होम /न्यूज /दुनिया /

वेटिंलेटर से हटाए जाने के बाद सलमान रुश्दी का पहला रिएक्शन क्या था? जानें

वेटिंलेटर से हटाए जाने के बाद सलमान रुश्दी का पहला रिएक्शन क्या था? जानें

रिपोर्ट्स के मुताबिक वेटिंलेटर से हटाए जाने के बाद सलमान रुश्दी अब बात करने में सक्षम हैं. फोटोः AFP

रिपोर्ट्स के मुताबिक वेटिंलेटर से हटाए जाने के बाद सलमान रुश्दी अब बात करने में सक्षम हैं. फोटोः AFP

न्यूयॉर्क में एक भाषण के दौरान चाकू से हुए हमले में गंभीर रूप से घायल लेखक सलमान रुश्दी का वेंटिलेटर अब हटा दिया गया है. अब वे बातचीत करने के काबिल हो गए हैं. वेंटिलेटर हटने के बाद गंभीर रूप से घायल रुश्दी हंसी-मजाक के मूड में दिखे.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

वेंटिलेटर हटने के बाद गंभीर रूप से घायल रुश्दी हंसी-मजाक के मूड में दिखे
रुश्दी के मित्र लेखक आतिश तासीर ने एक ट्वीट करके बताई ये बात
गंभीर रूप से घायल रुश्दी दुखी नहीं दिखे

न्यूयॉर्क. न्यूयॉर्क में एक भाषण के दौरान चाकू से हुए हमले में गंभीर रूप से घायल लेखक सलमान रुश्दी का वेंटिलेटर अब हटा दिया गया है. अब वे बातचीत करने के काबिल हो गए हैं. वेंटिलेटर हटने के बाद गंभीर रूप से घायल रुश्दी हंसी-मजाक के मूड में दिखे. ‘द सैटेनिक वर्सेज’ के लेखक सलमान रुश्दी का वेंटिलेटर जब हटाया गया तो उन्होंने अपने करीबी दोस्तों से बात की. गंभीर रूप से घायल रुश्दी इस दौरान दुखी नहीं दिखे और हंसी-मजाक करके अपना दिल बहलाया.

रुश्दी के मित्र लेखक आतिश तासीर ने एक ट्वीट करके बताया कि उनका ‘वेंटिलेटर हटा दिया गया है और वे बातचीत और मजाक कर रहे थे. रुश्दी के एजेंट एंड्रयू वायली ने इस बारे में ज्यादा जानकारी दिए बिना इसकी पुष्टि की है. जबकि लेखक सलमान रुश्दी पर हमला करने के लिए हत्या के प्रयास और हमले के आरोपी न्यू जर्सी के 24 वर्षीय हादी मतार ने अपना दोष स्वीकार नहीं किया है. हादी मतार को शनिवार को अदालत में पेश किया गया और जमानत दिए बगैर चौटाउक्वा काउंटी जेल में रिमांड पर लिया गया.

वेंटिलेटर से हटाए गए रुश्दी, कर सकते हैं बात, हमलावर ने नहीं माना अपराध

जबकि चौटाउक्वा काउंटी के कार्यकारी पॉल वेंडेल ने एक बयान में कहा कि चौटाउक्वा काउंटी के सभी निवासियों की ओर से वह रुश्दी के परिवार और दोस्तों को अपनी शुभकामनाएं और प्रार्थनाएं भेज रहे हैं. चौटाउक्वा इंस्टीट्यूशन के छोटे शांत समुदाय को हिंसा की इस घटना ने हिला दिया है. उन्होंने कहा कि यह निराशाजनक है कि हम एक ऐसे समाज में रहते हैं, जहां हम दूसरों के मतभेदों को नहीं सुन सकते हैं. जबकि खासकर ये संस्थान ऐसी जगह है, जहां दुनिया भर के विचारक और समस्याओं का हल पेश करने वाली अपनी बात शेयर करने आते हैं. गौरतलब है कि चौटाऊक्वा इंस्टीट्यूशन ने पहले भी सुरक्षा के लिए लोगों के बैग को चेक करने और मेटल डिटेक्टर सहित कई उपायों को लागू करने से मना कर दिया था.

Tags: America, Salman Rushdie

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर