सऊदी के प्रिंस सलमान की सफाई- खशोगी की हत्या का मैंने नहीं दिया था आदेश

सऊदी के प्रिंस सलमान की सफाई- खशोगी की हत्या का मैंने नहीं दिया था आदेश
सऊदी के प्रिंस ने खशोगी की हत्या का आदेश देने के आरोप से किया इनकार

द वाशिंगटन पोस्ट ने जब सऊदी प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान (Prince Mohammed bin Salman से पूछा कि क्या आपने खशोगी (Khashoggi) की हत्या का आदेश दिया था, तो उन्होंने कहा, ‘बिल्कुल नहीं.’ उन्होंने कहा कि खशोगी हत्या ‘एक गलती’ थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 30, 2019, 6:36 PM IST
  • Share this:
न्यूयॉर्क. सऊदी अरब के वली अहद मोहम्मद बिन सलमान (Prince Mohammed bin Salman) ने एक टेलीविजन साक्षात्कार में कहा कि वह पत्रकार जमाल खशोगी (Journalist Jamal Khashoggi) की निर्मम हत्या की पूरी जिम्मेदारी लेते हैं, लेकिन इस बात से इनकार किया कि उन्होंने इस हत्या के आदेश दिए थे.

मोहम्मद बिन सलमान (Mohammed bin Salman) ने रविवार को प्रसारित हुए ‘60 मिनट’ के एक इंटरव्यू में कहा, ‘यह जघन्य अपराध था लेकिन सऊदी अरब (Saudi Arab) का नेता होने के नाते मैं पूरी जिम्मेदारी लेता हूं. खासतौर से इस बात की कि सऊदी अरब सरकार के लिए काम करने वाले लोगों ने इसे अंजाम दिया.’

द वाशिंगटन पोस्ट ने जब सऊदी प्रिंस से पूछा कि क्या आपने खशोगी की हत्या का आदेश दिया था, तो उन्होंने कहा, ‘बिल्कुल नहीं.’ उन्होंने कहा कि खशोगी हत्या ‘एक गलती’ थी. मोहम्मबद बिन सलमान ने साक्षात्कार में कहा, ‘कुछ लोग सोचते हैं कि मुझे यह पता होना चाहिए कि सऊदी अरब के लिए काम करने वाले 30 लाख लोग रोजाना क्या कर रहे हैं.’



इस हत्या के पीछे का मकसद क्या था?
उन्होंने कहा, ‘यह असंभव है कि 30 लाख लोग नेता और सऊदी अरब में दूसरे शीर्ष व्यक्ति को अपनी दैनिक रिपोर्ट भेजे. न्यूयॉर्क में गुरुवार को एक साक्षात्कार में खशोगी की मंगेतर हैटिस सेंगिज ने द एसोसिएटेड प्रेस से कहा कि खशोगी की हत्या की जिम्मेदारी केवल उसे अंजाम देने वाले लोगों की नहीं है और वह चाहती है कि प्रिंस मोहम्मद बताए कि जमाल को क्यों मारा गया? उनका शव कहां है? इस हत्या के पीछे का मकसद क्या था?’

2018 में खशोगी की कर दी थी हत्या
गौरतलब है कि खशोगी तुर्की मूल की अपनी मंगेतर से शादी करने के लिए जरूरी दस्तावेज एकत्रित करने के लिए दो अक्टूबर 2018 को तुर्की में सऊदी वाणिज्य दूतावास गए थे. सऊदी सरकार के एजेंटों ने वाणिज्य दूतावास के भीतर खशोगी की हत्या कर दी थी और उनके शव को क्षत-विक्षत कर दिया जो कभी बरामद नहीं किया गया. सऊदी अरब ने हत्या मामले में 11 लोगों पर आरोप लगाया और उन पर मुकदमा चलाया. हालांकि अभी तक किसी को भी सजा नहीं मिली है.

प्रिंस ने तेल कंपनियों पर मिसाइल हमले पर भी बात की
उन्होंने इस साक्षात्कार में 14 सितंबर को सऊदी अरब की तेल कंपनियों पर मिसाइल तथा ड्रोन हमले पर भी बात की. यमन के ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है लेकिन सऊदी अरब ने कहा कि ‘‘इसमें कोई शक नहीं है कि यह ईरान प्रायोजित हमला था.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज