानियों (Talibans) और सरकार की निगरानी में रखा जाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 1, 2020, 9:26 AM IST
  • Share this:
काबुल. संयुक्त राज्य अमेरिका ने प्रस्ताव (proposal from America) दिया है कि सैकड़ों तालिबान कैदियों (Talibani Prisnores) को एक निगरानी सुविधा में घर में गिरफ्तारी (House Arrest) के लिए स्थानांतरित किया जाना चाहिए. यह तब किया जाना जब उन्हें अफगान जेलों से रिहा किया जाए. अमेरिका ने अफगानिस्तान सरकार (Afganistan Government) को यह प्रस्ताव दिया है कि जेल में बंद खूनी हमलों (Bloody Attack) के आरोपियों को तालिबानियों (Talibans) और सरकार की निगरानी में रखा जाए. अमेरिका के तीन बड़े अधिकारियों ने कहा है कि यथास्थिति को तोड़ने और शांति वार्ता बहाल करने की दिशा में बढ़ने के लिए यह प्रस्ताव अफगानिस्तान सरकार ​को दिया जा रहा है.

हमले के आरोपी को सरकार के निगरानी में रखा गया

सूत्रों के अनुसार अफ़गानिस्तान में कुछ सबसे ख़तरनाक हमले करने के आरोपी तालिबान लड़ाकों को एक ऐसे स्थान पर रखा गया है, जहाँ वे दोनों तालिबान और अफ़ग़ान सरकार की निगरानी में होंगे. यह प्रस्ताव इस सप्ताह युद्धरत अफ़ग़ान पक्षों को अमेरिका के शीर्ष राजनयिकों द्वारा प्रस्तुत किया गया.



दोहा में शांति वार्ता बहाल करने की कोशिश
राजनयिक दोहा में शांति वार्ता को बहाल करने की कोशिश कर रहे हैं ताकि कैदी के मुद्दों पर हो रही देरी के मामले को आगे बढ़ाया जा सके. अफ़ग़ान सरकार करीब 5,000 कैदियों में से अंतिम बैच को मुक्त करने का विरोध कर रही है, जिसकी रिहाई विद्रोही समूह द्वारा शांति वार्ता शुरू करने की शर्त के रूप में की गई थी.

अभी भी हिरासत में हैं 400 कैदी

अमेरिकी विशेष दूत ज़ल्माय खलीलज़ाद ने तालिबान नेताओं और राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी को इस हफ्ते काबुल की यात्रा के दौरान गतिरोध तोड़ने के लिए दबाया है. लगभग 400 कैदी अभी भी सरकारी हिरासत में हैं. पश्चिमी सहयोगियों ने भी लगभग आधे लोगों को रिहा करने पर चिंता व्यक्त की है.

ये भी पढ़ें: बुरे दौर में अमेरिकी अर्थव्यवस्था: GDP में 33% की गिरावट, बेरोजारी बढ़कर 14.7 फीसदी हुई

COVID-19: ब्रिटिश-अमेरिकन कंपनी तंबाकू की पत्तियों से बना रही है वैक्सीन, ह्यूमन ट्रायल जल्द

अमेरिकी और उनके सहयोगी इस बात को लेकर सहमत हैं कि कुछ सबसे खूंखार तालिबान लड़ाकों को मुक्त करना पागलन होगा. काबुल में तैनात एक वरिष्ठ पश्चिमी राजनयिक ने कहा कि अफगान बलों ने उन्हें मानवता के खिलाफ कुछ सबसे जघन्य अपराधों के लिए गिरफ्तार किया है. खलीलज़ाद का कार्यालय प्रस्तावों पर टिप्पणी के लिए तुरंत उपलब्ध नहीं था. वहीं घानी के एक प्रवक्ता ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading